scorecardresearch
 

अब विंडशील्ड में दरार, मुंबई में Spicejet के प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग, 17 दिन में तकनीकी खराबी की 7वीं घटना

आज स्पाइसजेट की 2 फ्लाइट्स में तकनीकी परेशानी आने के बाद उनकी इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी. पहली घटना दिल्ली से दुबई जा रही फ्लाइट में हुई. जिसके बाद उसे कराची में लैंड कराना पड़ा. दूसरी घटना कांडला-मुंबई फ्लाइट में सामने आई, जिसके बाद फ्लाइट मुंबई में लैंड कराई गई.

X
जब प्लेन की विंडशील्ड में दरारें आईं विमान 23 हजार फीट की ऊंचाई पर था. जब प्लेन की विंडशील्ड में दरारें आईं विमान 23 हजार फीट की ऊंचाई पर था.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विंडशील्ड में दरार के वक्त 23 हजार फीट की ऊंचाई पर था प्लेन
  • आज ही एक फ्लाइट को कराची में लैंड कराना पड़ा

स्पाइसजेट (SpiceJet) की एक फ्लाइट को अचानक मुंबई में लैंड कराना पड़ा. डीजीसीए के मुताबिक स्पाइसजेट के क्यू-400 विमान में 23 हजार फीट ऊंचाई पर विंडशील्ड में दरार आ गई थी. इसके बाद तत्काल कांडला-मुंबई फ्लाइट को मुंबई एयरपोर्ट पर लैंड कराने का निर्णय लिया गया.

डीजीसीए के अधिकारियों ने एजेंसी को बताया कि 23 हजार फीट की ऊंचाई पर विंडशील्ड का बाहरी हिस्सा टूट गया था, जिसके बाद विमान को मुबई में लैंड करा दिया गया. घटना पर स्पाइसजेट का बयान भी आ गया है. कंपनी ने कहा कि एयरक्राफ्ट को सुरक्षित मुंबई में लैंड करा लिया गया.

पिछले 17 दिनों में स्पाइसजेट के विमान में तकनीकी खराबी की यह सातवीं घटना है. इससे पहले मंगलवार को ही स्पाइसजेट की एक फ्लाइट को कराची में लैंड कराना पड़ा था. डीजीसीए के मुताबिक अधिकारियों ने मंगलवार को हुई दोनों घटनाओं की जांच शुरू कर दी है. इसके अलावा पिछली पांच घटनाओं की जांच भी की जा रही है. 

मंगलवार को दिन के समय ही स्पाइसजेट (SpiceJet) की एक फ्लाइट में दिक्कत सामने आई थी. जिसके बाद उचानक उसे कराची एयरपोर्ट पर लैंड करना पड़ा था. फ्लाइट नंबर SG-11 दिल्ली से दुबई जा रही थी. लेकिन खराबी की वजह से इसको पाकिस्तान की तरफ मोड़ना पड़ा. बताया गया कि प्लेन की इंडिकेटर लाइट में कुछ दिक्कत आई थी. इस प्लेन में सवार यात्रियों को दुबई पहुंचाने के लिए एक प्लेन वहां पहुंच चुका है.

सुबह हुई घटना पर DGCA का बयान भी आया था. बताया गया कि स्पाइसजेट विमान के क्रू ने देखा कि फ्यूल टैंक का इंडिकेटर फ्यूल की मात्रा को तेजी से घटता दिखा रहा था. इसके बाद चेकिंग में कुछ गड़बड़ नहीं मिली, टैंक में भी कहीं से कोई लीक नहीं दिखा. लेकिन इंडिकेटर फिर भी ईंधन कम दिखा रहा था. इसलिए प्लेन को कराची में लैंड कराया गया.

इसी महीने 2 जुलाई को भी स्पाइसजेट के प्लेन में दिक्कत आई थी. तब दिल्ली से जबलपुर जा रहे विमान की इमरजेंसी लैंडिंग हुई थी. तब कैबिन में धुआं उठता देखा गया था. स्पाइसजेट के प्रवक्ता की ओर से जानकारी दी गई है कि फ्लाइट के टेक ऑफ करने के बाद जब विमान 5 हजार फीट की ऊंचाई पर पहुंचा तो पायलट के केबिन में धुआं देखा गया. 

इसके बाद विमान को वापस दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड कराया गया.पिछले महीने 19 जून को भी स्पाइसजेट के विमान में खराबी आई थी. यह विमान भी दिल्ली से जबलपुर जा रहा था. इसके केबिन प्रेशर को लेकर दिक्कत आ गई थी. इसके चलते विमान को वापस दिल्ली लाया गया था. इसी दिन स्पाइसजेट के एक और विमान में खराबी आई थी. यह प्लेन पटना से दिल्ली आई रहा था. इसमें विंग में आग लग गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें