scorecardresearch
 

Maharashtra Crisis: 56 लाख के कमरे, इतने का ही खाना-पीना... गुवाहाटी के होटल में ऐसे रह रहे शिवसेना के बागी

महाराष्ट्र के बागी मंत्री एकनाथ शिंदे अपने समर्थक विधायकों के साथ फिलहाल गुवाहाटी में मौजूद हैं. यहां ये लोग Radisson Blu होटल में रुके हैं. होटल के कुल 70 कमरे इन लोगों के लिए बुक हैं.

X
महाराष्ट्र के बागी विधायक गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में रुके हैं महाराष्ट्र के बागी विधायक गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में रुके हैं
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बागी विधायक गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में रुके हैं
  • यहां विधायकों का कुल बिल 1.12 करोड़ के करीब होगा

महाराष्ट्र के बागी विधायक इस वक्त असम में रुके हुए हैं. यहां उनका ठिकाना गुवाहाटी का Radisson Blu होटल है. इस बड़े होटल में रुकने के लिए ये बागी विधायक कुल कितना रुपया खर्च कर रहे हैं, इसको लेकर चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया है. पता चला है कि फिलहाल कमरे सात दिन के लिए बुक किये गए हैं, जिनपर कुल खर्च 1.12 करोड़ रुपये के करीब है.

आजतक को मिली जानकारी के मुताबिक, एकनाथ शिंदे और बाकी बागी विधायकों के लिए गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में कुल 70 कमरे बुक किये गए हैं. ये कमरे कुल सात दिन के लिए बुक हुए हैं. इस बुकिंग के लिए कुल 56 लाख रुपये खर्च हुए हैं.

लाइव अपडेट्स के लिए क्लिक करें

इसके अलावा खाने और बाकी सर्विसों पर रोज के 8 लाख रुपये खर्च हो रहे हैं. सात दिन के हिसाब से यह भी 56 लाख रुपये बैठता है. इस तरह बुकिंग और खाने-पीने का खर्च मिलाकर खर्च राशि 1.12 करोड़ रुपये बैठती है.

एकनाथ शिंदे के साथ कितने विधायक?

गुवाहाटी के रेडिसन ब्लू होटल में एकनाथ शिंदे के साथ कुल कितने विधायक और बाकी लोग हैं इसकी ठीक-ठीक संख्या तो अबतक नहीं आई है. लेकिन यह बात साफ है कि बागी विधायकों का गुट लगातार मजबूत हो रहा है.

शिंदे कैंप में दो निर्दलीय विधायक और शामिल हो गये हैं. इस तरह शिव सेना के 37 विधायकों को मिलाकर कुल 46 विधायकों का समर्थन एकनाथ शिंदे को मिल चुका है. अब तीन विधायकों के और जुड़ने की खबर आ रही है. होटल में विधायकों के साथ कुछ सांसद, नेताओं के परिवार के सदस्य भी मौजूद बताये गए हैं.

बता दें कि उद्धव सरकार ने कल सुबह थोड़ी नरमी दिखाई और बागी विधायकों से महाराष्ट्र आकर बातचीत करने को कहा था. संजय राउत ने यह तक कह दिया कि अगर पार्टी के विधायक यही चाहेंगे कि MVA से अलग हुआ जाए तो ऐसा ही किया जाएगा, लेकिन यह बात विधायकों को मुंबई आकर सीएम उद्धव के सामने कहनी होगी. लेकिन शाम तक उद्धव सरकार एक्शन मोड में आ गई.

उद्धव की तरफ से डिप्टी स्पीकर को पत्र लिखा गया. इसमें शिंदे समेत कुल 12 विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग हुई. इसके बाद शिंदे गुट भी एक्टिव हो गया. शिंदे गुट ने दावा किया कि विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे हैं क्योंकि उनके पास शिवसेना के 37 से ज्यादा विधायकों का समर्थन है.

इसके बाद रात होते-होते शरद पवार का भी बयान आया गया. शरद पवार ने बागी विधायकों को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी. पवार ने यह भी कहा था कि MVA सरकार को बचाने की हरसंभव कोशिश की जाएगी. इस बीच आज संजय राउत पवार से मिलने जाएंगे.

एकनाथ शिंदे से सुबह आजतक ने भी बात की थी. इसमें शिंदे ने कहा था कि उनके साथ बहुमत है और उद्धव उनको सिर्फ डराने का काम कर रहे हैं. इसपर पलटवार करते हुए संजय राउत ने कहा था कि संख्या बल कागज में ज़्यादा हो सकती है लेकिन अब यह लड़ाई क़ानूनी लड़ाई होगी.

शिवसेना में भगदड़ की आशंका

शिवसेना के मुंबई महानगरपालिका के पार्षदों में भी भगदड़ की आशंका है. नगर पार्षद शिंदे गुट का दामन थाम सकते हैं. उन्हें रोकने के लिए शिवसेना ने शाम 7 बजे शिवसेना भवन में इमरजेंसी बैठक बुलाई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें