scorecardresearch
 

पंजाबः सिख से ईसाई धर्म परिवर्तन का मामला, SGPC ने तैयार की प्रचार कमेटियां

पंजाब में बीते कुछ समय से कुछ कट्टरपंथी धार्मिक संस्थाओं और क्रिश्चियन समुदाय के नेताओं द्वारा सिख धर्म के लोगों का धर्म परिवर्तित करने की बात एसजीपीसी के सामने आई है जिसके बाद एसजीपीसी द्वारा सख्त कदम उठाए गए हैं.

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • धर्म परिवर्तन रोकने को गांव-गांव जागरुक करेगी कमेटी
  • सरहदी इलाकों में चर्चों द्वारा धर्म परिवर्तन बड़ा हमलाः जत्थेदार
  • लालच देकर कराए जा रहे सिख धर्म परिवर्तन को रोकेंगेः कौर

पंजाब में सिख धर्म से ईसाई धर्म में परिवर्तन करने का मामला लगातार गरमाता जा रहा है. श्रीअकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने धर्म परिवर्तन पर कहा कि भोले-भाले लोगों को लालच दे जानबूझ धर्म परिवर्तन करवाया जा रहा है. एसजीपीसी भी धर्म परिवर्तन को रोकने की कोशिश में जुट गई है.

पंजाब के गांवों में एसजीपीसी द्वारा तैयार की प्रचार कमेटियां ईसाई धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए गांवों में सिख धर्म का प्रचार करने में जुट गई हैं.

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी यानी एसजीपीसी कमेटी द्वारा बीते कुछ समय से सिख धर्म का प्रचार करने के लिए कमेटियां गठित की गई हैं. ईसाई धर्मांतरण को रोकने के लिए ये कमेटियां गांव-गांव में जाकर बच्चों और सिख धर्म से जुड़े लोगों को सिख धर्म के प्रति जागरूक करवाएंगी और धर्म की जानकारी बढ़ाने के लिए बच्चों के बीच प्रतियोगिताएं भी करवाएंगी.

इसे भी क्लिक करें --- शाह के बाद अब डोभाल से मिले अमरिंदर सिंह, सिद्धू के PAK कनेक्शन पर उठाए थे सवाल

एसजीपीसी ने सख्त कदम उठाए

दरअसल, बीते कुछ समय से कुछ कट्टरपंथी धार्मिक संस्थाओं और क्रिश्चियन समुदाय के नेताओं द्वारा सिख धर्म के लोगों का धर्म परिवर्तित करने की बात एसजीपीसी के सामने आई है जिसके बाद एसजीपीसी द्वारा सख्त कदम उठाए गए हैं.

इस संबंध में श्रीअकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने कहा कि बीते कुछ समय से पंजाब के सरहदी इलाकों में लोगों को चर्चों द्वारा धर्म परिवर्तित करवाए जाने का मामला सामने आया है जो सिख धर्म पर बहुत बड़ा हमला है. 

वहीं धर्म परिवर्तन के मामलों पर एसजीपीसी की अध्यक्ष बीबी जागीर कौर ने कहा कि सिख धर्म का किसी धर्म के साथ कोई मुकाबला नहीं है. ये अपने आप में बेहद मजबूत धर्म है और जो सिख अपना धर्म परिवर्तित कर लेता है वो सही मायने में गुरु का सिख है ही नहीं और जो ईसाई धर्म के लोग कुछ भोले सिखों और अनुसूचित जातियों के लोगों को लालच देकर धर्म परिवर्तित करवा रहे हैं उसे एसजीपीसी द्वारा रोका जाएगा. 

इस संबंध में बॉर्डर से सटे ग्रामीण इलाकों में सिख धर्म का प्रचार करने और क्रिश्चियन धर्मांतरण को रोकने की मुहिम में लगे भाई बलाकर सिंह ने बताया कि एसजीपीसी प्रधान बीबी जागीर कौर के आदेशों के अनुसार उनके द्वारा घर-घर और गांव-गांव में जाकर लोगों में सिख धर्म का प्रचार किया जा रहा है जिसमें जो क्रिश्चियन समुदाय के नेता जो कुछ गरीब लोगों को लालच देकर धर्म परिवर्तन करवा रहे हैं, ऐसे लोगों को वापस सिख धर्म से जोड़ा जा रहा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें