scorecardresearch
 

पीएम मोदी देंगे वाराणसी को नाइट बाजार की सौगात, बढ़ेगी काशी की रौनक और मिलेगा रोजगार

सुबह-ए-बनारस के लिए मशहूर काशी में रात भी अब और रौशन होगी. महादेव की नगरी काशी की रौनक़ और बढ़ने वाली है. अब काशी में नए प्रयोग के तहत फ़्लाईओवर के नीचे की जमीन पर बाजार लगेगा. इस बाजार में घरेलू सामान, सजावटी वस्तुएं, बनारस की ख़ास चीजें और खाने-पीने की दुकानें भी होंगी.

X
प्रधानमंत्री अपने दौरे में काशी को देंगे नाइट बाजार की सौगात प्रधानमंत्री अपने दौरे में काशी को देंगे नाइट बाजार की सौगात
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम नरेंद्र मोदी 7 जुलाई को करेंगे उद्घाटन
  • फ्लाईओवर के नीचे की जमीन पर लगेगा बाजार
  • अर्बन प्लेस मेकिंग से काशी को मिलेगा नया रूप

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 जुलाई को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर रहेंगे. पीएम मोदी काशी की जनता को हर बार कुछ न कुछ तोहफा जरूर देकर जाते हैं. इसी क्रम में इस बार पीएम काशी को नाइट बाजार की सौगात देंगे. यह बाजार लहरतारा-चौकाघाट फ्लाईओवर के नीचे 1.9 किलोमीटर में लगेगा. इस बाजार में घरेलू सामान, सजावटी वस्तुएं, बनारस की ख़ास चीजें और खाने-पीने की दुकानें होंगी. जगमगाती हुई एक लाइन से ये दुकानें काशी में पर्यटकों को आकर्षित करेंगी.

प्रधानमंत्री की इस सौगात से सुबह-ए-बनारस के लिए मशहूर काशी में रात भी अब और रोशन होगी. अक्सर शहरों-कस्बों में पुल के नीचे हाट-बाजार को देखा जाता रहा है. नई और आधुनिक काशी की परिकल्पना के साथ इसे भी अब शामिल कर लिया गया है. वाराणसी कैंट रेलवे स्टेशन से बाहर निकलते ही आपको काशी में प्रवेश का आभास होगा. फ्लाईओवर की दीवारों पर काशी की संस्कृति, कला और काशी की विभूतियों की वॉल पेंटिंग (wall painting) दिखेगी.

काशी में चौकाघाट से लहरतारा तक फ्लाईओवर के नीचे अनुपयोगी पड़ी जमीन को नाइट बाजार के लिए चुना गया है. वाराणसी स्मार्ट सिटी का यह प्रयोग है, जिसमें अब लहरतारा-चौकाघाट फ्लाईओवर के नीचे 1.9 किलोमीटर में बाजार सजेगा. इसका उद्घाटन काशी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 जुलाई के अपने दौरे में करने वाले हैं. इस बाजार में काशी की कला और संस्कृति दिखेगी.

वाराणसी स्मार्ट सिटी (varanasi smart city) की इस परियोजना में इस बात का ध्यान रखा गया है कि अपने खान-पान और ख़ास तौर पर स्ट्रीट फूड के लिए मशहूर बनारस के जायक़ों और मिठाइयों का अलग स्वाद भी लोगों को मिले. इनमें अलग-अलग दुकानें होंगी. इस नाइट बाज़ार की ख़ास बात ये है कि इससे ट्रैफ़िक भी व्यवस्थित रहेगा. सुविधा के लिए यहां जेब्रा क्रॉसिंग, ट्रैफिक साइनेज, मीडियन यू-टर्न, पिक-अप और ड्रॉपिंग के लिए निर्धारित स्थान, ई रिक्शा चार्जिंग पॉइंट आदि की सुविधा होगी.

नाइट बाजार के दुकानों के आवंटन में इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि सबकी जरूरतों का ध्यान रखकर दुकाने हों. योगी सरकार ने इसके लिए अर्बन प्लेस मेकिंग का काम कराया है. इससे फ्लाईओवर के नीचे खाली पड़ी जगह अतिक्रमण का शिकार नहीं होगी. इस नाइट बाजार के दोनों ओर सुरक्षा के लिए रेलिंग, पेडेस्ट्रियन क्रॉसिंग व अन्य संसाधन विकसित हुए हैं. पर्यटकों के लिए इन्फॉर्मेशन कियोस्क भी होगा.

काशी में रोजगार देने के लिए तो पीएम नरेंद्र मोदी कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करेंगे. लेकिन ये योजना ख़ास इसलिए है क्योंकि इससे बनारस के लोकल व्यवसायियों और छोटे दुकानदारों को मौका मिलेगा. बनारस की जीआई टैग (GI tagged) चीजों का बाजार भी इसमें लगाया जा सकेगा. इससे इन चीजों को पर्यटक भी खरीद सकेंगे. नाइट बाजार के इस परियोजना में फ्लाईओवर के नीचे सेल्फी पंइट, फाउंटन और पाथ वे भी बनाया गया है. इसके अलावा इंग्लिशिया लाइन के पास से लहरतारा की तरफ जाने वाले मार्ग पर दुकानें, फूड कोर्ट, ओपन कैफे होंगे. 

वाराणसी स्मार्ट सिटी के मुख्य महाप्रबंधक डॉ. डी वासुदेवन ने बताया कि लहरतारा-चौकाघाट फ्लाईओवर के नीचे जन सुविधा के लिए जो निर्माण है उनकी लागत करीब 10 करोड़ है. कैंट रेलवे स्टेशन और रोडवेज बस स्टेशन दोनों यहां होने से यातायात का दबाव अधिक रहता है. ट्रैफिक के सुगम संचालन और प्रबंधन के लिए निर्धारित ट्रैफिक सर्कुलेशन की स्कीम बनाई गई है.

दादी सुनाएंगी लोरियां, पोते की गूंजेगी किलकारियां
पीएम मोदी 7 जुलाई को दुर्गा कुंड में बने थीम पार्क (राजकीय व्रत एवं अशक्त महिला तथा शिशु ग्रह) का भी लोकार्पण करेंगे. इसमें दादी (निराश्रित माताएं) की लोरियां और पोतों की किलकारियां गूंजेगी. इसको लेकर यहां की दादी मां बहुत खुश हैं और इंतजार कर रही है कि कब यहां बच्चे आए और वह उन्हें लोरियां सुनाएं. दादी मां ने कहा कि वह बच्चो को अच्छे संस्कार देंगी, जिससे वह कभी अपने बड़ों को ऐसे न छोड़े कि उन्हें भी वृद्ध आश्रम रहना पड़े. वह भी बच्चों के साथ खेलेंगी और उनका भी मनोरंजन होगा.

थीम पार्क के अधीक्षक देव शरण सिंह ने बताया, थीम पार्क में बच्चों और वृद्ध महिलाओं के लिए अनेक सुविधाएं होंगी. यहां प्रार्थना कक्ष, गतिविधि कक्ष, टीवी रूम, डायनिंग हॉल, वेटिंग हॉल, डॉरमेट्री प्रशासनिक कक्ष, मेडिकल चेकअप रूम, वार्डन रूम, किचन आदि होंगे. यहां कुल 19 कमरों में 55 लोगों के रहने की व्यवस्था है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें