scorecardresearch
 
यूटिलिटी

500 रुपये से करें निवेश की शुरुआत, देखते ही देखते बन जाएंगे करोड़पति!

करोड़पति बनने के तरीके!
  • 1/9

निवेश की शुरुआत करने के लिए कोई मोटी रकम की जरूरत नहीं होती है. आप हर महीने नियमित तौर पर एक छोटी राशि निवेश कर बड़ा फंड  बना सकते हैं. अगर आप घर, गाड़ी, बच्चों की पढ़ाई, बच्चों की शादी या फिर अपने रिटायरमेंट के लिए प्लान कर रहे हैं, तो इस प्लान को अंजाम तक पहुंचाने के लिए निवेश के रास्ते पर चलना होगा. (Photo: Aajtak)

निवेश के प्रति जागरूक होने की जरूरत
  • 2/9


निवेश को लेकर अक्सर लोग कहते हैं कि कुछ समय बाद शुरू करेंगे. लेकिन उनके लिए वो वक्त कभी नहीं आता. क्योंकि वो निवेश को गंभीरता से नहीं लेते. आज की तारीख में जितना जरूरी बचत पर फोकस करना है, उतना ही निवेश को लेकर भी गंभीर होने की जरूरत है. लेकिन इन सबके बीच बड़ा सवाल ये होता है कि निवेश कहां करें.?  

म्यूचुअल फंड में निवेश
  • 3/9


दरअलस, बेहतर रिटर्न को देखते हुए आज के दौर में वित्तीय सलाहकार निवेशकों को म्यूचुअल फंड में निवेश की सलाह देते हैं. म्यूचुअल फंड में निवेश करना बेहद आसान है. किसी भी उम्र के लोग म्‍यूचुअल फंड में SIP कर सकते हैं. लेकिन कम उम्र में निवेश की शुरुआत करने पर लक्ष्य को आसानी से हासिल किया जा सकता है. (Photo: Getty) 

 म्यूचुअल फंड में निवेश के तरीके
  • 4/9

बैंक खातों पर लगातार घट रहे ब्याज से म्यूचुअल फंड निवेश का एक बेहतर माध्यम बनकर उभरा है. म्यूचुअल फंड में SIP तीन तरीके से शुरू किया जा सकता है. पहला- म्यूचुअल फंड एजेंट के जरिये. दूसरा- ब्रोकर से ऑनलाइन ट्रेडिंग अकाउंट खोलकर SIP करें. इसके अलावा तीसरा तरीका है कि म्यूचुअल फंड के डायरेक्ट प्लान में निवेश करें. इसके लिए म्यूचुअल फंड की कंपनियों की वेबसाइट पर जाकर निवेश करना पड़ता है. 

SIP के जरिए निवेश
  • 5/9

सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान (SIP) म्यूचुअल फंड में निवेश का एक तरीका है. इसके जरिये निवेश करने पर अच्छा रिटर्न पाना आसान हो जाता है. SIP के जरिए किसी भी डायवर्सिफाइड म्यूचुअल फंड में निवेश किया जा सकता है. म्यूचुअल फंड में 500 रुपये महीने से निवेश की शुरुआत की जा सकती है. यानी म्यूचुअल फंड में निवेश के कोई बड़ी रकम की जरूरत नहीं होती है.  

कैसे बनें करोड़पति?
  • 6/9

अगर आपको बड़ा फंड चाहिए तो निवेश को हर महीने जारी रखना पड़ेगा. इसके अलावा आमदनी बढ़ने के साथ निवेश की राशि को भी बढ़ाने की जरूरत होगी. उदाहरण के तौर के अगर कोई 25 साल का युवा 500 रुपये से म्यूचुअल फंड में निवेश की शुरुआत करता है, तो उसे हर 6 महीने में कम से कम 500 रुपये का निवेश बढ़ाना चाहिए. इस तरह से 5 साल के बाद यानी 30 की उम्र में निवेश की राशि बढ़कर 5000 रुपये महीने हो जाएगी. यह बिल्कुल संभव है, क्योंकि लगभग हर साल नौकरी-पेशा लोगों की सैलरी बढ़ती है. यही नहीं, जब आप शुरुआती दो साल में अपने निवेश से रिटर्न को देखेंगे तो उससे आपका निवेश के प्रति उत्साह बढ़ेगा. 

5 हजार रुपये महीने के निवेश पर 3.5 करोड़ का रिटर्न
  • 7/9

उदाहरण के लिए अगर कोई 30 की उम्र से म्यूचुअल फंड में अगले 30 साल तक हर महीने 5000 रुपये का निवेश करता है, तो उसे 60 साल की उम्र में 1,76,49,569 रुपये मिलेगा. यह आंकलन 5 हजार रुपये महीने के निवेश पर 12% ब्याज हिसाब से लगाया गया है. अगर उसपर 15 फीसदी का ब्याज मिलता है तो फिर कुल रिटर्न 3,50,49,103 रुपये मिलेगा. वहीं अगर ब्याज 10 फीसदी भी मिलता है तो 5 हजार रुपये महीने के निवेश पर 30 साल के बाद कुल 1,13,96,627 रुपये रिटर्न मिलेगा. 

फंड चयन का रखें ख्याल
  • 8/9

हालांकि कुछ म्यूचुअल फंड ने उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं दिए हैं. छोटे निवेशकों के लिए फंड का चुनाव करना सबसे मुश्किल काम होता है, क्योंकि सही फंड का चयन करने के लिए काफी शोध की जरूरत होती है. इसलिए म्यूचुअल फंड में निवेश से पहले सभी पहलुओं पर विचार कर लें, किसी वित्तीय जानकार से सलाह जरूर लें. क्योंकि म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार निवेश बाजार के जोखिमों के अधीन होता है. 

म्यूचुअल फंड में निवेश का जोखिम
  • 9/9

म्यूचुअल फंड कंपनियां निवेशकों से पैसे जुटाती हैं और उसका एक बड़ा हिस्सा शेयर बाजारों में निवेश करती हैं. इसके बदले म्यूचुअल फंड निवेशकों से चार्ज लेती हैं. खासकर जो लोग शेयर बाजार में निवेश के बारे में बहुत नहीं जानते, उनके लिए म्यूचुअल फंड निवेश का अच्छा विकल्प है. म्यूचुअल फंड में आपको चुनने की आजादी होती है.