scorecardresearch
 

राजस्थान: जैसलमेर से हिरासत में लिया गया संदिग्ध, सीमा पार ISI को भेज रहा था सेना की जानकारी

राजस्थान के जयपुर से आई इंटेलीजेन्स की टीम ने जैसलमेर के चांधण क्षेत्र से एक संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिया है. शख्स को पकिस्तानी खुफिया ऐजेंसी आई.एस.आई के जाल में फंसकर सेना व वायुसेना की गोपनीय सूचनाएं सीमा पार भिजवाने व आई.एस.आई के लिए जासूसी करने के संदेह में हिरासत में लिया गया है.

नवाब खान नवाब खान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पैसों के लिए ISI को सेना की जानकारी भेजता था संदिग्ध
  • सीमा पार ISI को भेज रहा था सेना की जानकारी

गुरुवार को राजस्थान के जयपुर से आई इंटेलीजेन्स की टीम ने जैसलमेर के चांधण क्षेत्र से एक संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लिया है. शख्स को पकिस्तानी खुफिया ऐजेंसी आई.एस.आई के जाल में फंसकर सेना व वायुसेना की गोपनीय सूचनाएं सीमा पार भिजवाने व आई.एस.आई के लिए जासूसी करने के संदेह में हिरासत में लिया गया है. फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है और उसके मोबइल आदि की जांच पड़ताल की जा रही है.

चांधण क्षेत्र में बनी रहती है पाक की नजर 

गौरतलब है कि जैसलमेर के चांधण क्षेत्र में भारतीय वायुसेना की फील्ड फायरिंग रेंज है. यहां पर बारहों महीने वायुसेना की ऑपरेश्नल गतिविधियां चलती रहती हैं. ऐसे में यहां पर पाकिस्तान की खुफिया ऐजेंसी की गिद्ध नजर लगी रहती है.

पैसों का लालच देकर स्थानीय लोगों को फंसाता है ISI
 
अधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आईएसआई जैसलमेर के लाठी, चांधण, पोकरण, खेतोलई आदि क्षेत्रों की जानकारी जुटाने के लिये हर समय यहां के सरपंच, पूर्व सरपंच व अन्य कई स्थानीय लोगों को अपने जाल में फंसाने की कोशिश करती रहती है. इसी कड़ी में जैसलमेर के चांधण क्षेत्र में एक स्थानीय व्यक्ति नबाब खान को पाकिस्तानी खुफिया ऐजेन्सी आई.एस.आई ने अपने  जाल में फंसाकर उससे सेना व वायुसेना की सामरिक सूचनाएं हासिल करने की कोशिश की.
 
सूत्रों ने बताया कि नबाब खान पुत्र दिते खान रिश्तेदारी में तीन चार बार पाकिस्तान भी जा चुका है. बताया जाता है कि पाक जाने के दौरान वह ISI के एक अधिकारी के सम्पर्क में आया. यहां उसे  लालच देकर भारतीय सेना, वायु सेना की गोपनीय व सामरिक सूचनाएं भेजने के लिए तैयार कर लिया गया.

अपनी दुकान पर करता था सेना के दस्तावेजों का एक्सट्रा कॉपी

सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी खुफिया ऐजेन्सी के जाल में फंसे इस युवक पर भारतीय खुफिया ऐजेंसियों की ओर से नजर रखी जा रही थी. नबाब खान अपनी दुकान पर सेना व वायु सेना के कर्मियों द्वारा फोटोकॉपी करवाने के लिये लाए गए दस्तावेजों की एक्सट्रा कापियां धोखे से रख लेता था. इसके बाद वह उन्हें सोशल मीडिया के जरिये सीमा पार भेज देता था. इसके बदले उसे ISI से पैसा भी मिलने की जानकारी सामने आई है. सूत्रों ने बताया कि जासूसी के पुख्ता सबूत मिलने पर नबाब खान को  जयपुर से आई इंटेलीजेन्स की टीम ने हिरासत में लिया और उससे पूछताछ शुरू कर दी.

पाकिस्तान में बैठा PIO  कर रहा था सबकुछ हैंडल
 
इसकी पुष्टि करते हुए ए.टी.एस. इंटेलीजेन्स के महानिदेषक उमेश मिश्रा ने बताया कि पाकिस्तान खुफिया एजेंसी  ISI के जाल में फंसे एक संदिग्ध व्यक्ति को इंटेलीजेन्स टीम ने जैसलमेर के चांधण क्षेत्र से डिटेन किया है. फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है. उसे पाकिस्तान में बैठा पी.आई.ओ हैंडल कर रहा था. अभी यह खुलासा नहीं हुवा हैं कि उसने सीमा पार कौन सी गोपनीय सामग्री भेजी है. फिलहाल जांच पड़ताल की जा रही है और उसे पूछताछ के लिये जयपुर ले जाया गया है.

इनपुट- विमल भाटिया

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×