scorecardresearch
 

हरियाणा: पुलिस की ड्रेस पहन कर करता था फ्री में सफर, बना रखा था फर्जी आई कार्ड

हरियाणा में पुलिस (Haryana Police) की वर्दी पहनकर फ्री में सफर करने वाले युवक को पकड़ा गया है. उसके पास से फर्जी आईडी कार्ड (ID Card) और वर्दी बरामद कर ली गई है. पुलिस ने बताया कि आरोपी कॉलेज पहुंचकर कॉलेज की छात्राओं के आईडी कार्ड भी चेक करता था.

X
आरोपी के पास से फर्जी आईडी कार्ड के साथ पुलिस की वर्दी बरामद.  (Photo: Aajtak) आरोपी के पास से फर्जी आईडी कार्ड के साथ पुलिस की वर्दी बरामद. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फर्जी आईडी कार्ड के साथ पुलिस की वर्दी बरामद
  • कॉलेज की छात्राओं के आईडी कार्ड करता था चेक

हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने ऐसे आरोपी को पकड़ा है, जो पुलिस की वर्दी पहनकर फर्जी तरीके से फ्री में सफर करता था. कॉलेज की छात्राओं के आईडी कार्ड चेक करता था. पुलिस ने राजथल गांव के रहने वाले आरोपी दीपक कुमार के गिरफ्तार किया है. पुलिस ने आरोपी दीपक के कब्जे से फर्जी आईडी कार्ड व पुलिस ड्रेस बरामद की है. पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से अदालत ने दो दिन की रिमांड पर भेज दिया है.

पुलिस सूत्रों के अनुसार, आरोपी बसों में मुफ्त में सफर करता था. बताया जा रहा है कि आरोपी युवक हिसार के सरकारी कॉलेज में घूम रहा था. इसी दौरान कॉलेज प्रशासन ने पुलिस बुलाकर आरोपी को गिरफ्तार करा दिया. उसे पुलिस ने मधुवन पार्क के पास से गिफ्तार किया. युवक से गहन पूछताछ की गई, लेकिन स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया. पुलिस ने आरोपी के पास से पांच पासपोर्ट फोटो, 2 पुलिस के आईडी कार्ड और पुलिस की वर्दी बरामद की है. थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी युवक को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे दो दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है. आरोपी युवक के खिलाफ 170, 171, 420, 467, 471 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

शिक्षकों ने पकड़कर किया पुलिस के हवाले

हिसार के सिविल लाइन थाना प्रभारी रमेश कुमार ढुल ने बताया कि एयू चौकी प्रभारी को सूचना मिली थी कि गवर्नमेंट कॉलेज के आसपास कुछ अन्य इलाकों में एक युवक पुलिस की वर्दी पहने घूम रहा है, जो कि संदिग्ध है. वह हिसार में लगातार पुलिस की वर्दी पहनकर घूम रहा था. वह राजकीय कॉलेज में पहुंचा. कॉलेज के शिक्षकों ने उसे पकड़कर पुलिस और एचएयू पुलिस चौकी के हवाले कर दिया.

थाना प्रभारी ने बताया कि आरोपी की तलाश के लिए कुछ दिनों से सिविल ड्रेस में पुलिस कर्मचारी तैनात किए गए थे. यह युवक आटो में निशुल्क सफर करता था और बसों में फर्जी आईडी कार्ड दिखाकर सफर करता था. वह पुलिस की वर्दी में छात्राओं के आईडी कार्ड भी चेक करता था. आरोपी से अन्य जानकारियां भी हासिल हो सकती हैं. मामले में छानबीन जारी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें