scorecardresearch
 

फिक्सिंग के 'फिल्मी कनेक्शन' में फंसे विंदु दारा सिंह

आईपीएल में शुरू हुआ फिक्सिंग का तमाशा रंग दिखा रहा है, पहले खिलाड़ी और अब सितारे सभी हमाम में नंगे दिख रहे हैं. खिलाड़ियों के बाद अब फिक्सिंग का फिल्मी कनेक्शन भी सामने आ गया है.

X
विंदु दारा सिंह
विंदु दारा सिंह

आईपीएल में शुरू हुआ फिक्सिंग का तमाशा रंग दिखा रहा है, पहले खिलाड़ी और अब सितारे सभी हमाम में नंगे दिख रहे हैं. खिलाड़ियों के बाद अब फिक्सिंग का फिल्मी कनेक्शन भी सामने आ गया है.

बिग बॉस सीजन तीन के विजेता, छोटे-बड़े पर्दे के एक्टर और रुस्तम-ए-हिंद पहलवान दारा सिंह के बेटे विंदु सिंह भी फिक्संग के अखाड़े में धर लिए गए हैं. उनपर आरोप है कि वो बुकी और खिलाड़ियों के बीच बिचौलिए का काम करते थे.

चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के एक करीबी मुकाबले वाले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के वीआईपी बॉक्स में विंदु दारा सिंह महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी और धोनी के मैनेजर के साथ बैठ कर मैच देखते नजर आए थे.

सचमुच क्रिकेट का मैदान अब अखाड़ा बन चुका है, बेईमानी का अखाड़ा, फिक्सिंग का अखाड़ा और स्पॉट फिक्सिंग का अखाड़ा. ले-देकर इस अखाड़े में एक कमी रह गई थी. वो कमी भी अब अब रुसतम-ए-हिंद का खिताब जीत चुके पहलवान दिवंगत दारा सिंह के बेटे विंदु दारा सिंह की गिरफ्तारी ने पूरी कर दी.

फिक्सिंग के नाम पर ये सबसे ताजा चेहरा है कलंक का. चेहरा विंदु दारा सिंह का. पिछले पांच दिनों से फिक्सिंग के तूफान में खिलाड़ियों और सटोरियों की गिरफ्तारी की जो आंधी चली उसमें मंगलवार को विंदू दारा सिंह भी उड़ कर धड़ाम से पुलिस हवालात में जा गिरे, और इसके साथ ही ये शक सच हो गया कि सट्टा और फिक्संग सें बॉलीवुड भी अछूता नहीं है.

दरअसल विंदू दारा सिंह का नाम और फोन नंबर आईपीएल को फिक्स या स्पॉट फिक्स करने वाले देश के कुछ बड़े बुकियों के मोबाइल से मिले तो मुंबई पुलिस के कान खड़े हो गए. इसी के बाद मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पहले विंदु के नंबरों को खंगाला, फिर उन बुकियों को टटोला. इसके बाद जैसे ही बुकियों ने मुंह खोला विंदु दारा सिंह की बोलती बंद हो गई और वो सीधे हवालात पहुंच गए.

मुंबई क्राइम ब्रांच के मुताबिक विंदु सिंह का सटोरियों से बड़ा पुराना रिश्ता रहा है. ये बात सभी जानते थे. पर फिक्सिंग या सट्टे से सीधे जुड़ने के कभी उसके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले. पहली बार ये सबूत पिछले शनिवार को तब मिले जब मुंबई क्राइम ब्रांच ने दिल्ली पुलिस के स्पॉट फिक्सिंग खुलासे के बाद मुंबई में सटोरियों की धरपकड़ शुरू की.

इसी सिलसिले मे बेटिंग सिंडिकेट का एक बड़ा नाम रमेश व्यास भी पुलिस के हत्थे चढ़ गया. रमेश वो शख्स है जो डी-कपनी के इशारे पर भारत में सट्टे के भाव की फोन लाइन चलाता है. रमेश की गिरफ्तारी के बाद पहली बार पुलिस के सामने विंदु दारा सिंह का नाम आया. इसके बाद पुलिस ने जब बाकी सटोरियों की कॉल डिटेल्स की जांच की तो पता चला कि विंदु सिंह की उनसे आईपीएल के दौरान लगातार बातचीत हो रही थी.

यहां तक कि ये बातचीत श्रीसंत, अजित चंडीला और अंकित चव्हाण की गिरप्तारी के बाद भी जारी थी. इन्हीं बातचीत को रिकार्ड करने के बाद पुलिस ने पहली बार सोमवार को विंदु सिंह को पूछताछ के लिए अपने दफ्तर बुलाया. और फिर मंगलवार को उसे गिरप्तार कर लिया.

इधर विंदु की गिरप्तारी की खबर आई और उधर अचानक एक तस्वीर सवालों के घेरे में आ गई. ये तस्वीर थी टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी और विंदु सिंह की.

अगर विंदु सिंह फिक्सिंग के अखाड़े में ना पकड़ा जाता तो शायद मिसेज धोनी के साथ की तस्वीरों की वो अहमियत ना होती, मगर अब है. तस्वीरों ने अब पहली बार मुंबई क्राइम ब्रांच के भी कान खड़े कर दिए हैं.

जरा सोचिए जिस शख्स पर बुकी और खिलाड़ियों के बीच बिचौलिए की भूमिका निभाने का आरोप हो वही शख्स स्टेडियम के अंदर बाकायदा वीआईपी बाक्स में बैठा टीम इंडिया के कैप्टन की पत्नी और मैनेजर के साथ मैच देख रहा हो, तो शक और सवाल तो उठेंगे ही. लिहाजा इसी शक को दूर करने के लिए मुंबई पुलिस साक्षी से भी पूछताछ करने की बात से इंकार नहीं कर रही है.

6 अप्रैल को एमए चिदंबरम स्टेडियम में चेन्नई सुपर किंग्स बनाम मुंबई इंडियंस के मैच में मुंबई ने टॉस जीत कर पहले बैंटिंग की और बीस ओवरों में सिर्फ 148 रन बनाए. चेन्नई के लिए ये घरेलू मैदान था, लिहाजा टीम के फार्म को देख कर हरेक को लगा कि चेन्नई सुपर किंग्स आसानी से मैच जीत जाएगी.

इस मैच के दौरान बीच में अचानक कैमरा घूमता है और चेन्नई सुपर किंग्स के वीआईपी स्टैंड में टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी दिखाई देती हैं. साक्षी का स्टेडियम में यूं दिखना चौंकाता नहीं है. क्योंकि वो लगभग आईपीएल के हर मैच में टीम के साथ स्टेडियम में नजर आ रही थीं, पर हां, साक्षी के साथ जो चेहरा नजर आता है वो जरूर चौंकाता है. ये चेहरा था विंदु दारा सिंह का.

विंदु साक्षी के बिल्कुल बराबर में बैठे मैच देख रहे थे, और उनके साथ ही वहां मौजूद थे धोनी के मैनेजर. इस मैच में धोनी ने शानदार बैटिंग की थी. 19वें ओवर के खत्म होने पर वो 25 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्कों के साथ 50 रन बना कर खेल रहे थे. बीसवें और आखिरी ओवर में स्ट्राइक उन्हीं के पास थी.

आखिरी ओवर में चेन्नई सुपर किंग्स को जीत के लिए 12 रन चाहिए थे जबकि उसके पास दो विकेट बचे थे. धोनी के फार्म को देखते हुए लग रहा था कि 12 रन आसानी से बन जाएंगे. आखिरी ओवर मुनाफ पटेल फेंक रहे थे. पर मुनाफ की पहली ही गेंद पर धोनी पोलार्ड को कैच दे बैठे और आउट हो गए. इसके बाद इस ओवर में सिर्फ तीन रन बने और चेन्नई सुपर किंग्स 9 रनों से मैच हार गई.

इतने नजदीकी मैच में विंदु दारा सिंह की स्टेडियम के वीआईपी इनक्लोजर में मौजूदगी अब शक पैदा करती है, और सवाल भी. शक कि क्या इस मैच को भी फिक्स या स्पॉट फिक्स करने के लिए विंदु स्टेडियम आया था? क्या विंदु का स्टेडियम में होना खिलाड़ियों या बुकी को कोई इशारा था?

अगर मुंबई क्राइम ब्रांच का दावा सच है कि विंदु बुकी और खिलाड़ियों के बीच की कड़ी था तो जाहिर है स्टेडियम में उसकी मौजूदगी इस मैच पर सवाल खड़े करती है. हालांकि खबरों के मुताबिक धोनी के करीबियों ने कहा है कि विंदु को मैच देखने लिए साक्षी या धोनी ने नहीं बुलाया था, और विंदु से उन दोनों की कोई दोस्ती भी नहीं है.

वैसे मुंबई के एक अखबार के मुताबिक विंदु ने बताया है कि चेन्नई सुपर किंग्स के मालिकों में से एक गुरुनाथ मेयप्पन को वो जानते हैं. मेयप्पन ने ही उन्हें बुलाया था. जब वो बॉक्स में पहुंचे तो साक्षी ने उन्हें अपने पास बुला लिया. गुरुनाथ मेयप्पन बीसीसीआई प्रेसिडेंट श्रीनिवासन के दामाद हैं.

हालांकि सूत्रों के मुताबिक विंदू की इस सफाई के बावजूद मुंबई क्राइम ब्रांच साक्षी और धोनी के मौनेजर से पूछताछ कर सकती है. क्राइम ब्रांच को शक है कि विंदु सिर्फ मैच देखने स्टेडिय़म नहीं गया था. बल्कि इसके पीछे फिक्सिंग की साजिश थी. लिहाजा आने वाले दिनों में अगर इसे लेकर मिसेज धोनी समेत चेन्नई सुपर किंग्स के कुछ और खिलाड़ियों से पूछताछ होती है तो हैरानी की बात नहीं होगी.

फिल्म का क्रिकेट से बड़ा पुराना नाता रहा है. कई क्रिकेटरों ने मैदान के बाद फिल्मी पर्दे पर भी किस्मत आजमाई है, तो कई फिल्मी सितारों ने क्रिकेट में. आईपीएल की कई टीमों के मालिक भी फिल्मी सितारे हैं, और शायद इसकी वजह से भी क्रिकेट बॉलीवुड के ज्यादा करीब आया. श्रीसंत भी मैदान से ज्यादा आजकल रूपहले पर्दे की तरफ ज्यादा खिंच रहा था.

विंदु दारा सिंह की गिरफ्तारी क्या महज शुरुआत है. क्या विंदु दारा सिंह की गिरफ्तारी कई और बड़े चेहरों को बेनकाब करने वाली है. क्या विंदु दारा सिंह बॉलिवुड के फिक्सिंग कनेक्शन की पहली कड़ी भर हैं.

विंदु की गिरफ्तारी के बाद ऐसे तमाम सवाल उठ खड़े हुए हैं. श्रीसंत जिस वक्त गिरफ्तार हुए थे उस वक्त उनके साथ एक लड़की थी. बताया गया कि वो मराठी फिल्मों की ऐक्ट्रेस थी जिसे फिल्म बनाने के इरादे से श्रीसंत ने बुलाया था.

श्रीसंत के लैपटॉप से भी दर्जनों खूबसूरत लड़कियों की तस्वीरें मिली थी. खबर मिली कि ये तस्वीरें हैदराबाद के एक कास्टिंग डायरेक्टर ने उन्हें भेजी थीं. मुंबई पुलिस ने उस कॉस्टिंग डायरेक्टर को मुंबई तलब किया. उससे पूछताछ में मुंबई पुलिस को चौंकाने वाली जानकारियां मिलीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें