scorecardresearch
 

LIC IPO से नुकसान, दूसरे रास्ते से निवेशकों को खुश कर सकती है सरकार, ये है प्लान B

एलआईसी आईपीओ के लिए 902-949 रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया था. कंपनी का शेयर बाजार में करीब 9 फीसदी के डिस्काउंट के साथ लिस्ट हुआ था. एलआईसी के आईपीओ का साइज (LIC IPO Size) 20,557 करोड़ रुपये था और इसे 2.95 गुना सब्सक्राइब किया गया था.

X
मिल सकता है बंपर डिविडेंड मिल सकता है बंपर डिविडेंड
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इसी महीने हुई है एलआईसी की लिस्टिंग
  • 9% गिरकर लिस्ट हुए थे LIC के शेयर

सरकारी बीमा कंपनी एलआईसी के आईपीओ (LIC IPO) को भले ही खूब हाइप मिला, लेकिन इसका परफॉर्मेंस खास नहीं रहा. पहले तो कंपनी के शेयर डिस्काउंट पर लिस्ट हुए, फिर इसके भाव में लगातार गिरावट आई. इससे इन्वेस्टर्स को काफी निराशा हुई. एलआईसी के ऐसे इन्वेस्टर्स के लिए अब एक अच्छी खबर है. कंपनी इसी महीने अपना पहला तिमाही परिणाम (LIC Result)  जारी करने वाली है और इसमें इन्वेस्टर्स के लिए डिविडेंड (LIC Dividend) का भी ऐलान होने वाला है.

इस दिन आएगा पहला तिमाही परिणाम

एलआईसी ने बीएसई (BSE) को बताया कि वह 30 मई को अपना पहला तिमाही परिणाम जारी करेगी. उसने कहा कि वह 30 मई को मार्च तिमाही के ऑडिटेड फाइनेंशियल रिजल्ट पर विचार करेगी और उसे मंजूरी देगी. इसके अलावा इन्वेस्टर्स को अगर कोई डिविडेंड का भुगतान करना है, तो इसे भी 30 मई को मंजूरी दी जाएगी.

अभी इश्यू प्राइस से इतना नीचे है शेयर

मंगलवार को दिन के कारोबार में बीएसई पर एलआईसी का शेयर 1.59 फीसदी की बढ़त के साथ 829.85 रुपये पर ट्रेड कर रहा था. यह अभी भी इश्यू प्राइस (LIC IPO Issue Price) की तुलना में 12.55 फीसदी नीचे है. एलआईसी आईपीओ के लिए 902-949 रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया था. कंपनी का शेयर बाजार में करीब 9 फीसदी के डिस्काउंट के साथ लिस्ट हुआ था. एलआईसी के आईपीओ का साइज (LIC IPO Size) 20,557 करोड़ रुपये था और इसे 2.95 गुना सब्सक्राइब किया गया था. अभी कंपनी का एमकैप (LIC MCap) 5,24,626.93 करोड़ रुपये है.

इस कारण बंपर डिविडेंड की उम्मीद

एनालिस्ट बता रहे हैं कि शेयर के भाव में गिरावट के बाद भी एलआईसी के इन्वेस्टर्स (LIC Investors) को फायदा हो सकता है. कंपनी ने पिछले साल भी डिविडेंड नहीं दिया था. चूंकि सरकार की योजना एलआईसी के 25 फीसदी शेयर बेचने की है और आईपीओ से महज 3.5 फीसदी हिस्सेदारी ही बेची जा सकी है, सरकार आने वाले समय में एफपीओ (LIC FPO) ला सकती है. एफपीओ को इन्वेस्टर्स हाथों-हाथ ले, इसके लिए आईपीओ में पैसे लगाने वालों का फायदे में रहना जरूरी है. इस वजह से उम्मीद की जा रही है कि एलआईसी के इन्वेस्टर्स को बंपर डिविडेंड मिल सकता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें