scorecardresearch
 

यूपी चुनाव: बीजेपी-सपा के इन उम्मीदवारों का विरोध क्यों हो रहा है?

UP Election 2022: यूपी चुनाव में बीजेपी और समाजवादी पार्टी के कुछ ऐसे उम्मीदवार सामने आए हैं जिन्हें उन्हीं के क्षेत्र में भारी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. कई बड़ी सीटों पर भी ऐसा माहौल देखने को मिल रहा है.

X
बीजेपी-सपा के कई उम्मीदवारों का हो रहा विरोध बीजेपी-सपा के कई उम्मीदवारों का हो रहा विरोध
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कहीं पर लोग हैं नाराज तो कहीं पार्टी में हो गई है बगावत
  • किसी का रिपोर्ट कार्ड कमोजर, किसी का दल बदलना नहीं आया रास

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के ऐलान के बाद सूबे में राजनीतिक सरगर्मियां जोर पकड़ रही हैं. वहीं दूसरी तरफ टिकट बंटवारे के बाद भाजपा-सपा समेत अन्य दलों में भी प्रत्याशियों के विरोध का दौर भी जारी है. पिछले कई दिनों से उत्तर प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में  प्रत्याशियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. आइए,जानते हैं कि किस नेता के साथ कहां पर विरोध प्रदर्शन हुए हैं.

बुलंदशहर में भाजपा विधायक का विरोध

यूपी के बुलंदशहर में स्याना सीट से भाजपा विधायक देवेंद्र सिंह लोधी का जगह-जगह विरोध हो रहा है.लोग विरोध करने का वीडियो बनाकर खुद ही वायरल कर रहे हैं. बीजेपी विधायक का विरोध लगातार क्षेत्र में हो रहा है जिसके कारण उनके ऊपर आरोप लग रहे हैं कि विकास कार्य नहीं कराए. क्षेत्र के मतदाता जब क्षेत्रीय विधायक के पास पहुंच रहे हैं तो उनसे विकास कार्य का हिसाब किताब पूछ रहे हैं. आज बुधवार को एक वीडियो में नारेबाजी करते भी लोग नजर आए. विरोध के चलते स्याना विधायक देवेंद्र सिंह लोधी ने सोशल मीडिया पर लोगों से हाथ जोड़ कर अपील की कि भविष्य में ऐसा नहीं होगा और अपना वीडियो जारी किया.


बरेली में भाजपा विधायक का विरोध

बरेली जिले के मीरगंज विधानसभा से बीजेपी ने अपने मौजूदा विधायक डीसी वर्मा को फिर से प्रत्याशी बनाया है जिनका विरोध कुछ इलाकों में किया जा रहा है. विधायक के विरोध का एक वीडियो भी वायरल हुआ है.जिसमें लोग उनका विरोध कर रहे हैं. जिसके बाद वे लोगों से हाथ जोड़कर वोट देने की अपील कर रहे हैं. यहां तक अपनी बिरादरी तक कि दुहाई देते दिख रहे हैं. वीडियो में एक युवक कहता है कि आज तक आपने क्या किया है. लोगों के विरोध के चलते विधायक को वहां से लौटना पड़ गया. वही नामाकंन कराने पहुंचे विधायक से  जब जनता ने यह सवाल पूछा तो उनका कहना था कि एक रोड को लेकर कुछ लोगों मे गुस्सा था. अब वह रोड बन रही है.अब सब सही है.

मेरठ में बीजेपी प्रत्याशी के काफिले पर पथराव

मेरठ के छुर्र गांव में सोमवार शाम भाजपा सिवालखास से प्रत्याशी चौधरी मनिंदरपाल सिंह के काफिले में शामिल गाड़ियों पर पथराव कर दिया गया. आरोप है कि मेरठ की सिवालखास विधानसभा के जाट बाहुल्य इलाके छुर्र गांव में ग्रामीणों की भीड़ ने प्रत्याशी के काफिले में शामिल गाड़ियों पर पथराव किया. जिसमें 4 गाड़ियों के शीशे टूट गए. बताया जा रहा है कि भीड़ में लोगों ने राष्ट्रीय लोक दल के झंडे ले रखे थे. सैकड़ों ग्रामीणों ने भाजपा प्रत्याशी मुर्दाबाद के नारे लगाए जिसके वीडियो वायरल हो रहे हैं.पुलिस का कहना है कि कुछ वीडियो सामने आए हैं. तहरीर आएगी उसके हिसाब से मुकदमा लिखा जाएगा. फिलहाल गांव के लोगों के खिलाफ कोविड-19 उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया जा रहा है. घटना सोमवार शाम 5 से 6 बजे के आसपास की बताई जा रही है. बताया जा रहा है कि जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन चौधरी मनिंदरपाल सिंह भाजपा के टिकट पर सिवालखास विधानसभा से चुनाव लड़ रहे हैं. इस सीट से भाजपा के नेता चौधरी जितेंद्र सतवाई विधायक हैं.लेकिन, भाजपा ने यहां से उनका टिकट काटकर जाट बिरादरी के ही मनिंदरपाल को मौका दिया है.

औरैया में भाजपा की रिया शाक्य का विरोध

औरैया में भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रिया शाक्य का विरोध किये जाने का मामला सामने आया है. पिछले 24 जनवरी को भाजपा के कार्यकर्ताओं ने रिया शाक्य का विरोध किया था. बता दें कि रिया शाक्य को भारतीय जनता पार्टी ने औरैया की विधूना विधानसभा से अपना प्रत्याशी बनाया है. रिया शाक्य भजपा विधायक विनय शाक्य की बेटी हैं जो हाल ही में अपने भाई देवेश शाक्य के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए थे. इसी बात को लेकर बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने बिधूना के राम लीला ग्राउंड में रिया शाक्य का विरोध किया था. विरोध करने वाले लोगों का कहना था कि 2017 में विनय शाक्य को बीजेपी से जिताया और वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए.अब उनकी ही बेटी को भारतीय जनता पार्टी ने प्रत्याशी बनाया. इसको हम लोग बरदाश्त नही करेंगे.

मुजफ्फरनगर में बीजेपी प्रत्याशी विक्रम सैनी का विरोध

बीते 19 जनवरी को खतौली विधानसभा सीट से बीजेपी के प्रत्याशी विक्रम सैनी अपने क्षेत्र के गांव मनव्वरपुर में अपनी ही बिरादरी की सैनी समाज की एक चौपाल में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे.लेकिन इसी दौरान किसी बात को लेकर ग्रामीणों ने विक्रम सैनी के साथ अभद्रता करते हुए उन्हें गांव से खदेड़ दिया. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में विक्रम सैनी भी गाड़ी में बैठकर हाथ जोड़ते हुए भी सुनाई और दिखाई पड़ रहे हैं.

उन्नाव में बीजेपी प्रत्याशी का विरोध

यूपी के जनपद उन्नाव में मोहन विधानसभा से BJP ने विधायक ब्रजेश रावत को दोबारा प्रत्याशी बनाया है. टिकट मिलने के बाद से लगातार उनके खिलाफ विरोध देखा जा रहा है. अब उसी विधानसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ता राजन महाराज ने इन पर सपा की मानसिकता का आरोप लगाकर पार्टी से टिकट काटने की अपील की है. इनका कहना है कि यदि टिकट न कटा तो 26 जनवरी को विधानसभा के सामने आत्मदाह कर लूंगा.आत्मदाह की चेतावनी का वीडियो सामने आया है. राजन महाराज ने आरोप लगाया कि विधायक ने पिछले 4 साल से समाजवादी पार्टी की मानसिकता से कार्य किया. भाजपा के जितने भी कार्यकर्ता हैं वह इनसे उपेक्षित रहे हैं.

सीतापुर में सपा प्रत्याशी का हुआ विरोध

 उत्तर प्रदेश के सीतापुर में बसपा से भाजपा और फिर भाजपा से सपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री रामहेत भारती का भी विरोध किया जा रहा है.सपा कार्यकर्ताओं में उनके खिलाफ आक्रोश सामने आ गया है. लगभग दो दर्जन सपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी कार्यालय पर एकत्र होकर उनका पुतला फूंक जमकर नारेबाजी की. कार्यकर्ता हरगांव विधानसभा से उन्हें सपा का टिकट न दिए जाने की मांग कर रहे थे. हालांकि उसी दिन देर शाम रामहेत भारती को सपा की लिस्ट में प्रत्याशी भी घोषित किया जा चुका है. विरोध करने वाले सपाइयों ने आरोप लगाया है कि बसपा सरकार में सत्ता होने पर रामहेत ने हम सब पर कई मुकदमे लिखाए थे.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें