scorecardresearch
 

सीधी बात: शाह बोले- हमारा बस चलता तो अब तक मंदिर बन गया होता

सीधी बात में विभिन्न मुद्दों पर अमित शाह ने अपनी बेबाक राय रखी. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों पर उन्होंने कहा कि हम हर चुनाव को गंभीरता से लेते हैं.

X
सीधी बात में अमित शाह सीधी बात में अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि अगर हमारे बस में होता तो अब तक राम मंदिर बन चुका होता. उन्होंने यह बात आजतक के सीधी बात कार्यक्रम में कही.

सीधी बात में विभिन्न मुद्दों पर अमित शाह ने अपनी बेबाक राय रखी. मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनावों पर उन्होंने कहा कि हम हर चुनाव को गंभीरता से लेते हैं. चूंकि ये तीनों राज्य संगठनात्मक स्तर पर बहुत अच्छे राज्य हैं. यहां सबसे पहले भारतीय जनसंघ पला बढ़ा है और भारतीय जनता पार्टी भी बड़ी मजबूती से आगे बढ़ी. राजस्थान में 10 और बाकी दो राज्यों में हमारी 15-15 साल सरकार रही है. हम तीनों राज्यों में गंभीरता से चुनाव लड़ रहे हैं.

उन्होंने कहा, 'हम मध्य प्रदेश में अच्छे बहुमत से जीतेंगे. छत्तीसगढ़ में 50-55 सीटे जीतेंगे. इन तीनों राज्यों में एंटी इनकम्बेंसी पर कहा कि सत्ता विरोधी लहर वहां होती है जहां सरकार की योजनाओं से लाभान्वित होने के बजाय नाराज होने वालों की संख्या ज्यादा होती  हैं. यहां प्रो-एंटी इन्कम्बेंसी है.

उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर का मुद्दा रणनीतिक नहीं है. ये केस नौ सालों से चल रहा है. हमने कभी नहीं कहा कि केस को टालो. हम सभी चाहते हैं केस सेटल हो जाए. कांग्रेस ने हमेशा मामले को टालने को कहा. हमारा बस चलता तो अब तक केस सेटल हो गया होता. अब तक मंदिर बन गया होता. आदेश नहीं तो अध्यादेश, इस सवाल पर अमित शाह ने कहा कि अभी हम जनवरी की राह देखेंगे.

सीबीआई में कोई दखल नहीं

राजस्थान चुनाव पर उन्होंने कहा कि इसे लेकर हम जरा भी चिंतित नहीं हैं. सीबीआई में विवाद के मुद्दे पर बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कि इसमें सरकार ने कोई दखल नहीं दिया है. दो अधिकारियों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए हैं. इसकी जांच के लिए मामले को सीवीसी को भेज दिया है. इसमें सरकार का कोई दखल नहीं है.

आरबीआई अपना काम कर रहा है

इसी तरह केंद्र सरकार और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के बीच विवाद पर अमित शाह ने कहा कि इस मामले में भी सरकार ने कोई दखल नहीं है. हमारा काम सरकार चलाना है, आरबीआई गवर्नर काम रिजर्व बैंक चलाना है. सरकार ने इसमें को दखल नहीं दिया है. यह लोकतांत्रिक प्रक्रिया है.

बीजेपी में वंशवाद पर ये बोले

अमित शाह ने बीजेपी में वंशवाद की बात से इंकार किया. जब उनसे पूछा गया कि मध्य प्रदेश में 30 ऐसी सीटें हैं जहां नेताओं के रिश्तेदार चुनाव लड़ रहे हैं. इस पर बीजेपी अध्यक्ष ने वंशवाद को परिभाषित करते हुए कहा कि कोई नेता यदि राजनीति छोड़ देता है और अगर उसके परिवार का सदस्य चुनाव लड़ता है तो वह वंशवाद नहीं होता है.

अमित शाह ने राफेल सौदे पर कहा कि इसमें एक फूटी कौड़ी का घोटाला नहीं हुआ है. कांग्रेस बड़ी चालाकी से इस मामले को उछाल रही है. सवाल है कि आपके (राहुल गांधी) पास सूचनाएं कहां से आती हैं. आपकी सूचनाएं कितनी अहम हैं. 36 के 36 विमान फ्रांस से बनकर आने थे. राफेल की तत्काल जरूरत है. सारे विमान फ्रांस से आने हैं. कांग्रेस ने जबरन इस मामले को उछाला है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें