scorecardresearch
 

बीजेपी का मिशन-2024: 144 लोकसभा सीटों पर जीत के लिए बनाया खास प्लान

बीजेपी ने 2024 के लोकसभा चुनावों की अभी से तैयारी शुरू कर दी है. उसने चुनाव में बाजी मारने के लिए एक खास रणनीति बनाई है. बीजेपी का इस बार 144 सीटों पर खासा ध्यान रहेगा. दरअसल इन सीटों पर बीजेपी पिछले चुनाव में दूसरे या तीसरे नंबर पर रही थी. इनमें से 45 फीसदी सीटें ऐसी हैं, जहां बीजेपी को 50 हजार से भी कम वोटों के अंतर से हार का सामना करना पड़ा था.

X
बीजेपी 144 सीटों में से 45% पर 50 हजार से भी कम वोटों के अंतर से हारी थी (फाइल फोटो)
बीजेपी 144 सीटों में से 45% पर 50 हजार से भी कम वोटों के अंतर से हारी थी (फाइल फोटो)

बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मिशन-2024 का खाका तैयार कर लिया है. रणनीति के तहत बीजेपी इस बार उन 144 सीटों पर ज्यादा ताकत झोंकेगी, जहां पिछले चुनाव में वह दूसरे या तीसरे नंबर पर थी. पार्टी ने अपने सभी मंत्रियों को इन सीटों की जिम्मेदारी सौंप दी है. ध्यान हो कि पिछली समीक्षा बैठक में गृह मंत्री अमित शाह ने कई मंत्रियों को इन सीटों का दौरा न करने के लिए लताड़ा था. बीजेपी इन सीटों को अगले चुनाव में जीतना चाहती है ताकि मौजूदा सीटों पर नुकसान की भरपाई हो सके. 

तीसरे चरण में पीएम मोदी की विशाल रैलियां कराने का फैसला किया गया है. पिछले लोकसभा चुनाव में हारी हुई सीटों में से 40 सीटों पर पीएम मोदी की मेगा रैलियां करेंगे. बीजेपी बाकी 104 सीटों पर अमित शाह, जेपी नड्डा और राजनाथ सिंह समेत कई वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री इन सीटों पर रैली करेंगे और समय-समय पर दौरे भी करेंगे. इन सीटों में सोनिया गांधी की रायबरेली, मुलायम सिंह यादव की मैनपुरी, सुप्रिया सुले की बारामती, नकुल नाथ की छिंदवाड़ा जैसी सीटें शामिल हैं. 

क्षेत्रों के मुद्दों की जानकारी जुटाने को बनाई समिति

जानकारी के मुताबिक बीजेपी 104 सीटों में से करीब 45% सीटों पर 50 हजर से भी कम वोटों के अंतर से हारी थी. इन सीटों को जीतने की रणनीति बनाने के लिए बीजेपी आलाकमान ने एक समिति भी बनाई है, जो इन सीटों से जुड़े मुद्दों, समस्याओं, लाभार्थियों आदि की विस्तृत जानकारी जुटा रही है ताकि प्रचार में इनका इस्तेमाल हो सके.

छह राज्यों में बीजेपी के कब्जे में सभी सीटें

बीजेपी ने राजस्थान की सभी 25 सीटें, गुजरात की सभी 26 सीटें, हिमाचल की सभी 4 सीटें, हरियाणा की सभी 10 सीटें, उत्तराखंड की सभी 5 सीटें और दिल्ली की सभी 7 सीटें जीती हैं जबकि एमपी की 29 सीटों में से 28 और कर्नाटक की 28 सीटों में से 26 पर बीजेपी का कब्जा है. बीजेपी के सूत्रों को लगता हैं कि इनमें से कई राज्यों में उसे अगले चुनाव में नुकसान का अंदेशा इसलिए उसने इसकी भरपाई के लिए 144 हारी हुई सीटों पर अपनी पकड़ को मजबूत करने की रणनीति बनाई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें