scorecardresearch
 

गुजरात: लाभार्थी की बेटी ने कहा- मैं डॉक्टर बनना चाहती है, सुनकर इमोशन हुए PM मोदी

पीएम मोदी आज गुजरात में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उत्कर्ष समारोह को संबोधित किया. कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से बात भी की. बता दें कि भरूच जिला प्रशासन की ओर से जनवरी 2022 में 'उत्कर्ष पहल' अभियान चलाया गया था, जिसका उद्देश्य विधवाओं, बुजुर्गों और निराश्रित लोगों की सहायता प्रदान करने वाली योजनाओं का पूर्ण कवरेज सुनिश्चित करना था.

X
भरूच में लाभार्थी की बेटी से बात करते वक्त पीएम मोदी भावुक हो गए. फोटो-ANI भरूच में लाभार्थी की बेटी से बात करते वक्त पीएम मोदी भावुक हो गए. फोटो-ANI
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पीएम मोदी ने लाभार्थी की बेटी की सराहना की
  • लड़की ने कहा- पिता के इलाज के लिए डॉक्टर बनना चाहती हूं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सरकारी योजनाओं के लाभार्थी की बेटी से बात करते वक्त भावुक हो गए. दरअसल, गुजरात के भरूच में 'उत्कर्ष समारोह' कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. पीएम मोदी VC के जरिए कार्यक्रम में शामिल हुए. इस दौरान उन्होंने सरकारी योजनाओं के एक लाभार्थी अयूब पटेल से बातचीत की. प्रधानमंत्री ने लाभार्थी से बातचीत करते हुए उनसे पूछा कि क्या वह अपनी बेटियों को शिक्षा देते हैं, जिस पर उन्होंने कहा कि तीन बेटियों में से एक डॉक्टर बनना चाहती है.

इस दौरान अयूब पटेल की बेटी भी उनके पास बैठी थी. पीएम मोदी ने बेटी से मेडिकल प्रोफेशन को करियर के तौर पर चुनने का कारण पूछा, जिस पर उसने कहा कि मेरे पिता जिस समस्या से जूझ रहे हैं, उसका इलाज करने के लिए मैं डॉक्टर बनना चाहती हूं. लड़की का जवाब सुनने के बाद भावुक होकर प्रधानमंत्री ने कुछ पल का मौन रखा और फिर लड़की की सराहना की. उन्होंने कहा कि आपकी करुणा ही आपकी ताकत है.

पीएम मोदी ने कहा कि आज का ये उत्कर्ष समारोह इस बात का प्रमाण है कि जब सरकार ईमानदारी से, एक संकल्प लेकर लाभार्थी तक पहुंचती है, तो कितने सार्थक परिणाम मिलते हैं. मैं भरूच जिला प्रशासन को, गुजरात सरकार को सामाजिक सुरक्षा से जुड़ी 4 योजनाओं के शत-प्रतिशत सैचुरेशन के लिए बधाई देता हूं.

पीएम ने कहा कि 2014 में जब आपने हमें सेवा का मौका दिया था तो देश की करीब-करीब आधी आबादी शौचालय की सुविधा से, टीकाकरण की सुविधा से, बिजली कनेक्शन की सुविधा से, बैंक अकाउंट की सुविधा से वंचित थी. इन वर्षों में हम, सभी के प्रयासों से अनेक योजनाओं को शत प्रतिशत सैचुरेशन के करीब ला पाए हैं. पीएम ने कहा कि शत-प्रतिशत लाभार्थियों की कवरेज यानि हर मत, हर पंथ हर वर्ग को एक समान रूप से सबका साथ, सबका विकास. गरीब कल्याण की हर योजना से कोई छूटे ना, कोई पीछे ना रहे.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर इस उत्कर्ष समारोह कार्यक्रम की जानकारी दी थी. उन्होंने समारोह के उद्देश्य के संबंध में बताया कि लोगों को वित्तीय सहायता सुनिश्चित करने वाली चार प्रमुख राज्य सरकार की योजनाओं की शत-प्रतिशत उपलब्धि की उपलब्धि को चिह्नित करने के लिए भरूच में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है. भरूच जिला प्रशासन ने इस साल 1 जनवरी से 31 मार्च तक 'उत्कर्ष पहल' अभियान चलाया था, जिसका उद्देश्य विधवाओं, बुजुर्गों और निराश्रित नागरिकों को सहायता प्रदान करने वाली योजनाओं का पूर्ण कवरेज सुनिश्चित करना था.

चार योजनाओं में 12 हजार से अधिक लाभार्थियों की पहचान की गई थी

चार योजनाओं में कुल 12,854 लाभार्थियों की पहचान की गई थी. गंगा स्वरूप आर्थिक सहायता योजना, इंदिरा गांधी वृद्ध सहाय योजना, निराधार वृद्ध आर्थिक सहायता योजना और राष्ट्रीय कुटुम्ब सहाय योजना के जरिए जरूरतमंद लोगों को समय पर वित्तीय सहायता देने में मदद की गई.

बताया जा रहा है कि जनवरी में चलाए गए अभियान के दौरान उन लोगों के बारे में जानकारी एकत्र करने के लिए तालुका-वार व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबरों की घोषणा की गई, जिन्हें योजना का लाभ नहीं मिल रहा था. जिले के नगर पालिका क्षेत्र के समस्त ग्रामों एवं वार्डों में उत्कर्ष शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध कराने वाले आवेदकों को मौके पर ही स्वीकृति प्रदान की गयी. उत्कर्ष सहायकों को अभियान को और सुविधाजनक बनाने के लिए प्रोत्साहन भी दिया गया.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें