scorecardresearch
 
यूटिलिटी

अब 'हवाई जहाज' पर दांव लगाएंगे बिग बुल, 'Akasa' हो सकता है एयरलाइन का नाम

राकेश झुनझुनवाला का बड़ा दांव
  • 1/8

भारतीय शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला एविएशन सेक्टर में बड़ा निवेश करने की तैयारी में हैं. सूत्रों के मुताबिक राकेश झुनझुनवाला कम किराये वाली एक नई एयरलाइन में निवेश की योजना बना रहे हैं. (Photo: Getty Images)

 35 मिलियन डॉलर निवेश की योजना
  • 2/8

रिपोर्ट के मुताबिक, देश के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला इस नए वेंचर में 35 मिलियन डॉलर (करीब 260.7 करोड़ रुपये) निवेश कर सकते हैं. यह एयरलाइन सस्ती किराये वाली होगी. 

बातचीत अभी शुरुआती लेवल पर
  • 3/8

इसको लेकर राकेश झुनझुनवाला ने शुरुआती बातचीत भी की है. इकोनॉमिक्स टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक जेट एयरवेज के पूर्व सीईओ विनय दुबे की अगुवाई में एक टीम ने राकेश झुनझुनवाला और एक विदेशी निवेशक से बातचीत की है. (Photo: File)

एयरलाइन का नाम तय
  • 4/8

इस एयरलाइन का नाम Akasa (आकाश) हो सकता है. नाम को लेकर उडड्यन मंत्रालय के पास नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट के लिए आवेदन किया गया है. सूत्रों के मुताबिक एविएशन मिनिस्ट्री की एनओसी पहला कदम है.  
 

अभी बातचीत शुरुआती दौर
  • 5/8

हालांकि अभी बातचीत शुरुआती दौर में है. अगर यह प्रस्ताव आगे बढ़ता है तो इस नई एयरलाइंस कंपनी में झुनझुनवाला को करीब 40 फीसदी इक्विटी होल्डिंग मिलेगी. 
 

फंड जुटाना चुनौती
  • 6/8

मीडिया रिपोर्ट की मानें तो फंड्स जुटाने के लिए इस नई एयरलाइंस टीम को एक मजबूत बिजनेस प्लान के साथ सामने आना होगा. आगे का प्लान इस पर निर्भर करता है कि वे कितना फंड जुटा पाते हैं. खबरों के मुताबिक अगले साल के मध्य में एयरलाइन शुरू करने की योजना है. 

पहले भी लगा चुके हैं दांव
  • 7/8

गौरतलब है कि एयरलाइंस कंपनियों में राकेश झुनझुनवाला पहले भी दांव लगा चुके हैं. उनकी स्पाइसजेट में करीब 1 फीसदी की हिस्सेदारी थी. इसके अलावा बंद हो चुकी जेट एयरवेज में भी उनकी करीब 1 फीसदी हिस्सेदारी थी. जेट एयरवेज का परिचालन 2019 से बंद है.

संकट में एविएशन सेक्टर
  • 8/8

कोरोना संकट की वजह से विमानन उद्योग को पिछले करीब 15 महीनों में सबसे ज्यादा नुकसान हुआ है. आर्थिक सेहत बिगड़ने की वजह से एयरलाइंस कंपनियों को कर्मचारियों की छंटनी और वेतन में कटौती करनी पड़ी है. ऐसे में इस सेक्टर पर दांव लगाना एक चुनौती होगी.