scorecardresearch
 

जब सेट पर आधा सिर मुंडवाकर पहुंचे थे किशोर कुमार, ये थी दिलचस्प वजह

बॉलीवुड के दिग्गज स्टार किशोर कुमार किसी पहचान के मोहताज नहीं है. सिंगिंग, एक्टिंग, म्यूजिक डायरेक्शन से लेकर लिरिक्स राइटिंग हर काम में माहिर किशोर का मन सबसे ज्यादा मन सिंगिंग में ही लगता था.

किशोर कुमार किशोर कुमार

बॉलीवुड के दिग्गज स्टार किशोर कुमार किसी पहचान के मोहताज नहीं है. सिंगिंग, एक्टिंग, म्यूजिक डायरेक्शन से लेकर लिरिक्स राइटिंग हर काम में माहिर किशोर का मन सबसे ज्यादा मन सिंगिंग में ही लगता था. उनकी आवाज का जादू आज भी करोड़ों लोगों के दिलों में बसा है. किशोर कुमार को उनके टैलेंट ही नहीं मनमौजी स्वभाव के लिए भी जाना जाता है. मध्यप्रदेश के खंडवा शहर में जन्में किशोर दा का निधन आज ही के दिन यानी 13 अक्टूबर को मुंबई में हुआ था. आइये इस मौके पर उनके चर्चित किस्सों के बारे में जानते हैं.

एक बार वे किसी फिल्म की शूटिंग कर रहे थे. लेकिन प्रोड्यूसर ने उन्हें आधी पेमेंट ही दी थी. प्रोड्यूसर ने किशोर से कहा था कि फिल्म कंप्लीट होने के बाद आधे पैसे मिलेंगे. इस बात से किशोर कुमार खफा हो गए और उन्होंने इसका जवाब मजाकिया अंदाज में दिया. अगले दिन वे सेट पर आधी मूंछ और आधे बाल मुंडवा कर पहुंच गए. जब उनसे इस पागलपन की वजह पूछी गई तो उन्होंने कहा कि आधे पैसे मिले हैं तो गेटअप भी आधा ही होगा. जब पूरे पैसे मिलेंगे तो गेटअप पूरा हो जाएगा.

बीबीसी के साथ एक इंटरव्यू के दौरान उनकी पत्नी लीना चंदावरकर ने बताया था कि किशोर एकदम बच्चों जैसे थे. छोटी-छोटी बातों से भी खुश हो जाते थे. बारिश देख वो इतना खुश हो जाते मानो पहली बार देख रहे हों. उन्हें लोगों को चौंकाने में बहुत ही आनंद आता था. वो विदेश से कई तरह के मुखौटे लाए थे और एक बार तो उनका चौकीदार ही उनको देखकर डर गया. ऐसी शरारतें करने में वो माहिर थे.

सेट पर क्रू के साथ ऐसे करते थे मस्ती-

किशोर दा के बेटे अमित कुमार ने भी पिता के मनमौजी स्वभाव से जुड़े किस्से शेयर किए था. उन्होंने बताया कि एक बार जब उनकी फिल्म की शूटिंग खत्म हुई और यूनिट के लोग उनसे पैसे मांगने आए तो किशोर बोले ये इतना ज्यादा कैसे हो गया, इतना तो नहीं होना चाहिए. ये डायरेक्टर अपने आप को क्या समझता है. मैं प्रोड्यूसर हूं चलो भगाओ इस डायरेक्टर को इतना ज्यादा खर्चा कर रहा है, कौन है डायरेक्टर?' इस पर सबने कहा -आप ही तो हैं.

अमित ने बताया कि किशोर दा को बाजार जाकर छोटी छोटी चीजें और तरह तरह के आइटम खरीदने का बहुत शौक था. एक बार वो ऐसे ही बाजार गए, जहां अचानक मसूर की दाल देखकर उन्होंने तुरंत मसूरी घूमने का प्लान बना लिया. बस कुछ ऐसी ही मनमौजी प्रवृत्ति थी किशोर कुमार की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें