scorecardresearch
 

जितिन प्रसाद पर भिड़े, सिब्बल बोले- क्या प्रसाद मिलेगा? BJP नेता ने कहा- कांग्रेस में कितने आदमी बचे हैं?

यूपीए सरकार में मंत्री रहे जितिन प्रसाद ने अब कांग्रेस पार्टी का साथ छोड़ दिया है और बुधवार को नई दिल्ली में वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. अब जितिन प्रसाद की बीजेपी में एंट्री के बाद सोशल मीडिया पर दोनों पार्टियों के नेताओं में बयानबाजी का दौर चल पड़ा है. 

भाजपा के हुए जितिन प्रसाद (फोटो: PTI) भाजपा के हुए जितिन प्रसाद (फोटो: PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भाजपा में शामिल हुए जितिन प्रसाद
  • ट्विटर पर बीजेपी-कांग्रेस आमने-सामने

उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक हलचल बढ़ने लगी है. यूपीए सरकार में मंत्री रहे जितिन प्रसाद ने अब कांग्रेस पार्टी का साथ छोड़ दिया है और बुधवार को नई दिल्ली में वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. बीते कुछ वक्त में कांग्रेस के कई नेता इसी तरह बीजेपी का हिस्सा बने हैं. अब जितिन प्रसाद की बीजेपी में एंट्री के बाद सोशल मीडिया पर दोनों पार्टियों के नेताओं में बयानबाजी का दौर चल पड़ा है. 

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने इस मसले पर ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि अब जितिन प्रसाद ने बीजेपी ज्वाइन कर ली है. सवाल है कि क्या उन्हें बीजेपी से प्रसाद मिलेगा या वो सिर्फ यूपी इलेक्शन के लिए ही एक पकड़ साबित होंगे. इस तरह की डील में अगर विचारधारा मायने नहीं रखती, तो बदलाव आसान हैं. 


कांग्रेस से इतर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की ओर से भी तंज का सिलसिला शुरू किया गया. बीजेपी के नेता सीटी रवि ने बुधवार को ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने तंज कसा कि कांग्रेस में कितने आदमी बचे हैं? जवाब में लिखा कि तीन आदमी सरकार. सीटी रवि ने इसी के साथ राहुल, सोनिया, प्रियंका की तस्वीर भी साझा की.


यूपी चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका?
यूं तो कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश में मजबूत स्थिति में नहीं है, लेकिन प्रियंका गांधी वाड्रा की ओर से लगातार पार्टी संगठन को खड़ा करने का काम किया जा रहा है. ऐसे वक्त में जितिन प्रसाद का बीजेपी में जाना कांग्रेस के लिए झटका साबित हो सकता है. क्योंकि जितिन प्रसाद लंबे वक्त से कांग्रेस के साथ रहे हैं, मंत्री भी रह चुके हैं. हालांकि, पिछले तीन चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा है. 

बीजेपी में शामिल होते हुए जितिन प्रसाद ने बीते दिन बयान दिया कि ये फैसला उनके लिए आसान नहीं था, लेकिन जनसेवा और देशहित के लिए बीजेपी में आना सही है. क्योंकि देश में बीजेपी ही अब एक राष्ट्रीय पार्टी बची है. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें