scorecardresearch
 

UP: पशुओं को आवारा छोड़ देने वालों पर दर्ज होगा केस..., बोले कैबिनेट मंत्री

उत्तर प्रदेश के पशुपालन व दुग्ध विकास मंत्री (Uttar Pradesh Animal Husbandry and Milk Development Minister) धर्मपाल सिंह ने कहा कि दूध देना बंद होने के बाद पशुओं को छोड़ देने वालों पर अब कानूनी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में पशुओं को छोड़ने की एक परंपरा सी बन गई है. इसे कानून से खत्म किया जाएगा. उन्होंने कहा कि प्रत्येक गोशाला में दुधारू गायों की व्यवस्था की जा रही है.

X
उत्तर प्रदेश के पशुपालन व दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह. उत्तर प्रदेश के पशुपालन व दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कब्जा मुक्त करवाई जाएंगी गौशाला की जमीनें
  • मंत्री बोले: वक्फ की जमीनों की भी करवाई जाएगी जांच

यूपी सरकार के पशुपालन व दुग्ध विकास मंत्री (Uttar Pradesh Animal Husbandry and Milk Development Minister) धर्मपाल सिंह दो दिवसीय दौरे पर बांदा पहुंचे. मंत्री ने पशुओं को छोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है. उन्होंने कहा कि छुट्टा पशुओं की समस्या एक अहम मुद्दा है जिसको सीएम योगी ने गंभीरता से लिया है. मंत्री ने कहा कि विपक्ष छुट्टा पशु कहकर संबोधित करता है, हम निराश्रित गोवंश कहते हैं. उन्होंने कहा कि जैसे लोगों को रोटी कपड़ा और मकान की आवश्यकता है, वैसे ही पशुओं को भूसा, चारा और पानी की जरूरत होती है. हर गौशाला में दूध देने वाली गायों की व्यवस्था की जा रही है.

कैबिनेट मंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड में पशु छोड़ने की एक परंपरा सी बन गई है जिसे कानून बनाकर दूर करेंगे. यहां किसान और गोपालकों को पहले समझाएंगे, नहीं मानने पर कानूनी कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा कि कई पशु पालक या किसान जब तक गाय दूध देती है, तब तक पालते हैं. दूध देना बंद कर देती है तो छोड़ देते हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ थाने में पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज करवाया जाएगा. इसमें जुर्माना और सजा का प्रावधान होगा. इस समस्या को कानून बनाकर समाप्त करने का निर्णय लिया गया है.

UP Sarkar Scheme For Farmers: यूपी के किसानों और पशुपालकों के लिए खुशखबरी! गाय-भैंस का गोबर खरीदेगी योगी सरकार

पशुपालन व दुग्ध विकास मंत्री धर्मपाल सिंह ने कहा कि दुग्ध उत्पादन में प्रदेश पहले नंबर पर है. ऑस्ट्रेलिया व अन्य देशों में भारत की देशी गायों की डिमांड है, हम इन्हें बढ़ावा देंगे. गौशालाओं में दूध देने वाली गायें रखी जाएंगी और समाज के लोगों के साथ मिलकर व्यवस्थाएं की जाएंगी. लोग भूसा दान कर रहे हैं. गौशाला की जमीनें कब्जा मुक्त करवाकर उनमें चारे की बुवाई की जाएगी. मंत्री ने कहा कि वक्फ की जमीन की जांच करवाई जाएगी. अगर अवैध निर्माण पाया जाएगा तो उसे खाली करवाकर उसमें अस्पताल, आईटीआई, मदरसा बनवाए जाएंगे, जिसमें उर्दू के साथ गणित, हिंदी, अंग्रेजी आदि पढ़ाई जाएगी. इससे आधुनिकीकरण को बढ़ावा मिलेगा.

'हमारा विभाग बगैर जुबानों का विभाग'

मंत्री ने कहा कि हमारा विभाग बेजुबानों के लिए है. सरकार एक योजना लांच कर रही है, जिसमें 1962 डायल करते ही मोबाइल वैन आ जाएगी, जिसमें एक डॉक्टर, एक कंपाउंडर, एक ड्राइवर रहेगा. फोन करने के बाद टीम एक घंटे के अंदर पहुंचकर पशुओं का इलाज करेगी. उन्होंने कहा कि हम बधियाकरण को बढ़ावा देंगे. अब ऐसा सीमन आ गया है, जिसमें बछिया ही पैदा होगी, इससे आवारा पशुओं की समस्या हल होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें