scorecardresearch
 

Surya Rashi Parivartan December 2021: इस तारीख को सूर्य कर रहे राशि परिर्वतन, ये 4 राशि वाले रहें सावधान

Surya Rashi Parivartan 2021: सूर्य देव को राशि परिर्वतन में लगभग एक महीने का समय लगता है.सूर्य की आत्मा अग्नि तत्व राशियों में उच्च होती है और जलीय राशियों में कम रहती है. सूर्य अभी वृश्चिक राशि में हैं, जो मंगल ग्रह द्वारा शासित जल की राशि है. वहीं सूर्य का गोचर अग्नि राशि धनु में हो रहा है. इस गोचर के दौरान अतीत के सभी प्रयासों को सफलता और मान्यता भी हासिल होगी.

X
Surya Rashi Parivartan 2021 Surya Rashi Parivartan 2021
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अग्नि राशि धनु में हो रहा सूर्य का गोचर
  • सूर्य के धनु में जाने से बन रहा बुधादित्य योग

Surya Rashi Parivartan  2021 Date Time: सूर्य देव 16 दिसंबर 2021 को सुबह 3 बजकर 28 मिनट पर वृश्‍चिक राशि से निकलकर धनु राशि में गोचर करेंगे. इस राशि में सूर्य देव 14 जनवरी 2022 दोपहर 2 बजकर 29 मिनट तक रहेंगे. सूर्य के धनु में जाने से बुधादित्य योग बनेगा, जो कुछ राशियों के लिए शुभ है, लेकिन 4 राशियों के जीवन में सूर्य देव की चाल में हो रहा परिवर्तन उथल पुथल मचाएगा. इन राशि के जातकों को इस अवधि के दौरान सावधान रहने की सलाह दी गई है. आइये बताते हैं इन राशियों के बारे में...

1. मिथुन (Gemini): इस राशि के जातकों के लिए सूर्य तीसरे भाव का स्वामी है, जो सप्तम भाव में रहेगा. इस गोचर काल में आप ऊर्जा से भरे रहेंगे, लेकिन कभी-कभी आपका क्रोध आप पर हावी रहेगा.  इससे आपके बनते हुए काम प्रभावित हो सकते हैं. आप अपने सेंस ऑफ ह्यूमर से दूसरों को प्रभावित करने में कामयाब होंगे. हालांकि दांपत्य जीवन अच्छा बीतेगा, लेकिन किसी ख़ास व्यक्ति के साथ आपका कुछ वाद-विवाद हो सकता है, जिससे आपको बचने की सलाह दी जाती है. 

2. कन्या (Virgo): कन्या राशि के जातकों के लिए 12वें भाव का स्वामी सूर्य चतुर्थ भाव में रहेगा. इस गोचर के दौरान आप अप्रत्याशित घटनाओं से घिरे रह सकते हैं. आप कभी-कभी हद से ज्यादा भावुक और आसानी से नाराज भी हो सकते हैं. बहुत अधिक मानसिक तनाव ले सकते हैं, जिसके लिए आपको खुद को शांत करने के लिए ध्यान को अपनी जीवनशैली में शामिल करने की सलाह दी जाती है. इस दौरान आपकी मां के साथ आपका वाद-विवाद भी हो सकता है, लेकिन आपको इससे बचने की सलाह दी जाती है. 

3. वृश्चिक (Scorpio): वृश्चिक राशि के जातकों के लिए दशम भाव का स्वामी सूर्य द्वितीय भाव में विराजमान रहेगा. आप अपने पेशे से अच्छी आय अर्जित करने में भी सफल होंगे, लेकिन आप कोई गलत रास्ता अपना सकते हैं. इससे आपको बचने की सलाह दी जाती है. हालांकि सरकारी नीतियों से आपको लाभ मिलेगा और आपको पैतृक संपत्ति से भी लाभ मिलने की संभावना है. 

4. मकर (Capricorn): मकर राशि के जातकों के लिए अष्टम भाव का स्वामी सूर्य बारहवें भाव में गोचर करेगा. इस गोचर अवधि के दौरान आपका खर्च आपकी आय से अधिक होगा, क्योंकि आपको अपने स्वास्थ्य पर थोड़ा ज्यादा खर्च करना पड़ सकता है. आप इस समय अपना पैसा दान में देने का भी इरादा कर सकते हैं. इस समय आपका धार्मिक गतिविधियों के प्रति रुझान बढ़ेगा और इस मोर्चे पर भी खुलकर आप अपना पैसा खर्च करेंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें