scorecardresearch
 

J-K: पानी के रास्ते घुसपैठ कर सकते हैं आतंकी, PoK में पूर्व नेवी अफसर ने दी ट्रेनिंग

भारत की सीमा पर एक बार फिर पाकिस्तान साजिश रच रहा है. इस बार आतंकियों को पानी के रास्ते घुसपैठ कराने की तैयारी की गई है. इसके लिए बाकायदा प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है.

पुंछ में तैनात भारतीय सेना के जवान (फाइल फोटो-PTI) पुंछ में तैनात भारतीय सेना के जवान (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पाक नेवी के रिटायर्ड अफसर ने दी है ट्रेनिंग
  • लॉन्च पैड पर मौजूद हैं 250 से ज्यादा आतंकी
  • स्विमिंग और डाइविंग का दिया जा चुका है प्रशिक्षण

एलओसी (LoC) पर बड़ी संख्या में आतंकी घुसपैठ करने की ​फिराक में हैं. आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए पाकिस्तान बाकायदा आतंकियों को प्रशिक्षण भी दे चुका है. इसको लेकर सुरक्षाबलों ने अलर्ट जारी किया है. इसमें कहा गया है कि पुंछ और कृष्णा घाटी के इलाके में पानी के रास्ते आतंकी जम्मू-कश्मीर में दाखिल हो सकते हैं.

खुफिया सूत्रों के हवाले से आजतक को पता चला है कि बौखलाया पाकिस्तान इस वक्त जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ करने के लिए नए रास्तों की तलाश में जुटा हुआ है. सूत्रों ने पाक के इंटरसेप्ट पकड़े हैं, जिससे पता चला है कि पाकिस्तान लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए मोहम्मद के आतंकियों को जम्मू-कश्मीर के नदी और नालों के रास्ते से घुसपैठ करा सकता है. 

सुरक्षाबलों को अलर्ट

खुफिया एजेंसियों ने इस बात को लेकर एक बड़ा अलर्ट सुरक्षाबलों को जारी किया है, इसमें कहा गया है कि कृष्णा घाटी, पुंछ सेक्टर और नौगांव सेक्टर के साथ-साथ इंटरनेशनल बॉर्डर से सटे इलाकों से आतंकी पानी के रास्ते घुसपैठ करने की तैयारी कर रहे हैं, जिसमें वो गोताखोर की भांति ट्यूब और दूसरे तरीके का इस्तेमाल करके पानी के रास्ते जम्मू कश्मीर में दाखिल हो सकते हैं.

खुफिया सूत्रों ने आजतक को यह जानकारी दी है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई इस वक्त जम्मू और LoC की कई नदियों में पानी के रास्ते घुसपैठ कराने ​की फिराक में है. जम्मू और LoC के नज़दीक 14 छोटे-बड़े नाले और तीन बड़ी नदियां हैं, जहां से आतंकी घुसपैठ कर सकते हैं.

सूत्रों के मुताबिक, बरसात में जम्मू की बसंतर नदी में काफी पानी आ गया था. हालांकि, अब इसका पानी काफ़ी कम है. इन रास्तों का इस्तेमाल पाकिस्तान के आतंकी कर सकते हैं. आतंकी इन नदियों का इस्तेमाल घुसपैठ के लिए कर सकते हैं. यही वजह है कि बीएसफ़ ने नदी और नालों के इलाके में अलर्ट बढ़ा दिया है, साथ ही इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस को भी बढ़ा दिया है.

क्या है पाक आतंकियों का प्लान!

लश्कर और जैश ए मोहम्मद (JeM) के आतंकियों की नई चाल का पर्दाफ़ाश हुआ है. जम्मू कश्मीर में पानी के रास्ते (water route) से घुसपैठ और सुरक्षा बलों पर हमला करने के लश्कर-ए तैयबा और जैश-ए मोहम्मद का प्लान डिकोड हुआ है. जम्मू कश्मीर में हिंटरलैंड पर बड़े आतंकी हमले करने में नाक़ाम रहा जैश और लश्कर "पानी के रास्ते घुसपैठ कर बड़े सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमला करने की फिराक में है. इसके लिए आतंकियों की नई ब्रिगेड तैयार की गई है.''

पाक नेवी के रिटायर्ड ऑफिसर ने दी ट्रेनिंग

सूत्रों के अनुसार, POK में आर्टिफिशियल वाटर ट्रेनिंग कैम्प में आतंकियों की एक बड़ी फ़ौज को पाक नेवी के रिटायर्ड ऑफिसर पानी के रास्ते घुसपैठ की ट्रेनिंग दे चुके हैं. सूत्रों के मुताबिक़ तीन दर्जन से ज़्यादा लश्कर और जैश के आतंकियों को swimming और deep diving की ट्रेनिंग दी गई है. सूत्रों के मुताबिक़ इस बार पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने जम्मू कश्मीर और दूसरी जगहों पर आतंकियों के वाटर विंग का इस्तेमाल कर बड़ा हमला करने के लिए तैयार किया है. पाकिस्तान के सवाईनाला के नज़दीक आतंकियों के "वाटर विंग" को ट्रेनिंग दी गई.

ब्रेनवॉश कर दी स्विमिंग और डाइविंग की ट्रेनिंग 

सूत्रों के मुताबिक, POK में मुजफ्फराबाद और सवाईनाला के नज़दीक एक ट्रेनिंग कैम्प में लश्कर व जैश के आतंकियों को स्विमिंग और ज़्यादा देर तक ट्यूब का इस्तेमाल कर पानी में survival की ट्रेनिंग दी गई है. खुफिया सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि तीन दर्जन से ज्यादा टॉप जेहादी को भर्ती करने के लिए आतंकी कमांडरों और ISI ने सैकड़ों आतंकी रंगरूटों का पहले चयन किया था. उसके बाद उसमें से तीन दर्जन से ज्यादा आतंकियों का ब्रेनवॉश कर उनको स्विमिंग और डाइविंग यानी पानी के अन्दर गोताखोर के तरीके की ट्रेनिंग दी गई. सूत्रों ने बताया कि ये आतंकी कई किलोमीटर तक पानी के अंदर ही अंदर ट्यूब के सहारे एक जगह से दूसरी जगह जा सकते हैं.

लॉन्च पैड पर 250 से भी ज्यादा आतंकी

ख़ुफ़िया एजेंसी के सूत्रों ने आजतक को जानकारी दी है कि LoC और इंटरनेशनल बॉर्डर पर भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने आतंकियों की नाक में दम कर रखा है. LoC के लॉन्च पैड पर इस समय भी जैश, लश्कर और दूसरे आतंकी समूहों के करीब 250 से ज्यादा आतंकी मौजूद हैं, लेकिन भारतीय सुरक्षा बलों की चौकसी के चलते वो भारत के अंदर घुसपैठ करने में नाकाम हैं. अगर कोई घुसपैठ करने की हिमाक़त करता है तो उसको सुरक्षा बल सीमा पर ही ढेर कर दे रहे हैं.

लश्कर-ए तैयबा और जैश ए मोहम्मद ने "ग्राउंड जेहाद" के बजाय खतरनाक पानी के रास्ते जेहाद का रास्ता अख्तियार किया है. यानी पाकिस्तान की सरपरस्ती में लश्कर और जैश के आतंकी पानी के रास्ते जम्मू कश्मीर और देश के दूसरे इलाकों को निशाना बनाने की पुरजोर कोशिश में लगे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×