scorecardresearch
 

गुजरातः मुंद्रा बंदरगाह से भारी मात्रा में पकड़ा गया अमेरिकन गांजा, कार के कबाड़ में था छुपाया

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम ने मुंद्रा पोर्ट पर आए एक कंटेनर की जांच की. जिसमें कार का कबाड़ भरा हुआ था. एनसीबी टीम ने गहन जांच के दौरान से उस कबाड़ में छुपाए गए ड्रग्स के 90 पैकेट बरामद कर लिए.

X
सितंबर 2021 में भी मुंद्रा पोर्ट से भारी मात्रा में हेरोइन पकड़ी गई थी सितंबर 2021 में भी मुंद्रा पोर्ट से भारी मात्रा में हेरोइन पकड़ी गई थी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कार के कबाड़ से भरा था कंटेनर
  • हरियाणा के सोनीपत भेजा जाना था कंटेनर
  • कच्छ ड्रग्स रूट की जांच में जुटी हैं DRI, ATS, NCB

गुजरात के कच्छ में मुंद्रा पोर्ट (Mundra Port) पर एक बार फिर बड़ी मात्रा में नशे का सामान पकड़ा गया है. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम ने एक कंटेनर में छुपाकर लाया गया अमेरिकन गांजा (American Hemp) बरामद किया है. जिसे कार के कबाड़ में छुपाकर लाया गया था.

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) की टीम ने बुधवार को मुंद्रा पोर्ट पर आए एक कंटेनर की जांच की. जिसमें कार का कबाड़ भरा हुआ था. एनसीबी टीम ने गहन जांच के दौरान से उस कबाड़ में छुपाए गए ड्रग्स के 90 पैकेट बरामद कर लिए. 

उनकी जांच के दौरान एनसीबी की टीम ने पाया कि कार के कबाड़ में छुपाकर कंटेनर में लाई गई ड्रग अमेरिकन गांजा (American Hemp) है. टीम ने सभी पैकेट जब्त कर लिए. जिस कंटेनर में नशे का सामान आया था, उस पर माल्टा का फ्लेग बना हुआ है.

छानबीन के दौरान पता चला कि भारत में ये कंटेनर सोनीपत ले जाया जा रहा था. यानी अमेरिकन गांजा सोनीपत में सप्लाई होना था. जानकारी के मुताबिक बड़ी पार्टियों में अक्सर अमेरिकन गांजा की मांग रहती है. नशे के सौदागर इसकी एवज में मोटी रकम कमाते हैं.

मुंद्रा पोर्ट पर नशे की तस्करी पकड़े जाने के बाद से केंद्रीय जांच एजेंसियों की नज़र अब कच्छ के समुंद्री रास्ते या यूं कहें कि सी ड्रग्स (Sea Drugs) रूट पर है. बता दें कि डीआरआई (DRI), कस्टम (Customs) और एटीएस (ATS) के बाद अब एनसीबी (NCB) की यह गुजरात में पहली बार बड़ी कार्रवाई है.

पहले भी भारी मात्रा में पकड़ी गई थी हेरोइन 

आपको बताते चलें कि गुजरात के इसी मुंद्रा पोर्ट पर 16 सितंबर 2021 को भारी मात्रा में अफगानी हेरोइन पकड़ी गई थी. जिसकी कीमत 9000 करोड़ से ज्यादा थी. दो कंटेनरों में भरी प्रतिबंधित हेरोइन मुंद्रा बंदरगाह के डीपी वर्ल्ड टर्मिनल पर बरामद की गई थी.

उस मामले ने इतना तूल पकड़ लिया था कि मुंद्रा पोर्ट के संचालक अडानी समूह ने भी घटना के 5 दिन बाद एक बयान जारी कर सफाई दी थी. उस मामले की जांच में डीआरआई और सीमा शुल्क विभाग के साथ-साथ एनआईए भी शामिल हो गई थी. लेकिन उस मामले में अभी तक जांच जारी है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें