scorecardresearch
 

दिल्लीः किराए के गोदाम में चल रहा था चर्च, हंगामे के बीच धर्म परिवर्तन का आरोप

द्वारका जिले के बिंदापुर इलाके में एक गोदाम में चर्च चलाया जा रहा है. वहां कुछ स्थानीय लोग जाकर हंगामा करने लगे. चर्च के गेट पर धरना देकर नारेबाजी होने लगी. इसी दौरान पुलिस को सूचना दी गई.

X
हंगामा करने वाले लोग चर्च के गेट पर बैठकर धरना दे रहे थे हंगामा करने वाले लोग चर्च के गेट पर बैठकर धरना दे रहे थे
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किराए के गोदाम में चर्च चलाने का आरोप
  • स्थानीय लोग कर रहे थे विरोध
  • मौके पर पहुंचे बजरंग दल के कार्यकर्ता

दिल्ली के द्वारका इलाके में किराए पर एक गोदाम लेकर चर्च चलाया जा रहा था. जहां स्थानीय लोगों और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया. मामला पुलिस तक पहुंचा तो पुलिस ने मौके पर जाकर हंगामा कर रहे दो लोगों को हिरासत में ले लिया गया. जिन्हें बाद में एक बीजेपी सांसद की सिफारिश पर छोड़ दिया गया.  

मामला द्वारका जिले के बिंदापुर इलाके का है. जहां एक गांव से लगा इलाका है. जिसमें ज्यादातर फैक्ट्री हैं. वहीं एक गोदाम में चर्च चलाया जा रहा है. वहां कुछ स्थानीय लोग जाकर हंगामा करने लगे. चर्च के गेट पर धरना देकर नारेबाजी होने लगी. इसी दौरान पुलिस को सूचना दी गई.

पुलिस जब मौके पर पहुंची तो वहां बवाल हो रहा था. उस दौरान काफी लोग चर्च के अंदर थे. जिन्हें बाहर निकाला गया. जानकारी के मुताबिक फिलहाल चर्च को बंद कर दिया गया है. वहां पर 2 पुलिसकर्मी तैनात हैं.

इसे भी पढ़ें--- रंजीत डॉन से लेकर UPTET तक, देश को हिला देने वाले 5 चर्चित पेपर लीक कांड की कहानी

स्थानीय निवासियों का कहना है कि झूठ बोलकर किराए पर गोदाम लिया गया था. यहां चर्च के नाम पर धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा था. इलाज के नाम पर विकलांग बच्चों को वहां रखा जाता था. स्थानीय लोगों और बजरंग दल का आरोप है कि वहां हिंदुओं का धर्म परिवर्तन हो रहा था. 

वहां लोग कह रहे हैं कि उन्होंने गोदाम के मालिक को बोलकर रेंट एग्रीमेंट कैंसिल करवा दिया है. आस-पास के गांववाले भी विरोध कर रहे थे. बवाल के आरोप पर स्थानीय लोगों को कहना है कि उन्होंने वहां कोई तोड़फोड़ नहीं की. बल्कि पुलिस ने उनके ही 2 लोगों को पकड़ लिया था. जिन्हें सांसद प्रवेश वर्मा से कहकर छुड़वाया गया है. 

स्थानीय लोगों का आरोप है कि यह सब पुलिस की मिलीभगत से चल रहा था. पहले गांव के लोगों का विरोध था. बाद में बजरंग दल वाले भी इसमें शामिल हो गए थे. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें