scorecardresearch
 

सीधी बात: धर्मेंद्र प्रधान बोले- कांग्रेस ने राफेल नहीं, ट्रक का खाली चेसिस खरीदा था

धर्मेंद्र प्रधान ने सीधी बात में कहा कि कांग्रेस को संसद में पहुंचाने वाले रायबरेली की स्थित देखिए, कैसे लोग वहां रहने को मजबूर हैं. विकास और रोजगार के मामले में या फिर किसी अन्य विषय पर लिटमस टेस्ट करके देख लीजिए पता चल जाएगा इन्होंने क्या किया है. ये घड़ियाली आंसू बहाने वाले ढोंगी लोग हैं.

X
धर्मेंद्र प्रधान (तस्वीर- PTI) धर्मेंद्र प्रधान (तस्वीर- PTI)

'आजतक' के खास कार्यक्रम 'सीधी बात' में केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि चार पीढ़ी देश पर शासन करने वाले ये लोग घड़ियाली आंसू बहाने वाले ढोंगी लोग हैं. साथ ही उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए कहा कि कई बार तो पंचायत में पंच भी उनसे अच्छी भाषा का प्रयोग करते हुए भाषण दे जाते हैं.

चुनाव के समय तेल की कीमतों के कम होने की बात पर 'सीधी बात' में प्रधान ने कहा कि तेल की कीमतें अंतरराष्ट्रीय बाजार पर निर्भर करती हैं. पिछले दिनों में बाजार की स्थिति के कारण हमें तेल की बढ़ी हुई कीमतों का सामना करना पड़ा. ईरान-अमेरिका विवाद के कारण भी तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई. लेकिन आज दाम नियंत्रण में हैं.

'अच्छी नीति के कारण विकसित देश भी हमारी ताकत समझ रहे'

इस बीच भारत ने तेल उत्पादकों को समझाने में कामयाबी हासिल की है. यही कारण है कि भारत जैसे कंज्यूमिंग देशों की ताकत विकसित देश भी समझने लगे हैं. यह भारत सरकार की सही नीति का ही नतीजा है कि भारतीय मुद्रा डॉलर के मुकाबले मजबूत स्थिति में पहुंच रहा है.

एक्साइज ड्यूटी में बढ़ोतरी पर उन्होंने कहा कि कई राज्य सरकारों ने इसमें कमी की है. हमने तेल से होने वाली कमाई को लोक-कल्याणकारी योजनाओं के लिए इस्तेमाल किया. पीएम मोदी के नेतृत्व में हमने गरीबों, पिछड़ों और किसानों के हित में काम किया, उनके लिए कई योजनाओं को लागू किया. हमरी सरकार को सत्ता में आने पर महंगाई डबल डिजिट में मिली थी, जिसे कम किया. हमारी सरकार के शुरू होते ही दाल के दाम ट्रिपल डिजिट में थे जो अभी नियंत्रण में हैं.

अमेरिका ने कहा है कि भारत-ईरान के साथ तेल व्यापार के मामले में एक विशेष प्रकार की छूट मिलेगी. यह जनता की ताकत और पीएम मोदी की नीति के कारण ही संभव हो सका. ट्रंप के गणतंत्र दिवस पर न आने के सवाल पर प्रधान ने कहा कि कुछ लोगों को फोबिया हो गया है. वो किसी भी बात को बतंगड़ बनाकर पेश करने के आदि हो चुके हैं. उनका स्वभाव ऐसा ही बन चुका है उन्हें उनके हाल पर छोड़ देना चाहिए.

क्या जीएसटी के दायरे में आएंगे तेल उत्पाद?

क्या जीएसटी के दायरे में पेट्रोल डीजल आ पाएगा, इस सवाल के जवाब में प्रधान ने कहा कि राज्यों को कुछ विषयों पर स्वायत्तता दी गई है, दिल्ली (केंद्र) उनके सभी कामों में दखल नहीं दे सकता. अगर दोनों के बीच दो तिहाई सहमती बनती है तो ही लागू हो पाएगा. केवल पेट्रोलियम प्रोडक्ट नहीं बल्कि सभी उत्पादित वस्तुओं पर सहमती के साथ ही लागू हो पाएगा. जनता जानती है कि मोदी सरकार उनके लिए काम कर रही है.

तेल की बढ़ती कीमतों पर उन्होंने कहा कि भारत पहला देश है जिसने 175 गीगावॉट वैकल्पिक ईंधन का लक्ष्य रखा है जिसमें 100 गीगावॉट तैयार भी कर लिया गया है. पीएम मोदी ओडिशा के पुरी से चुनाव लड़ सकते हैं क्या, इसके जवाब में प्रधान ने कहा कि पीएम देश में कहीं से चुनाव लड़ सकते हैं. उनका कद और बीजेपी का ग्राफ पूरे देश में सबसे तेजी से आगे बढा है. यह इसलिए हुआ है क्योंकि देश को पीएम मोदी पर भरोसा है.

ओडिशा में होगा सत्ता परिवर्तन

ओडिशा की अपनी एक सीमा है. इस बार यह स्पष्ट है कि ओडिशा में सत्ता परिवर्तन होगा. तो क्या जीत मिलने पर आप (प्रधान) ओडिशा के मुख्यमंत्री बनेंगे, इसके जवाब में उन्होंने कहा कि मैं ऐसा नहीं मानता. हमारा पूरा फोकस बीजेपी पर लोगों के भरोसे को वोट में बदलने पर है.

'नायडू की राजनीति से एनटीआर को दुख होता'

आन्ध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू की राजनीति देखकर आज अगर किसी को सबसे ज्यादा कष्ट हो रहा होगा तो वो एनटीआर को हो रहा होगा, जिनके नाम पर नायडू ने राजनीति की. एनटीआर का स्वाभिमान और टीडीपी का उत्थान कांग्रेस के खिलाफ हुआ था. कांग्रेस ने एनटीआर को धक्का मारकर बाहर निकाला था जिसके बाद टीडीपी बनी. 80 के दशक में देश में गैर कांग्रेसी राजनीति की शुरुआत तभी से हुई थी. इतना सबकुछ होने के बावजूद भी अगर नायडू ने कांग्रेस से हाथ मिलाया तो उनकी राजनीति उनको मुबारक हो.

आगामी राज्य विधानसभा चुनावों पर उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव, दोनों के मुद्दे अलग हैं. लेकिन दोनों को देश की राजनीति प्रभावित करेगी. कांग्रेस पर हमला बोलते हुए प्रधान ने कहा कि आज की राजनीति क्या है, जिस प्रकार देश में लोग पीढ़ी दर पीढ़ी इस देश पर शासन करने के बाद आज नाकारात्मक राजनीति को फैलाने की कोशिश कर रहे हैं, उनकी नकारात्मकता का जनता के सामने खुलासा करने काम करना है. चाहे राज्य के चुनाव हों या फिर केंद्र के चुनाव हों, दोबारा उनके खिलाफ जनादेश आएगा.

मध्य प्रदेश में राजा, महाराजा और उद्योगपति को क्रांग्रेस की कमान

क्या मध्य प्रदेश में चुनाव चुनौतिपूर्ण होंगे, इस पर प्रधान ने कहा कि चुनाव कोई भी हो चुनौतिपूर्ण ही होते हैं. हम किसी भी चुनाव को हल्के में नहीं लेते हैं. मध्य प्रदेश में जनसंघ के जमाने से लोगों का बीजेपी पर बरकरार है, हम इस भरोसे को दोबारा हासिल करेंगे.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में तीन बड़े चेहरे एक राजा, दूसरा महाराजा और तीसरा उद्योगपति को मैदान में उतारा है. क्या ये लोग जनता की चिंता करेंगे, इन्ही के खानदान ने लंबे समय तक वहां शासन किया. लेकिन उनमें से ही एक नेता कह रहे हैं कि मेरा चेहरा मत लगाओ क्योंकि चेहरा लगाने से वोट घट जाएगा. जनता को इतने लंबे समय तक बेवकूफ नहीं बना सकते.

'पंच भी राहुल से अच्छी भाषा बोल लेते हैं'

राहुल गांधी पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एक बड़ी पार्टी के अध्यक्ष हैं, लेकिन कई बार तो पंचायत में पंच भी उनसे अच्छी भाषा का प्रयोग करते हुए भाषण दे जाते हैं. प्रतिद्वंदियों का विरोध करना चाहिए मुझे इससे कोई आपत्ति नहीं है, तथ्य आधारित चुनौती भी देनी चाहिए.

'राहुल को कागज में लिखकर जो पकड़ा दो वो बोल जाते हैं'

राफेल पर उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस के पास सस्ती डील थी तो फिर उसे अमल में क्यों नहीं लाया गया. दरअसल, कांग्रेस ने राफेल नहीं ट्रक का खाली चेचिस (ढांचा) खरीदा था. मोदी जी उसमें से एक अत्याधुनिक ट्रांस्पोर्टेशन व्हीकल लेकर आए. राहुल पर चुटकी लेते हुए कहा कि जिनका सामान्य ज्ञान कमजोर है, जिन्हें जो लिखकर हाथ में पकड़ा दो वो बोल जाते हैं, कनेक्ट नहीं कर पाते हैं. उनकी क्या बात करें. देश की जनता उनकी गुमराह करने की चाल को समझ चुकी है.

लोकसभा चुनाव आकांक्षाओं पर लड़ा जाएगा

राम मंदिर पर उन्होंने कहा कि यह मुद्दा एक अलग विषय है. राम सामाजिक आस्था के विषय हैं, लेकिन राम मंदिर बने या न बने, यह मामला कोर्ट में है, अगर इस पर बयानबाजी होती है तो भाजपा कैसे जिम्मेदार हो गई. आने वाले लोकसभा चुनाव मंदिर नहीं देश की आकांक्षाओं पर लड़ा जाएगा.

'कांग्रेस में घड़ियाली आंसू बहाने वाले ढोंगी लोग'

कांग्रेस को संसद में पहुंचाने वाले रायबरेली की स्थित देखिए, कैसे लोग वहां रहने को मजबूर हैं. विकास और रोजगार के मामले में या फिर किसी अन्य विषय पर लिटमस टेस्ट कर के देख लीजिए पता चल जाएगा इन्होंने क्या किया है. ये घड़ियाली आंसू बहाने वाले ढोंगी लोग हैं. हमने 59 मिनट में एक करोड़ रुपये का लोन देने का काम शुरू किया है.

'3 राज्यों में सरकार बनेगी, एक में निर्णायक भूमिका में रहेगी BJP'

देश में तकनीकी क्रांति हो रही है, इंडस्ट्रियल रिवोल्यून 4.1 पर आ चुका है. पुराने तरीके के काम बंद हो रहे हैं और नए तरीके आ रहे हैं. आज 15 करोड़ लोगों को मुद्रा योजना में जोड़ा जा चुका है, अर्थात सीधे-सीधे 15 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी सरकार बनाएगी और तेलंगाना में निर्णायक स्थिति में रहेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें