scorecardresearch
 

ग्रीन एनर्जी कैसे बनेगी पेट्रोल-डीजल का विकल्प, Nitin Gadkari ने बताई फ्यूचर प्लानिंग

सड़क से जुड़े 2300 करोड़ के प्रोजेक्ट के शुभारंभ पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि अब बायोएथेनॉल से चलने वाली गाड़ियों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए. हमें इलेक्ट्रिक, बायो गैस, बायो डीजल, ग्रीन हाईड्रोजन, बायो मिथेनॉल जैसे गैर पारम्परिक स्त्रोतों से संचालित वाहनों के बारे में सोचना चाहिए. इसका इस्तेमाल करने से जहां हमें ऊर्जा का सस्ता स्रोत मिलेगा, वहीं पर्यावरण में भी सुधार होगा.

X
नितिन गडकरी (File Photo) नितिन गडकरी (File Photo)

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने मध्यप्रदेश के इंदौर पहुंचकर 2300 करोड़ रुपए की पांच सड़क परियोजना का शुभारंभ किया. इस दौरान गडकरी ने कहा कि हमें पर्यावरण सुधार की तरफ विशेष ध्यान देने की जरूरत है. प्रदूषण से मुक्ति के लिए गाड़ियों में ईंधन की जगह एथेन (एथेनॉल) और गैर पारंपरिक चीजों का इस्तेमाल करना चाहिए.

गडकरी ने आगे कहा कि अब बायोएथेनॉल से चलने वाली गाड़ियों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए. केंद्रीय मंत्री ने इस मामले में इंदौर की तारीफ की. उन्होंने कहा कि इंदौर में एशिया का सबसे बड़ा सीएनजी प्लांट है और यहां की बसों का संचालन उसी गैस से किया जा रहा है. इससे ना केवल डीजल-पेट्रोल की बचत हो रही है, बल्कि पर्यावरण को भी नुकसान होने से बचाया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि गैर पारंपरिक ईंधन का इस्तेमाल करने से जहां हमें ऊर्जा का सस्ता स्रोत मिलेगा. वहीं, पर्यावरण सुधरेगा और यात्रियों की भी कम किराया देना होगा. इसके लिए इलेक्ट्रिक, बायो गैस, बायो डीजल, ग्रीन हाईड्रोजन, बायो मिथेनॉल जैसे गैर पारम्परिक स्त्रोतों से संचालित वाहनों को बढ़ावा दिया जाना चाहिए.

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने मप्र सरकार को पानी, हवा और जमीन को प्रदूषण मुक्त रखने का सुझाव दिया. गडकरी ने कहा कि अब तक मप्र को सड़कों के निर्माण के लिए ढाई लाख करोड़ रुपए केंद्र की तरफ से दिए जा चुके हैं. हमारा लक्ष्य इसे 4 लाख करोड़ तक पहुंचाने का है, जिसे 2024 तक हासिल कर लिया जाएगा. इसमें प्रमुख रूप से 20 फ्लॉयओवर तथा 14 जगहों पर रोपवे संबंधी काम भी शामिल हैं. इसके तहत भोपाल, सागर, ग्वालियर, जबलपुर, रतलाम, खण्डवा, धार, छतरपुर, विदिशा आदि शहरों के फ्लायओवर शामिल हैं.

उन्होंने आगे कहा कि चौतरफा विकास हम महती जवाबदारी है.मध्यप्रदेश सहित पूरे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण तेजी से हो रहा है. उन्होंने कहा कि सड़कों के विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. सड़कों के निर्माण और इससे जुड़े अधोसंरचनाओं तथा परिवहन संबंधी परियोजनाओं में नई और उन्नत तकनिकों का इस्तेमाल किया जा रहा है. इससे जहां एक ओर लागत में बड़ी कमी आ रही है, वहीं दूसरी ओर गुणवत्ता में भी सुधार हो रही है.

इन परियोजनाओं का किया लोकार्पण

कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे. लोकार्पित परियोजनाओं में इंदौर के तेजाजी नगर से बलवाड़ा इंदौर-बुरहानपुर एनएच पर फोरलेन का निर्माण कार्य, इंदौर-राघौगढ़ इंदौर-हरदा एनएच पर फोरलेन का निर्माण, राऊ सर्कल इंदौर का सिक्स लेन फ्लाईओवर, डीपीएस-राऊ सर्कल (इंदौर) सिक्सलेन पर सर्विस रोड का पुनर्निर्माण और तेजाजी नगर से बलवाडा खंड पर प्रस्तावित सड़क शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें