scorecardresearch
 

उत्तर प्रदेशः हेट स्पीच के आरोप में PFI का लीगल इंचार्ज गिरफ्तार, खुद को बताया SDPI का कार्यकर्ता

मोहम्मद दिलशाद नाम के आरोपी शख्स को लखनऊ पुलिस ने कृष्णा नगर से गिरफ्तार किया है. दिलशाद पीएफआई का लीगल इंचार्ज है और व्हाट्सएप और टि्वटर के जरिए सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट और उस पर टिप्पणी कर रहा था.

X
भड़काऊ पोस्ट के आरोप में गिरफ्तार हुआ दिलशाद भड़काऊ पोस्ट के आरोप में गिरफ्तार हुआ दिलशाद
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मोहम्मद दिलशाद पीएफआई का लीगल इंचार्ज
  • खुद को एसडीपीआई का सक्रिय सदस्य बताया
  • सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट कर रहा था दिलशाद

उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस ने पीएफआई और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (एसडीपीआई) के उत्तर प्रदेश के लीगल इंचार्ज को गिरफ्तार कर लिया है जो सोशल मीडिया के जरिए समाज में नफरत फैलाने का काम करता था. साथ ही सोशल मीडिया पर भड़काऊ चीजें भी पोस्ट किया करता था. 

मोहम्मद दिलशाद नाम के आरोपी शख्स को लखनऊ पुलिस ने कृष्णा नगर से गिरफ्तार किया है. दिलशाद पीएफआई का लीगल इंचार्ज है और व्हाट्सएप और टि्वटर के जरिए सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट और उस पर टिप्पणी कर रहा था. पुलिस ने दिलशाद को बुधवार देर रात गिरफ्तार किया था.

एसडीपीआई का सक्रिय सदस्य 
पुलिस को पूछताछ में मोहम्मद दिलशाद ने बताया कि वह पीएफआई का लीगल इंचार्ज है और राजनीतिक पार्टी एसडीपीआई का सक्रिय सदस्य भी है.

इसे भी पढ़ें --- सिंधिया को बीजेपी में लाने का इनाम? जफर इस्लाम को यूपी से राज्यसभा का टिकट

मोहम्मद दिलशाद की गिरफ्तारी पर लखनऊ कमिश्नर सुजीत पांडे ने बताया कि वह बीएससी पास है, लेकिन अभी कुछ कर नहीं रहा था. उन्होंने कहा कि अभियुक्त मोहम्मद दिलशाद संगठन की नीतियों का प्रचार प्रसार करता था और अधिक से अधिक युवाओं को संगठन में जोड़ने का काम करता था. उसे कृष्णा नगर पुलिस ने इसलिए गिरफ्तार किया है क्योंकि व्हाट्सएप पर लगातार भड़काऊ भाषण दे रहा था. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें