scorecardresearch
 

UP Election: 48 घंटे में BJP के 6 विधायकों का इस्तीफा, दूसरे दलों से दो की हुई एंट्री

बुधवार को ओबीसी नेता दारा सिंह चौहान ने योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. दारा सिंह पिछले 2 दिन में इस्तीफा देने वाले 6वें नेता हैं. हालांकि, इस दौरान एक कांग्रेस विधायक और एक सपा विधायक बीजेपी में शामिल भी हुए हैं.

बीजेपी को पिछले 2 दिन में कई बड़े झटके लगे. बीजेपी को पिछले 2 दिन में कई बड़े झटके लगे.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • स्वामी प्रसाद मौर्य समेत बीजेपी के 6 विधायकों का इस्तीफा
  • इस दौरान सपा और कांग्रेस के एक-एक विधायक बीजेपी में शामिल

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव (up Election 2022) की तारीखों के ऐलान के बाद बीजेपी को पिछले 2 दिन में एक के बाद एक कर कई बड़े झटके लगे. इसी कड़ी में बुधवार को ओबीसी नेता दारा सिंह चौहान ने योगी आदित्यनाथ की कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. दारा सिंह पिछले 2 दिन में इस्तीफा देने वाले 6वें नेता हैं. हालांकि, इस दौरान एक कांग्रेस विधायक और एक सपा विधायक बीजेपी में शामिल भी हुए हैं. 

  • दब बीजेपी के नेताओं की दिल्ली में उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर अहम बैठक हो रही थी, उसी बीच मंगलवार को कैबिनेट मंत्री और बड़े नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने योगी कैबिनेट से इस्तीफा दे दिया. 
  • इसके अलावा बीजेपी विधायक अवतार सिंह भड़ाना ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया और राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हो गए. 
  • वहीं, मौर्य के समर्थक माने जाने वाले तीन विधायकों ने भी इस्तीफा देना का ऐलान किया. 
  • मंगलवार को बीजेपी के तिंदवारी से विधायक ब्रजेश प्रजापति, तिल्हार से विधायक रोशन लाल वर्मा और बिल्हौर से विधायक भगवती सागर ने भी मौर्य के बाद इस्तीफा दे दिया. 

बीजेपी में शामिल हुए ये दो नेता

हालांकि, इस दौरान बीजेपी में कांग्रेस विधायक नरेश सैनी और सपा विधायक हरिओम यादव बुधवार को शामिल हुए. हरिओम यादव मुलायम सिंह यादव के रिश्तेदार हैं.

उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में होना है विधानसभा चुनाव

403 विधानसभा सीटों वाले यूपी में 10 फरवरी से 7 मार्च तक विधानसभा चुनाव होना है. नतीजे 10 मार्च को आएंगे. 

2017 में बीजेपी ने कानपुर देहात की बिल्हौर सीट से जीत हासिल की थी. यहां से भगवती सागर ने पहली बार बीजेपी को जीत दिलाई थी. हालांकि, अब भगवती सागर ने इस्तीफा दे दिया है. 

भगवती सागर ने इंडिया टुडे से बातचीत में आरोप लगाया कि बीजेपी बीआर अंबेडकर और काशी राम के सिद्धांत को नहीं मानती. उन्होंने कहा, मैं बीजेपी में रहकर उन लोगों के साथ न्याय नहीं कर पा रहा था, जो जाति व्यवस्था से पीड़ित हैं. मैं बीआर अंबेडकर और काशी राम की विचारधारा का पालन करता हूं. 

सागर ने कहा, मैं कुछ दिन तक लखनऊ में ठहरूंगा और स्वामी प्रसाद मौर्य के बताए रास्ते का पालन करूंगा. मौर्य 2017 में बीजेपी में शामिल हुए थे. उन्हें योगी कैबिनेट में मंत्री भी बनाया गया था.

(इनपुट- सिमर चावला)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×