scorecardresearch
 

झारखंडः गोड्डा से कांग्रेस के विधायक साइकिल से कर रहे जागरूक, बढ़ा वैक्सीनेशन का ग्राफ

गोड्डा में वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत ही धीमी है. नकारात्मक विचारों के चलते लोग कोरोना का टीका लगाने से बच रहे हैं. जिला प्रशासन और सरकारी अमला भी काफी प्रयास कर रहा है, लेकिन यह प्रयास काफी नाकाफी साबित हो रहा है.

गांव-गांव में वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को जागरुक कर रहे विधायक प्रदीप यादव गांव-गांव में वैक्सीनेशन को लेकर लोगों को जागरुक कर रहे विधायक प्रदीप यादव
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विधायक की बातों पर ही भरोसा कर टीका लगवायाः ग्रामीण
  • पोड़ैयाहाट के विधायक चला रहे अभियान

झारखंड के विधानसभा में लगातार पांचवीं बार पहुंचने वाले दो-दो बार मंत्री और सांसद रह चुके  गोड्डा के एक विधायक साइकिल से गांव-गांव घूमकर कोरोना वैक्सीन लेने के लिए ग्रामीणों को  प्रेरित कर रहे हैं. विधायक के इस डोर टू डोर अभियान से वैक्सीनेशन की रफ्तार भी बढ़ने लगी है.

गोड्डा में वैक्सीनेशन की रफ्तार बहुत ही धीमी है. नकारात्मक विचारों के चलते लोग कोरोना का टीका लगाने से बच रहे हैं. जिला प्रशासन और सरकारी अमला भी काफी प्रयास कर रहा है लेकिन यह प्रयास काफी नाकाफी साबित हो रहा है. इस बीच पोड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव ने एक अनूठा प्रयोग गांव-गांव तक पहुंचने का किया है. 

विधायक प्रदीप रोजाना साइकिल चलाकर गांव तक जाते हैं और वहां लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित करते हैं. पिछले 2 माह से पोड़ैयाहाट के कांग्रेसी विधायक ने गोड्डा, दुमका, देवघर जैसे कई जिलों में साइकिल का अपना सफर तय किया है. विधायक ने मंगलवार को भी गोड्डा  जिले के पोड़ैयाहाट प्रखंड के बोहरा गांव में एक मेगा स्वास्थ्य कैंप का आयोजन करवाया था.

हालांकि इसमें स्वास्थ्य विभाग की पूरी टीम थी, लेकिन गोड्डा से बोहरा गांव तक तकरीबन 16 किलोमीटर तक विधायक साइकिल से पहुंचे. रास्ते में पड़ने वाले सभी गांवों में लोगों से मिलते-जुलते और वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित किया. उनके इसी परिश्रम का नतीजा यह रहा कि जिन तकरीबन आठ से 9 पंचायतों में जहां वैक्सीनेशन का ग्राफ काफी कम था. वहां मात्र कुछ घंटों में 1,085 लोगों ने कोरोना का टीका ले लिया.

इसे भी क्लिक करें ---  बीजेपी नेता की बेटी के साथ हैवानियत, पहले बलात्कार फिर आंख निकाल पेड़ से लटकाया शव

यह पूछे जाने पर कि आपने जागरूकता अभियान के लिए साइकिल को ही क्यों चुना, विधायक प्रदीप इसका बहुत ही दिलचस्प उत्तर देते हैं. उनके मुताबिक साइकिल से ग्रामीणों के बीच जाना उनको एक अपनापन का एहसास कराता है. दूसरे इससे कई लोग उनके साथ हो जाते हैं और जो काम प्रशासनिक हलकों के बड़े-बड़े माइक और चोंगे नहीं कर पाते वह एक महज साइकिल कर देता है.

आज से तकरीबन 2 माह पूर्व कोरोना वैक्सीन को लेकर गांवों में काफी नकारात्मक विचार फैला हुआ था और लोगों का मानना था कि वैक्सीन लेते ही मौत हो जाती है. प्रशासन के तमाम प्रयास विफल साबित हो रहे थे. लोगों को वैक्सीन के लिए तैयार करना एक टेढ़ी खीर साबित हो रही थी. वैसे में विधायक प्रदीप यादव ने साइकिल के इस अभिनव प्रयोग से लोगों के बीच एक अलग जगाने का भी काम किया है.

क्या कहते हैं गांव वाले
विधायक प्रदीप यादव के बचपन के साथी अजीत बताते हैं कि विधायक को शुरू से खेल कूद और स्पोर्ट्स में रुचि रही है, उनके इसी गुण के चलते वह सभी उम्र के लोगों खासकर युवाओं में अपनी एक अच्छी पैठ बना लेते हैं . प्रदीप का साइकिल का सफर लोगों को वैक्सीन लेने के लिए काफी प्रेरित कर रहा है.

सरवा गांव के करीब 50 वर्षीय जयकांत यादव को वैक्सीन के मामले में सरकार पर भरोसा नहीं था. उन्होंने सिर्फ अपने विधायक की बातों पर ही भरोसा कर कोरोना टीका लगवाया है.

(गोड्डा से संतोष भगत के इनपुट के साथ)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें