scorecardresearch
 

Share Market ने खोई सारी तेजी, 800 अंक चढ़ने के बाद गिरा Sensex, Nifty 15,800 अंक से नीचे बंद

जैसे ही बाजार खुला, सेंसेक्स 500 अंक से ज्यादा मजबूती में रहा. दिन के कारोबार में सेंसेक्स एक समय 800 अंक से ज्यादा मजबूत होकर 53,785.71 अंक पर पहुंच गया. हालांकि इसके बाद बाजार में भारी बिकवाली होने लगी. देखते-देखते सेंसेक्स लाल हो गया.

X
अच्छी शुरुआत के बाद गिर गया बाजार अच्छी शुरुआत के बाद गिर गया बाजार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इस सप्ताह हर रोज गिरा शेयर बाजार
  • ब्याज दरें बढ़ने के डर से हो रही बिकवाली

Stock Market Update: शेयर बाजार के लिए यह सप्ताह काफी बुरा साबित हुआ. आज शुक्रवार को सप्ताह के अंतिम सेशन में बाजार में कारोबार की शुरुआत तो अच्छी हुई, लेकिन शाम होते-होते हालात पूरी तरह से बदल गए. शुरुआती कारोबार में बीएसई सेंसेक्स और एनएसई निफ्टी 1-1 फीसदी से ज्यादा चढ़े हुए थे, लेकिन बंद होते-होते दोनों रेड जोन में चले गए.

घरेलू बाजार आज प्री-ओपन में भी मजबूत था. प्री-ओपन सेशन में सेंसेक्स 635 अंक चढ़ा हुआ था. सिंगापुर एक्सचेंज में निफ्टी का फ्यूचर 0.74 फीसदी की मजबूती में था. इसके बाद जैसे ही बाजार खुला, सेंसेक्स 500 अंक से ज्यादा मजबूती में रहा. दिन के कारोबार में सेंसेक्स एक समय 800 अंक से ज्यादा मजबूत होकर 53,785.71 अंक पर पहुंच गया. हालांकि इसके बाद बाजार में भारी बिकवाली होने लगी. देखते-देखते सेंसेक्स लाल हो गया. कारोबार समाप्त होने के बाद बीएसई सेंसेक्स 136.69 अंक (0.26 फीसदी) गिरकर 52,793.62 अंक पर बंद हुआ. निफ्टी 25.85 अंक के नुकसान के साथ 15,782.15 अंक पर बंद हुआ.

गुरुवार को 1400 अंक तक गिरा सेंसेक्स

इससे पहले गुरुवार को कारोबार के दौरान सेंसेक्स एक समय करीब 1,400 अंक तक गिर गया था. कारोबार समाप्त होने के बाद सेंसेक्स 1,158.08 अंक (2.14 फीसदी) के नुकसान के साथ 52,930.31 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह एनएसई निफ्टी 359.10 अंक (2.22 फीसदी) के नुकसान के साथ 15,808 अंक पर बंद हुआ था. बीते 1 महीने में सेंसेक्स 5,500 अंक टूट चुका है. निफ्टी भी बीते एक महीने में करीब 10 फीसदी गिरा है.

सप्ताह भर बाजार में चला गिरावट का दौर

घरेलू बाजार के लिए यह सप्ताह काफी बुरा साबित हुआ है. इस सप्ताह निफ्टी 2.32 फीसदी और सेंसेक्स करीब 1,500 अंक टूटा है. इस सप्ताह आज की तरह कई सेशन में बाजार ने शुरुआत तो अच्छी की, लेकिन बंद होते-होते गिरावट में चला गया. बुधवार को भी अच्छी शुरुआत के बाद बाजार गिरावट में चला गया था. सेंसेक्स 276.46 अंक (0.51 फीसदी) गिरकर 54,088.39 अंक पर बंद हुआ था. निफ्टी भी 72.95 अंक (0.45 फीसदी) लुढ़ककर 16,167.10 अंक पर रहा था.

मंगलवार को कारोबार समाप्त होने पर बीएसई सेंसेक्स 105.82 अंक (0.19 फीसदी) की गिरावट के साथ 54,364.85 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह एनएसई निफ्टी 61.80 अंक (0.38 फीसदी) के नुकसान के साथ 16,240.5 अंक पर बंद हुआ था. दोनों प्रमुख घरेलू इंडेक्स मंगलवार को भी शुरुआती कारोबार में कुछ मजबूती में थे, लेकिन बाद में बाजार ने सारी तेजी खो दी थी.

सोमवार को बीएसई सेंसेक्स 364.91 अंक (0.67 फीसदी) गिरकर 54,470.67 अंक पर बंद हुआ था. एनएसई निफ्टी भी 109.40 अंक (0.67 फीसदी) के नुकसान के साथ 16,301.85 अंक पर बंद हुआ था. सोमवार के कारोबार में सेंसेक्स एक समय 900 अंक तक गिर गया था और 54 हजार अंक से भी नीचे आ गया था.

दुनिया के कई बाजार गिरावट की चपेट में

ग्लोबल मार्केट की बात करें तो अमेरिकी बाजार कल भी गिरावट में रहे थे. गुरुवार को डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज 0.3 फीसदी के नुकसान में रहा था. इसी तरह एसएंडपी500 और नास्डैक कंपोजिट दोनों 0.1 फीसदी गिरकर बंद हुए थे. ज्यादातर एशियाई बाजार आज बढ़त में बंद हुए. जापान का निक्की 2.64 फीसदी चढ़कर बंद हुआ. चीन का शंघाई कंपोजिट भी करीब एक फीसदी की बढ़त में रहा. हांगकांग के हैंगसेंग में 2.68 फीसदी की तेजी आई.

अमेरिका में फेडरल रिजर्व तेजी से ब्याज दरें बढ़ाने का संकेत दे चुका है. ऐसा माना जा रहा है कि अगले दो महीने में फेडरल रिजर्व ब्याज दर को 01 फीसदी बढ़ा सकता है. इससे रिजर्व बैंक के ऊपर भी तेजी से रेपो रेट बढ़ाने का प्रेशर बनेगा. अप्रैल में खुदरा महंगाई की दर 08 साल के उच्च स्तर पर पहुंच जाने से भी रेपो रेट बढ़ाने का दबाव बना है. एनालिस्ट मान रहे हैं कि इस फाइनेंशियल ईयर में रिजर्व बैंक भी ब्याज दर को 01 फीसदी तक बढ़ा सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें