scorecardresearch
 

जोधपुरः गरीबी से हारी जिंदगी, बच्चों को फांसी देकर खुद मौत को लगाया गले

इसी कमरे में परिवार ने खुदकुशी की इसी कमरे में परिवार ने खुदकुशी की

गरीबी से तंग आकर जोधपुर के एक परिवार के चार लोगों ने आत्महत्या कर ली. दंपति ने अपने दो बच्चों को फांसी लगाने के बाद खुद भी फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. एक साथ चार शव मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई.

दंपति अपने तीन बच्चों के साथ तनवाड़ा स्थित भाकरी गांव के जैन मंदिर के पास खेतों में बने कमरे में रहते थे. पुलिस का कहना है कि प्राथमिक जांच में परिवार की आर्थिक तंगी की बात सामने आई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. केस की तफ्तीश जारी है.

जोधपुर के डीसीपी समीर कुमार ने बताया कि 45 वर्षीय कानाराम अपनी पत्नी पुष्पा देवी (40) और दो बच्चों के साथ खेत में बने अपने मकान में रहता था. ग्रामीणों ने बताया कि काफी समय से कानाराम का परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. वहीं कानाराम की पत्नी और बेटी अक्सर बीमार रहती थीं.

उनके पास इलाज के लिए भी पैसे नहीं थे. एक बेटा घर से बाहर होने की वजह से बच गया. डीसीपी ने बताया कि तलाशी के दौरान घर में खाने-पीने तक का सामान भी नहीं मिला है, लिहाजा पुलिस आशंका जता रही है कि आर्थिक तंगी से परेशान होकर ही परिवार ने यह कदम उठाया होगा. बहरहाल मामले की जांच जारी है.

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें