scorecardresearch
 

बंगाल: परिवारवाद पर अभिषेक बनर्जी का BJP को चैलेंज, लाएं बिल, 24 घंटे में छोड़ दूंगा राजनीति

अभिषेक बनर्जी ने कहा कि मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वह संसद में ऐसा बिल लेकर आएं, जिसके मुताबिक एक परिवार से सिर्फ एक ही शख्स को राजनीति में रहने की इजाजत हो. मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय, सुभेंदु अधिकारी के परिवार से कई लोग राजनीति में हैं.

टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी.(फाइल फोटो) टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी.(फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परिवारवाद के मुद्दे पर अभिषेक बनर्जी का BJP पर हमला
  • परिवारवाद की राजनीति के खिलाफ बिल लाएं PM: TMC MP
  • दीदी को बोलने से रोकने के लिए लगाए गए नारे: अभिषेक

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक बयानबाजियां तेज हो गई हैं. बीजेपी के टीएमसी पर परिवारवाद की राजनीति के आरोप पर टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने जवाब दिया है. ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी को चैलेंज करते हुए कहा कि जो परिवारवाद की राजनीति का आरोप लगा रहे हैं उनके खुद के परिवार से लोग राजनीति में हैं.

बनर्जी ने कहा कि मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वह संसद में ऐसा बिल लेकर आए जिसके मुताबिक एक परिवार से सिर्फ एक ही शख्स को राजनीति में रहने की इजाजत हो. मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय, सुभेंदु अधिकारी के परिवार से कई लोग राजनीति में हैं. अगर बीजेपी इस बात को माने कि राजनीति में एक परिवार से एक ही शख्स रहेगा तो हमारे परिवार से केवल ममता बनर्जी ही सियासत का हिस्सा होंगी. क्या बीजेपी ये चैलेंज स्वीकार करेगी? मैं 24 घंटे में राजनीति छोड़ दूंगा.

इससे पहले बनर्जी ने कुलताली विधानसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर जवाब दिया. उन्होंने कहा कि अगर उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप साबित होंगे तो वह सार्वजनिक रूप से फांसी लगा लेंगे. दरअसल, बीजेपी की तरफ से अभिषेक बनर्जी को लुटेरा कहा गया था जिसके बाद उन्होंने यह बयान दिया. वहीं विक्टोरिया मेमोरियल में ममता बनर्जी के भाषण से पहले लगाए गए जय श्रीराम के नारे के मसले पर अभिषेक ने कहा कि यह नारे जानबूझकर लगाए गए थे ताकि ममता बनर्जी को भाषण देने से रोका जा सके.

देखें- आजतक LIVE TV

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें