scorecardresearch
 

पंजाब चुनाव: अकाली दल की पहली लिस्ट में पुराने चेहरों पर भरोसा, मालवा में हिंदू कार्ड

पंजाब विधानसभा चुनाव में बसपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे अकाली दल ने अपने कोटे की 97 सीटों में से 64 प्रत्याशियों की पहली सूची सोमवार देर शाम जारी कर दी है. अकाली दल ने मालवा क्षेत्र में 11 हिंदू कैंडिडेट उतारे हैं जबकि एक महिला को प्रत्याशी बनाया है.

अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अकाली ने 64 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की
  • सुखबीर सिंह बादल जलालाबाद से लड़ेंगे चुनाव
  • अकाली दल ने मालवा में 11 हिंदू प्रत्याशी बनाए

पंजाब में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव की बिसात पर सबसे पहली चाल शिरोमणि अकाली दल ने चल दी है. बसपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही अकाली दल ने अपने कोटे की 97 सीटों में से 64 प्रत्याशियों की पहली सूची सोमवार देर शाम जारी कर दी है. कांग्रेस और आम आदमी पार्टी अभी तक उम्मीदवारों के मंथन में जुटी है जबकि अकाली दल ने उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर बड़ा सियासी दांव चल दिया है. 

मालवा पर खास फोकस
अकाली दल ने अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की है, उनमें ज्यादातर सीटें मालवा रीजन की हैं. अकाली ने मालवा क्षेत्र में 44, माझा रीजन की 11 और दोआब इलाके की 9 सीटों पर कैंडिडेट घोषित किए हैं. अकाली दल की तरफ से अभी अपने 33 अन्य उमीदवारों का ऐलान करना बाकी है. वहीं, अकाली की सहयोगी बसपा ने भी अपनी कोटे की 20 सीटों पर अभी तक उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है. 

अकाली का हिंदू कार्ड
अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल ने 64 उम्मीदवारों में से 11 हिंदू कैंडिडेट उतारे हैं. यह सीटें मालवा क्षेत्र की हैं, जहां हिंदू वोटर काफी अहम माने जाते हैं. हिंदू वोटर अभी तक बीजेपी के सहारे अकाली दल को मिलता रहा है, लेकिन दोस्ती टूटने के बाद अकाली खुद हिंदू वोटों को साधने की कवायद में जुटी है.

अकाली दल ने इस चुनाव में बीजेपी की कमी को पूरा करने और हिंदू वोटों को अपने पाले में लाने के लिए डेराबस्सी से तीसरी बार एनके शर्मा, बठिंडा के पूर्व विधायक स्वरूप चंद सिंगला, अमृतसर उत्तर से अनिल जोशी, मानसा से प्रेम कुमार और सुजानपुर से राजकुमार गुप्ता जैसे हिंदू चेहरे उतारे हैं. 

पुराने चेहरे पर जताया भरोसा
अकाली दल ने अपनी पहली लिस्ट में ज्यादातर पुराने चेहरों पर ही दांव लगाया है. सुखबीर बादल खुद जलालाबाद सीट से चुनाव लड़ेंगे तो  पूर्व कैबिनेट मंत्री आदेश प्रताप कैरों को पट्टी सीट से टिकट दिया गया है. लुधियाना पूर्वी सीट से रंजीत सिंह ढिल्लों को टिकट दिया है, वो इससे पहले 2012 में विधायक बने थे, लेकिन 2017 में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था.

पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के सलाहकार महेश इंदर सिंह ग्रेवाल हैं, जिन्हें लुधियाना पश्चिम सीट से उतारा गया है. आत्म नगर सीट से हाई कोर्ट के वकील एवं पुराने चेहरे हरीश राय ढांडा को टिकट दिया है. अकाली दल के 64 उम्मीदवारों में से 45 प्रत्याशी पुराने मैदान में उतर रहे हैं जबकि 21 नए चेहरों पर दांव लगाया है. 

अकाली दल की एक महिला कैंडिडेट
शिरोमणि अकाली दल ने अपनी पहली 64 उम्मीदवारों की लिस्ट में महज एक महिला को प्रत्याशी बनाया है. सुतराना सीट से बीबी वनिंदर कौर लूंबा को अकाली ने टिकट दिया है. हालांकि, अकाली दल ने महिलाओं को लेकर तमाम बड़े वादे चुनाव में कर रखे हैं, लेकिन सिर्फ एक टिकट देने से सवाल खड़े होने लगे हैं.  

इन दिग्गज नेताओं को नहीं मिला टिकट
अकाली दल के पूर्व अध्यक्ष व पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल का नाम पहली लिस्ट में जारी नहीं किया गया है. इससे साफ संकेत है कि प्रकाश सिंह बादल इस बार चुनावी मैदान में नहीं उतरेंगे. ऐसे ही अकाली दल के दिग्गज नेता बिक्रम सिंह मजीठिया के नाम की भी घोषणा नहीं की गई है. प्रो प्रेम सिंह चंदूमाजरा और एसजीपीसी की अध्यक्ष व पूर्व कैबिनेट मंत्री बीबी जगीर कौर को टिकट नहीं मिला है जबकि यह दोनों नेता पहले ही चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके हैं. वहीं, कांग्रेस छोड़ कर अकाली दल में आए हंस राज जोशन को फाजिल्का से टिकट दिया गया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें