scorecardresearch
 

NCRB: साल 2020 में हर दिन औसतन 80 लोगों का मर्डर, लिस्ट में सबसे ऊपर है यूपी का नाम

आंकड़ों के अनुसार, राज्यों पर अगर नजर डालें तो साल 2020 में सबसे अधिक 3,779 हत्या के मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए. इसके बाद बिहार में 3150, महाराष्ट्र में 2163, मध्य प्रदेश में 2101 और पश्चिम बंगाल 1,948 मामले दर्ज हुए हैं.

NCRB के मुताबिक हत्या और अपहरण के मामलों में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है NCRB के मुताबिक हत्या और अपहरण के मामलों में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एनसीआरबी ने जारी किए 2020 के आपराधिक आंकड़े
  • हत्या और अपहरण की वारदातों में इजाफा
  • हत्या के मामलों में सबसे आगे है यूपी

राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के मुताबिक पिछले साल 2020 के दौरान हर दिन भारत में औसतन 80 लोगों की हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया. इस मामले में अगर राज्यों के आंकड़ों पर नजर डालें तो उत्तर प्रदेश टॉप पर रहा, जहां हत्या की वारदातों में साल 2019 की तुलना में साल 2020 में एक फीसदी का इ्जाफा दर्ज किया गया.

एनसीआरबी (NCRB) ने बुधवार को साल 2020 के अपराधों पर अपनी रिपोर्ट जारी की. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार भारत में वर्ष 2020 में कुल 29,193 लोगों की मौत हत्या के कारण हुईं. इसी के अनुसार देश में हत्या प्रतिदिन औसतन 80 दर्ज किया गया.  उत्तर प्रदेश राज्यों के चार्ट में सबसे ऊपर है. वहां 2019 में की तुलना में एक प्रतिशत का इजाफा हुआ.

आंकड़ों के अनुसार, राज्यों पर अगर नजर डालें तो साल 2020 में सबसे अधिक 3,779 हत्या के मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज किए गए. इसके बाद बिहार में 3150, महाराष्ट्र में 2163, मध्य प्रदेश में 2101 और पश्चिम बंगाल 1,948 मामले दर्ज हुए हैं.

इसे भी पढ़ें-- जानें- आतंक का कराची कनेक्शन और खौफनाक साजिश, ऐसे हुआ बड़े आतंकी मॉड्यूल का खुलासा

हालांकि भारत में अपहरण के मामलों में 2019 की तुलना में 2020 में 19 प्रतिशत से अधिक की कमी आई है. केंद्रीय गृह मंत्रालय के तहत कार्य करने वाले एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार 2019 में अपहरण के 1,05,036 मामले सामने आए थे. जिसके मुकाबले साल 2020 में अपहरण के कुल 84,805 मामले दर्ज किए गए.

राष्ट्रीय राजधानी सहित देश में कोविड-19 के प्रकोप और महामारी के चलते लॉकडाउन काल में अपराधों में कमी आई. आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में साल 2020 में 472 हत्या के मामले दर्ज किए गए.

एनसीआरबी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि देश में कुल हत्या पीड़ितों में से अधिकतम 38.5 प्रतिशत 30-45 वर्ष आयु वर्ग के थे. जबकि 35.9 प्रतिशत 18-30 वर्ष की आयु वर्ग के थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें