scorecardresearch
 

Umesh Kolhe Murder: उमेश की हत्या का मास्टरमाइंड चलाता था सामाजिक संस्था, युसूफ रखता था वायरल पोस्ट पर नजर

Umesh Kolhe Murder Case: महाराष्ट्र के अमरावती में केमिस्ट उमेश कोल्हे की हत्या कर दी गई है. हालांकि पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि मास्टरमाइंड इरफान शेख एक सामाजिक संस्था का अध्यक्ष था.

X
उमेश कोल्हे और शेख इमरान (फाइल फोटो) उमेश कोल्हे और शेख इमरान (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आऱोपी मुदस्सिर ने की उमेश कोल्हे की रेकी
  • मुख्य आरोपी सामाजिक संस्था का अध्यक्ष

Umesh Kolhe Murder Case: उदयपुर में नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के मामले में टेलर कन्हैयालाल की दिनदहाड़े गला काटकर हत्या की गई थी, लेकिन इससे पहले एक और मर्डर हुआ था, अमरावती जिले में 54 साल के केमिस्ट उमेश प्रह्लादराव कोल्हे की भी बेरहमी से हत्या की गई थी. हालांकि पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी शेख इरफान को नागपुर से अरेस्ट कर लिया है. पुलिस इस मामले में अब तक 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है. नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर केमिस्ट की हत्या करने का निर्देश इरफान ने ही दिया था और उसी ने पूरी योजना बनाई थी. 

पुलिस उमेश कोल्हे हत्याकांड के मामले में शेख इरफान, मुदस्सिर अहमद (22), शाहरुख पठान (25), अब्दुल तौफिक (24),  शोएब खान (22), अतिब रशीद (22) और युसूफ खान बहादुर खान (44) को गिरफ्तार कर चुकी है.

जानकारी के मुताबिक इस हत्याकांड में शामिल आरोपी मुदस्सिर मौलाना है जो कि बेहद सामान्य परिवार से है. बताया जा रहा है कि मर्डर केस में मुदस्सिर ने ही रेकी की थी. जबकि शाहरुख पठान, अब्दुल तौफीक, शोएब खान उर्फ भूरिया, अतीक रशीद मजदूरी करने करते थे. 

वारदात में शामिल युसूफ खान बहादुर खान पढ़ा-लिखा है, इसने वेटरनरी का कोर्स भी किया है. युसूफ खान बहादुर खान सभी वायरल पोस्ट पर बारीकी से नजर रखता था. 

जबकि इस हत्याकांड का मास्टर माइंड शेख इरफान शेख भी गिरफ्तार हो चुका है. वह एक सामाजिक संस्था ड्राइवर हेल्पलाइन का अध्यक्ष है. पुलिस ने गिरफ्तार किए गए आऱोपियों की कुंडली खंगाली तो सामने आया कि आरोपियों का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है. लेकिन 21 जून को शाहरुख और आतिब ने उमेश की हत्या को अंजाम दिया था. इसके लिए मुदस्सिर मौलाना ने उमेश कोल्हे की रेकी की थी. 

दरअसल, उमेश कोल्हे की हत्या 21 जून को रात 10 से 10.30 बजे के बीच हुई, जब उमेश अपनी दुकान बंद करके बाइक से घर लौट रहे थे. इस दौरान उमेश का बेटा संकेत और पत्नी वैष्णवी दूसरी बाइक से उनके साथ चल रहे थे. पुलिस के मुताबिक, उमेश जैसे ही महिला कॉलेज के गेट के पास पहुंचे, तो बाइक सवार दो लोगों ने पीछे से आकर उमेश का रास्ता रोक दिया. एक युवक बाइक से उतरा और उमेश की गर्दन पर धारदार हथियार से वार किया और मौके से फरार हो गया. खून से लथपथ उमेश सड़क पर गिर गए. इसके बाद संकेत उसे अस्पताल ले गया जहां उनकी मौत हो गई थी. 
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें