scorecardresearch
 

अदिति सिंह ने पूछा- मंथन करे पार्टी, जितिन प्रसाद जैसे बड़े नेता क्यों छोड़ रहे कांग्रेस?

गांधी परिवार के दुर्ग माने जाने वाले रायबरेली से पार्टी की बागी विधायक अदिति सिंह ने कहा कि जितिन प्रसाद का पार्टी को छोड़कर जाना एक बड़ी क्षति है. ऐसे में अब तो पार्टी को आत्ममंथन करना चाहिए कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद जैसे युवा नेता क्यों पार्टी छोड़कर जा रहे हैं.

कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जितिन प्रसाद ने बीजेपी का दामन थामा
  • अदिति सिंह ने बताया पार्टी को बड़ा झटका
  • रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद ने कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी का दामन थाम लिया है. गांधी परिवार के दुर्ग माने जाने वाले रायबरेली से पार्टी की बागी विधायक अदिति सिंह ने कहा कि जितिन प्रसाद का पार्टी को छोड़कर जाना एक बड़ी क्षति है. ऐसे में अब तो पार्टी को आत्ममंथन करना चाहिए कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद जैसे युवा नेता क्यों पार्टी छोड़कर जा रहे हैं. इतना ही नहीं उन्होंने कांग्रेस को एक परिवार की पार्टी बनती जा रही है. 

साल 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर रायबरेली के सदर सीट से जीतीं अदिति सिंह काफी समय से बागी रुख अपनाए हुए हैं. ऐसे वो वक्त बे वक्त कांग्रेस और गांधी परिवार पर हमला करने का मौका नहीं छोड़ती हैं. हालांकि, पार्टी ने अदिति सिंह को कांग्रेस से निलंबित भी कर रखा है. अदिति सिंह ने कहा कि जितिन प्रसाद और सिंधिया जैसे युवा नेताओं के बीजेपी में जाने के बाद यह तो तय हो गया है कि कांग्रेस एक परिवार की पार्टी बनती जा रही है. 

अदिति सिंह ने कहा कि कांग्रेस को सोचना चाहिए आखिर क्यों वरिष्ठ नेता एक के बाद एक पार्टी छोड़ते जा रहे हैं. ये नेता युवा हैं और लोगों को अपने साथ जोड़ने की ताकत रखते हैं. ऐसे में कांग्रेस को आत्ममंथन करने की जरूरत हैं कि क्यों लोग छोड़कर जा रहे हैं. संगठन और प्रदेश के अच्छे-अच्छे नेता हम खोते जा रहे हैं. निजी तौर पर हम जितिन प्रसाद को जानती हूं वो एक बेहतरीन नेता हैं. 

उन्होंने कहा कि बीजेपी में जितिन प्रसाद का भविष्य काफी उज्ज्वल होगा. वो जहां भी रहेंगे बेहतर ही रहेंगे. जितिन प्रसाद पढ़े लिखे और समझदार नेता हैं. इतनी कम उम्र में उन्होंने मंत्रालय संभाला और वो मंजे हुए राजनेता हैं. ऐसे में कांग्रेस को काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा. 

अदिति सिंह ने गांधी परिवार को राय देते हुए कहा कि मंथन करें कि आखिर बड़े नेता पार्टी क्यों छोड़ रहे हैं. पार्टी में कहां पर गड़बड़ी हो रही है और कौन लोग है सही सलाह पार्टी को नहीं दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की सियासत में जमीन पर कांग्रेस को काम करने की जरूरत है. हालांकि अदिति सिंह ने कहा कि वो राहुल और प्रियंका गांधी पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगी, लेकिन उन्हें खुद देखने चाहिए कि पार्टी में आखिर क्या वजह है कि लोग पार्टी छोड़ रहे हैं. 

 बता दें कि रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह को कांग्रेस ने निलंबित कर रखा है. उनकी सदस्यता समाप्त करने के लिए कांग्रेस ने उनकी विधानसभा से सदस्यता तक समाप्त करने का प्रयास किया, लेकिन असफल रही. कांग्रेस से विधायक रहे बाहुबली स्वर्गीय अखिलेश सिंह की बेटी अदिति सिंह हैं. 2017 में अदिति सिंह कांग्रेस के टिकट पर सपा के समर्थन से जीतकर विधानसभा पहुंची है, लेकिन 2019 के बाद से बागी रुख अपना रखा है. माना जा रहा है कि 2022 का चुनाव वो बीजेपी के टिकट पर लड़ सकती हैं. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें