scorecardresearch
 

बिहार: ससुराल जाने निकले थे पार्षद के 2 बेटे, सुबह कोसी नदी में बहती मिली लाश

पार्षद माला देवी के बेटे ससुराल गए थे, लेकिन अगले दिन दोनों की लाश कोसी नदी में मिली. हालांकि कुछ लोग इसे राजनीतिक हत्या से जोड़कर देख रहे हैं.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हत्या को राजनीति से जोड़कर देख रहे लोग
  • पार्षद मां माला देवी ने कहा कि पुलिस जांच करे

बिहार के सुपौल में डबल मर्डर का मामला सामने आया है. इससे इलाके में दहशत फैल गई है. वारदात जिले के मधेपुरा वार्ड-8 की पार्षद के बेटों के साथ हुई है. पार्षद माला देवी के बेटे ससुराल गए थे, लेकिन अगले दिन दोनों की लाश कोसी नदी में मिली. हालांकि कुछ लोग इसे राजनीतिक हत्या से जोड़कर देख रहे हैं, लेकिन पार्षद मां माला देवी का कहना है कि पुलिस सही तरीके से जांच करे, तो हत्या का खुलासा हो सकता है.

कोसी नदी में तैरते मिले शव


मधेपुरा के वार्ड नंबर आठ की पार्षद माला देवी के बड़े बेटे मिट्ठू की ससुराल सुपौल के डुमरिया में थी. मिठ्ठू अपने भाई के साथ देर रात मधेपुरा से अपनी ससुराल के लिए निकला था. पूरी रात दोनों भाइयों की फोन पर अपने परिवारवालों से बातचीत हुई. लेकिन बुधवार की सुबह पार्षद मां को कुछ लोगों ने खबर दी कि दो युवकों की लाश कोसी नदी में तैर रही है.

शव के पास ही मिली सफेद रंग की बाइक

सूचना के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और दोनों शवों को अपने कब्जे में लिया. पुलिस ने घटनास्थल से एक व्हाइट रंग की बाइक भी बरामद की है. माला देवी का कहना है कि उसका बेटा कल अपने डेढ़ माह के बेटे के लिए कपड़ा देने ससुराल गया था. शाम हो जाने के बाद उसने आने से मना कर दिया. बेटे को देखने की ललक में वह अपने भाई को भी साथ लेकर गया था. लेकिन उन्हें क्या पता था कि वो अब अपनी मां से नहीं मिल पाएंगे. 

डीएसपी ने जांच के लिए बनाई टीम


डीएसपी इंद्र प्रकाश ने बताया कि मामले की जांच के बाद ही खुलासा हो पाएगा कि आखिर इस हत्याकांड के पीछे कौन है. फिलहाल पुलिस इसे संदेहास्पद मौत मानकर चल रही है. पुलिस ने जांच के लिए विशेष टीम का गठन किया है, ताकि मामले का जल्द से जल्द खुलासा हो सके.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें