scorecardresearch
 

नीतीश के साथ दिखे तेजस्वी यादव,10 लाख नौकरियों के सवाल पर बोले- तारीख तो तय हो जाने दीजिए

विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी के मुद्दे को जमकर भुनाया था, जिससे युवाओं में एक उम्मीद जगी थी. लेकिन उस समय सरकार नहीं बन पाई. लेकिन क्या अब तेजस्वी की पहली प्राथमिकता नौकरी होगी? देखना काफी दिलचस्प होगा कि रोजगार के मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरने वाले तेजस्वी, उनके साथ मिलकर युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए किस तरह से काम करते हैं.

X
नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव (फाइल फोटो) नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जल्द होगा नई सरकार का शपथ ग्रहण
  • तेजस्वी ने 10 लाख नौकरी देने का किया था वादा

आखिरकार नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने वो काम कर दिया, जिसकी अटकलें लंबे समय से लगाई जा रही थीं. नीतीश कुमार बीजेपी (BJP) का साथ छोड़ अब महागठबंधन के हो गए हैं. राजद और जेडीयू के बीच सत्ता में साझेदारी को लेकर बात बन गई है. नीतीश कुमार और राजद नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने एक साथ मीडिया के तमाम सवालों के जवाब दिए. तेजस्वी ने साथ ही उस सवाल का भी जवाब दिया, जिसका जवाब बिहार के लाखों युवा सुनना चाह रहे थे. 2020 के विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने बिहार के 10 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देना का वादा किया था, लेकिन तब वो सत्ता तक नहीं पहुंच पाए थे.

अब जब वो नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार में साझेदार बनने जा रहे हैं, तो बिहार के युवाओं को उनके किए वादे याद आने लगे हैं. अब तेजस्वी बिहार की सत्ता पर नीतीश के साथ काबिज होने जा रहे हैं, तो जाहिर है प्रदेश के युवा उनसे नौकरी की मांग करेंगे.

नौकरी के सवाल पर तेजस्वी का जवाब

आज जब नीतीश कुमार के साथ तेजस्वी यादव मीडिया के सामने आए, तो उनसे 10 लाख सरकारी नौकरी देने को लेकर सवाल पूछा गया. इस सवाल का जवाब देते हुए राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा- 'तारीख तो तय हो जाने दीजिए'. 

जल्द होगा शपथ ग्रहण समारोह

नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव ने बिहार के राज्यपाल फागू चौहान से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. उन्होंने 164 विधायकों के समर्थन की चिट्ठी सौंपी है. जल्द ही नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह भी होना है. लेकिन ये कब होगा, अभी तक स्पष्ट नहीं. इस पर नीतीश कुमार ने सिर्फ इतना कहा है कि राज्यपाल जो भी तारीख तय करेंगे, उस दिन ये समारोह किया जाएगा.

तेजस्वी ने भुनाया था नौकरी का मुद्दा

विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी के मुद्दे को जमकर भुनाया था, जिससे युवाओं में एक उम्मीद जगी थी. लेकिन उस समय सरकार नहीं बन पाई. लेकिन क्या अब तेजस्वी की पहली प्राथमिकता नौकरी होगी? राजद नेता तेजस्वी यादव ने 2020 की चुनावी रैलियों में मंचों से 10 लाख युवाओं को नौकरी देने का ऐलान किया.

10 लाख सरकारी नौकरी का वादा

बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव ने कहा था कि अगर उनकी सरकार बनती है तो पहली ही कैबिनेट बैठक में बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी का आदेश देंगे. तेजस्वी यादव ने तब ट्वीट कर लिखा था कि बिहार में 4 लाख 50 हजार रिक्तियां पहले से ही हैं. शिक्षा, स्वास्थ्य, गृह विभाग सहित अन्य विभागों में राष्ट्रीय औसत के मानकों के हिसाब से बिहार में अभी 5 लाख 50 हजार नियुक्तियों की अत्यंत आवश्यकता है.

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा था कि पहली कैबिनेट में बिहार के 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे. अब ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि रोजगार के मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरने वाले तेजस्वी, उनके साथ मिलकर युवाओं के बेहतर भविष्य के लिए किस तरह से काम करते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें