scorecardresearch
 

Bulli Bai: मुंबई पुलिस के एक्शन पर नीरज ने किया था ट्वीट, खुद को बताया था क्रिएटर

दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशंस (IFSO) यूनिट Bulli Bai app के क्रिएटर नीरज बिश्नोई तक जा पहुंची. उसे टेक्निकल सर्विलांस, IPDR (इंटरनेट प्रोटोकॉल डिटेल रिकॉर्ड्स) और गेटवे का इस्तेमाल करते हुए जोरहाट से गिरफ्तार किया गया.

X
नीरज ही इस शर्मनाक मामले का मुख्य साजिशकर्ता बताया जा रहा है नीरज ही इस शर्मनाक मामले का मुख्य साजिशकर्ता बताया जा रहा है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नीरज ने बुधवार को किए थे कई ट्वीट
  • खुद को बताया था बुल्ली बाई ऐप का क्रिएटर
  • Bulli Bai को बताया सुल्ली डील ऐप का क्लोन

बुल्ली बाई ऐप केस का मुख्य साजिशकर्ता नीरज बिश्नोई इतना शातिर है कि उसने मुंबई क्राइम ब्रांच की कार्रवाई के बाद बुधवार को एक ट्वीट किया था. जिसमें उसने लिखा कि इस मामले में केवल वही शामिल है. उसने उत्तराखंड और बेंगलुरु से पकड़े गए तीनों आरोपियों को नहीं, बल्कि खुद को बुल्ली बाई ऐप का क्रिएटर बताया है. 

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने इस शर्मनाक मामले में तेजी से कार्रवाई करते हुए उत्तराखंड से श्वेता सिंह समेत दो और बेंगलुरु से विशाल कुमार को गिरफ्तार किया है. इधर, दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल की साइबर यूनिट भी लगातार इस मामले में जांच पड़ताल कर रही थी. यूनिट ने इस मामले में ट्विटर इंडिया से भी जानकारी मांगी थी. साथ ही गिटहब से भी कार्रवाई के लिए कहा था.

इसी दौरान दिल्ली पुलिस की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशंस (IFSO) यूनिट Bulli Bai app के क्रिएटर नीरज बिश्नोई तक जा पहुंची. उसे टेक्निकल सर्विलांस, IPDR (इंटरनेट प्रोटोकॉल डिटेल रिकॉर्ड्स) और गेटवे का इस्तेमाल करते हुए जोरहाट से बुधवार की रात गिरफ्तार कर लिया. नीरज बिश्नोई भोपाल के वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में बी.टेक द्वितीय वर्ष का छात्र है. 

इसे भी पढ़ें--- लैपटॉप में बिजी, पढ़ाई में अव्वल... जानें बुल्ली बाई केस के 'मास्टरमाइंड' नीरज की पूरी कुंडली

शातिर नीरज बिश्नोई ने बुधवार को इस मामले में तीन लोगों के पकड़े जाने के बाद बैक टू बैक तीन ट्वीट किए थे. जिसमें उसने पिछले साल विवादों में आए सुल्ली डील ऐप का भी जिक्र किया. उसने इस बात को भी स्वीकार किया कि बुल्ली बाई ऐप विवादित सुल्ली डील का ही क्लोन है. जिसे उसने खुद बनाया है.

उसने पुलिस पर तंज करते हुए कहा कि जो तीन लोग पकड़े गए हैं, वो नहीं बल्कि वो खुद इस ऐप का क्रिएटर है. उसी ने ये सब किया है. बुल्ली बाई ऐप के कोड और पासवर्ड सब उसी के पास है. वो दूसरे आरोपियों को निर्दोष भी बता रहा है. उधर, नीरज की गिरफ्तारी के बाद भोपाल के वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने उसे निलंबित कर दिया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें