scorecardresearch
 

UP: 'अग्निवीरों' को फायदे गिना रही है पुलिस, अग्निपथ स्कीम को लेकर गांव-गांव चौपाल

Agnipath Scheme: उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी अग्निवीरों को समझाने की बीड़ा उठा लिया है. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पुलिसकर्मी कल (रविवार) से चौपाल लगाकर अग्निपथ योजना के लाभ बता रहे हैं.

X
गांव के लोगों के साथ चौपाल करते पुलिस के अधिकारी गांव के लोगों के साथ चौपाल करते पुलिस के अधिकारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उत्तर प्रदेश के कई जिलों में चौपाल
  • पुलिसकर्मी बता रहे हैं अग्निपथ स्कीम के फायदे

उत्तर प्रदेश समेत देश में हिंसा के बीच अग्निवीरों को लेकर सरकार समझाने के मिशन में लगी है. भर्ती की तैयारी हो रही है, लेकिन नौजवान मान नहीं रहे और इन सबके बीच उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी अग्निवीरों को समझाने की बीड़ा उठा लिया है. उत्तर प्रदेश के कई जिलों में पुलिसकर्मी कल (रविवार) से चौपाल लगाकर अग्निपथ योजना के लाभ बता रहे हैं.

अग्निवीर और अग्निपथ योजना को लेकर उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पूरा जिला प्रशासन युवाओं को समझाने में लग गया है. जगह-जगह एसडीएम, सीओ, तहसीलदार, कोतवाल और अधिकारी चौपाल लगा रहे हैं. डीएम-एसएसपी भी सड़कों पर है. सेना में भर्ती होने के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों से कहा जा रहा है कि अग्निपथ एक सुनहरे भविष्य का पथ है.

बुलंदशहर के जिलाधिकारी सीपी सिंह और एसएसपी श्लोक कुमार पिछले दो-तीन दिन से लगातार युवाओं के पास जाकर उन्हें समझा रहे हैं कि अग्निपथ स्कीम से उनका भविष्य उज्जवल होगा. साथ ही वह एक्स आर्मी मैन की भी मीटिंग बुलाकर उन्हें समझा रहे हैं और कह रहे हैं कि अपने बच्चों को अग्निपथ की अच्छाई के बारे में बताएं.

इसके साथ ही बुलदंशहर में कल तहसील स्तर और गांव स्तर पर चौपाल लगी, जिसमें एसडीएम और सीओ समेत पूरे प्रशासनिक अमले ने युवाओं को बताया कि अग्निपथ योजना, अग्निवीरों के लिए बनी है, यदि वह अपना भविष्य सेना में तलाश रहे हैं तो उनका भविष्य बहुत ही इस योजना के माध्यम से बेहतर और उज्जवल होगा.

अब अग्निपथ योजना के जरिए ही तीनों सेनाओं में भर्ती

सरकार और सेना अग्निपथ स्कीम को लेकर अटल है. सेना ने इस पर आगे बढ़ने का ऐलान कर दिया है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी दो बार समीक्षा बैठक की. कुछ रियायतों का भी ऐलान किया गया लेकिन सरकार ने साफ कर दिया की स्कीम लागू होकर रहेगी. यही नहीं आगे से सेना में भर्ती इसी योजना के तहत होगी.

पहले बैच में 46 अग्निवीरों की होगी भर्ती

सेना ने लगे हाथ हिंसा करने वालों को चेताया कि उनके लिए सेना के दरवाजे हमेशा के लिए बंद होंगे क्योंकि भर्ती के लिए सबको एफिडेविट देना होगा कि वो किसी विरोध प्रदर्शन में शामिल नहीं थे. पहले बैच मे 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती होगी. बाद के सालों में इसमें बढ़ोतरी होगी. तीनों सेनाओं में भर्ती की नोटिफिकेशन तारीखों तक का ऐलान कर दिया गया है.

तीनों सेनाएं जल्द जारी करेंगी नोटिफिकेशन

वायुसेना 24 जून, नौसेना 25 जून और थल सेना 1 जुलाई को नोटिफिकेशन जारी कर देगी. इसके बाद चयन का प्रोसेस जारी हो जाएगा. इस बीच अग्निपथ स्कीम को लेकर फेक न्यूज फैलाने वाले कई वॉट्सऐप ग्रुप पर गाज गिरी. अब तक 35 वॉट्स एप ग्रुप को बैन कर दिया गया है. बिहार से लेकर देश के कुछ दूसरे राज्यों में कोचिंग सेंटरों से जुडे लोग पकड़े गए हैं.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें