scorecardresearch
 

पेट्रोल पंप पर हो गई धोखाधड़ी! ऐसे करें शिकायत, तुरंत बनेगा काम 

पेट्रोल पंपों पर कंज्यूमर्स के साथ कई तरह की धोखाधड़ी हो सकती है. संदिग्ध किस्म के इलेक्ट्रॉनिक चिप का सहारा लेकर आपकी बताई हुई मात्रा से कम पेट्रोल-डीजल ​डाला जा सकता है. शंका होने पर आप शिकायत कर सकते हैं.

X
पेट्रोल पंप पर धोखाधड़ी की करें शिकायत पेट्रोल पंप पर धोखाधड़ी की करें शिकायत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेट्रोल पंप पर किसी के साथ हो सकती है धोखाधड़ी
  • शिकायत के लिए तय प्लेटफॉर्म का यूज करें

पेट्रोल पंपों पर गाड़ी में पेट्रोल-डीजल भराते समय अक्सर कई लोगों के साथ धोखाधड़ी हो जाती है. कभी पेट्रोल-डीजल बताई मात्रा से कम मिलता है तो कभी पैसे में कुछ हेर-फेर हो सकता है. आइए जानते हैं कि ऐसी धोखाधड़ी के बाद किस तरह से शिकायत की जा सकती है. 

कैसे होती धोखाधड़ी 

पेट्रोल पंपों पर कंज्यूमर्स के साथ कई तरह की धोखाधड़ी हो सकती है. संदिग्ध किस्म के इलेक्ट्रॉनिक चिप का सहारा लेकर आपकी बताई हुई मात्रा से कम पेट्रोल-डीजल ​डाला जा सकता है. मीटर पूरी मात्रा दिखाता है तो आपसे पैसा पूरा लिया जा सकता है. 

इसके अलावा तेल में कई बार मिलावट की भी शिकायत की जाती है. पेट्रोल में जला हुआ डीजल या अन्य कोई मिलावट हो सकती है. गाड़ी से निकलने वाले धुएं या इंजन की बदली आवाज से अक्सर लोग लोगों को इसकी शंका हो जाती है. 

क्या हो सावधानी 

मीटर पर हमेशा अपनी नजर बनाए रखें. धोखाधड़ी से बचने का तरीका यही है कि 500, 1000 जैसे कॉमन राशि का ईंधन ऑर्डर न करें. चिप के इस्तेमाल से ज्यादातर ऐसी राशि की ही सेटिंग की जाती है. 

हमेशा यह सुनिश्चित करें कि ईंधन भरने से पहले अटेन्डेंट मीटर को जीरो पर लाए. पेट्रोल या डीजल भराने के बाद पंप से उसका बिल जरूर लें. सिर्फ क्रेडिट कार्ड का नहीं बल्कि ईंधन कितना पड़ा है और कितनी राशि ली गई है, इसका बिल. 

हो गई धोखाधड़ी तो क्या करें 

फिर भी अगर आपको लगता है कि आपके साथ धोखाधड़ी की गई है तो आप कई तरीके से इसकी शिकायत कर सकते हैं. सबसे पहले तो सभी पेट्रोल कंपनियों ने शिकायत के लिए निर्धारित वेबसाइट या फोन नंबर दे रखे हैं. तो आप सबसे पहले वहां शिकायत कर सकते हैं.

जैसे Indian Oil के लिए कस्टमर केयर नंबर 1800-2333-555 पर बात करें या इस लिंक पर जाएं-

https://cx.indianoil.in/EPICIOCL/faces/GrievanceMainPage.jspx;jsessionid=3aDUni58pmpm4pC-x7DaSnQOabTEjnG4OMT_5b_aIlx5RIFaFgUs!-1315299060

इसी तरह भारत पेट्रोलियम के ग्राहक शिकायत के लिए कस्टमर केयर नंबर 1800 22 4344 पर बात करें या इस लिंक पर जाएं-

 https://ebiz.bpc.co.in/Ccsext/CorporateSite/PetrolPumpComplaintRegistration

हिंदुस्तान पेट्रोलियम के ग्राहक इस लिंक पर जाकर शिकायत करें - 

 https://crminterface.hpcl.co.in/CRMInterface/retailcomplaints.aspx

(www.hindustanpetroleum.com/ वेबसाइट से आपको अपने रीजन के कस्टमर केयर का नंबर भी मिल जाएगा, वहां भी शिकायत दर्ज कर सकते हैं )

ट्विटर से भी होती है त्वरित कार्रवाई 

आजकल ऐसी शिकायत के बारे में संबंधित तेल कंपनी को ट्वीट करने पर भी त्वरित कार्रवाई होती है. एक उपभोक्ता ने ऐसी ही धोखाधड़ी के बारे में जब संबंधित तेल कंपनी को टैग कर ट्वीट किया तो उसके पास अगले चौबीस घंटे के भीतर ही एक अधिकारी का फोन आ गया और उसकी समस्या का समाधान कर दिया गया. 

कैसे पकड़ी जाती है ठगी 

असल में पेट्रोल पंप वाला भले ही आपको यह बताए कि उसने आपकी कार में मीटर में बताई गई मात्रा की पेट्रोल डाल दी है. लेकिन पेट्रोलियम कंपनी के पास उस पेट्रोल पंप का पाई-पाई का हिसाब होता है कि उसके यहां कितना ईंधन था और कितना ईंधन वाहनों में डाला गया. तो किसी तरह की शंका होने पर पेट्रोल पंप के ​स्टॉक का रिकॉर्ड चेक कर तेल कंपनी उचित कार्रवाई कर सकती है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें