scorecardresearch
 

नहीं बढ़ी ITR भरने की लास्ट डेट, अब आयकर विभाग को मिला कानूनी नोटिस!

यदि आप आईटीआर फाइल करने की समय सीमा चूक गए लेक‍िन आपकी टैक्स देनदारी बनती है तो आप  पर हर महीने के हिसाब से 1 फीसदी पेनल्टी लग सकती है. यह पेनल्टी तब तक लगेगी, जब तक आप टैक्स का भुगतान नहीं करते है. इसलिए डेडलाइन आगे नहीं बढ़ने की वजह से आयकर विभाग को लीगल नोटिस भेजा गया है.

X
आयकर विभाग को मिला कानूनी नोटिस (Photo: Getty) आयकर विभाग को मिला कानूनी नोटिस (Photo: Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • देरी से ITR भरने पर देना पड़ रहा जुर्माना
  • खराब मौसम की वजह से नहीं भर सके ITR

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की लास्ट डेट 31 दिसंबर 2021 को ही जा चुकी है. कई लोगों और संगठनों की ओर से इस तारीख को आगे बढ़ाने के लिए कहा गया, लेकिन वित्त मंत्रालय ने इससे साफ-साफ इनकार कर दिया. लेकिन अब इसी बात को लेकर Income Tax Department को कानूनी नोटिस भेजा गया है. आखिर किसने भेजा है नोटिस...

लेट ITR भरने पर लग रहा जुर्माना
आयकर रिटर्न भरने की आखिरी डेट जाने के बाद अब अगर कोई वित्त वर्ष 2020-21 के लिए ITR दाखिल करता है, तो उसे अधिकतम 5,000 रुपये का जुर्माना देना होगा. 5 लाख रुपये तक की कर योग्य आय के लिए जुर्माने की राशि 1,000 रुपये है. 

भेजा गया कानूनी नोटिस
आयकर विभाग के आईटीआर भरने की आखिरी तारीख नहीं बढ़ाने को लेकर ऑल ओडिशा टैक्स एडवोकेट्स एसोसिएशन (एओटीएए) ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) को कानूनी नोटिस भेजा है. आयकर विभाग के लिए CBDT ही नियम कायदे बनाता है. ईटी की खबर के मुताबिक इस नोटिस में ओडिशा के कई करदाताओं (Taxpayer) की ओर से सवाल खड़े किए गए हैं और विभाग के नए पोर्टल की कई तकनीकी खामियों का भी जिक्र किया गया है.

एसोसिएशन ने अपने नोटिस में कहा है कि आईटीआर फाइल करने के पोर्टल को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि रिटर्न फॉर्म भरने और उसे अपलोड करने में बहुत समय लगता है. कई बार आईटीआर फॉर्म भरने के समय बीच में ही दिक्कतें आने लगती हैं. इसलिए ओडिशा में कई टैक्सपेयर 31 दिसंबर की अंतिम तारीख तक आईटीआर फाइल नहीं कर सके.

खराब मौसम भी जिम्मेदार
कानूनी नोटिस में ओडिशा में बार-बार आए चक्रवात, बारिश-तूफान, खराब इंटरनेट और बिजली की समस्या का भी हवाला दिया गया है़. इसी वजह से राज्य के कई टैक्सपेयर समय पर रिटर्न नहीं दाखिल कर पाए हैं. हालांकि देशभर में 31 दिसंबर तक 5.89 करोड़ रिटर्न दाखिल किए गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें