scorecardresearch
 

बिहार: नेपाल सीमा से सटे पेट्रोल पंप हो गए सूने, 70 प्रतिशत तक घटी पेट्रोल-डीजल की बिक्री

पेट्रोल और डीजल के रेट में आग लगी हुई है. ऐसे में लोग सस्ते की जुगाड़ में नेपाल का रुख कर रहे हैं. हम बात कर रहे हैं, बिहार से नेपाल की सीमा से सटे इलाकों की, जहां लोग सीमा पार से पेट्रोल-डीजल खरीद रहे हैं. 

X
प्रतीकात्मक फोटो प्रतीकात्मक फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पेट्रोल-डीजल के रेट में बड़ा अंतर 
  • सीमाई इलाकों में पेट्रोल की घटी सेल
  • नेपाल से जारी है पेट्रोल-डीजल की तस्करी 

बिहार में नेपाल सीमा से सटे पेट्रोल पंप इन दिनों सूने नजर आ रहे हैं. कारण है कि सस्ते की जुगाड़ में लोग नेपाल की ओर दौड़ लगा रहे हैं. इस वजह से सीमाई क्षेत्रों की पेट्रोल पंप पर ​बिक्री 60 से 70 फीसद तक गिर गई है. बिक्री कम होने से पेट्रोल पंप मालिक परेशान हैं. हालांकि नेपाल ने तस्करी रोकने के लिए ड्रम या खुले किसी भी बर्तन में पेट्रोल-डीजल देने पर रोक लगा दी है.

नेपाल में सस्ता है पेट्रोल-डीजल 
भारत में पेट्रोल-डीजल के रेट में बढ़ोत्तरी हो रही है, हालांकि नेपाल भी इसमें पीछे नहीं है. पिछले एक महीने में नेपाल ने भी पेट्रोल के रेट में 10 रुपये तक की बढ़ोत्तरी की है, इसके बाद भी यहां भारत की तुलना में पेट्रोल लगभग 20 रुपये सस्ता है, जबकि नेपाल में पेट्रोलियम पदार्थों की सप्लाई भारत से ही पाइप लाइन के जरिए होती है. आज के दिन नेपाल में नेपाली करेंसी के हिसाब से 116 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल का दाम है, जो भारतीय रुपये में 72.50 पैसे हुआ, जबकि भारत के बॉर्डर एरिया में 93.61 पैसा पेट्रोल की कीमत है. इसी तरह नेपाल में डीजल नेपाली मुद्रा में 99 रुपये प्रति लीटर है, जो 61.88 पैसा भारतीय रुपये हुए, जबकि भारत के सीमाई इलाकों में डीजल का रेट 86.85 पैसा प्रतिलीटर हुआ. इस तरह डीजल में भी लगभग 25 रुपये का अंतर है.

तस्करी पर लगाई रोक
नेपाल में पेट्रोल डीजल के दाम कम होने के कारण बिहार के बॉर्डर एरिया के लोग धड़ल्ले से पेट्रोल डीजल की तस्करी नेपाल से करते हैं. नेपाल सरकार ने इस पर अंकुश लगाने के लिए कैन, कनस्तर और ड्रम में डीजल पेट्रोल देना बंद कर दिया है. भारतीय  निजी चार पहिया वाहनों का भी नेपाल में प्रवेश बंद है, जो बड़ी गाड़ियां ट्रक या लॉरी जो जरूरी सामान लेकर नेपाल जाती हैं, उन्हें भी सीमित मात्रा में हीं डीजल दिया जा रहा है, लेकिन इसके बावजूद नेपाल से पेट्रोलियम पदार्थों की तस्करी जारी है. बिहार की सीमा के आसपास के पेट्रोल पम्पों पर इसका सीधा असर पड़ रहा है.


घट गई बिक्री 
सीमाई इलाके में पेट्रोल पम्पों की सेल लगभग 60 से 70 प्रतिशत घट गई है. रक्सौल में पेट्रोल पंप के मालिक जुगलकिशोर शिकारिया का कहना है कि पिछले 4 सालों से नेपाल में पेट्रोल डीजल सस्ता है. पहले ज्यादा का अंतर नहीं था, लेकिन अब ये अंतर 20  से 25 रुपए तक बढ़ गया है. दो पहिया वाहन तो नेपाल में ही पेट्रोल भरवाते हैं, जबकि खाद्य पदार्थ लेकर नेपाल जाने वाले मालवाहक ट्रक नेपाल में ही अपना टंकी फुल करा लेते हैं, जिसकी वजह से सीमाई इलाके के पेट्रोल पम्पों की हालत बुरी हो रही है.

तेल सस्ता गा​ड़ी महंगी 
हालांकि नेपाल में भारत से भले ही पेट्रोल डीजल सस्ता है, लेकिन यहां गाड़ी खरीदना आसान नहीं है. नेपाल में पैसेंजर गाड़ी काफी महंगी मिलती है. इसकी वजह है कस्टम ड्यूटी. भारत में जो गाड़ियां 10 लाख की मिलती हैं, उसकी कीमत नेपाल में लगभग 40 लाख के करीब होगी. 256%  कस्टम ड्यूटी की वजह से नेपाल में गाड़ियों की कीमत बेहद ऊंची हो जाती है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें