scorecardresearch
 

ATM पर फर्जीवाड़े को कैसे रोकें? ये 4 आसान Tips रखें याद

How to prevent ATM fraud: अपने डेबिट कार्ड का पिन समय-समय पर बदलते रहना जरूरी प्रैक्टिस है. सभी बैंक ग्राहकों को इस बारे में जागरुक करते रहते हैं. बैंक लगातार एटीएम कार्ड को ज्यादा सिक्योर बनाने का प्रयास करते रहते हैं. चिप वाले कार्ड इसी बात को ध्यान में रखकर शुरू किए गए हैं.

X
फ्रॉड से बचने के लिए सावधानी जरूरी फ्रॉड से बचने के लिए सावधानी जरूरी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एटीएम से फ्रॉड करने वाले लगा सकते हैं चूना
  • एटीएम फ्रॉड से बचने के लिए जरूरी है सावधानी

कैश निकालना हो या शॉपिंग करना हो, लोग बड़े स्तर पर डेबिट कार्ड यानी एटीएम कार्ड का इस्तेमाल करते हैं. इसने लोगों का जीवन आसान बना दिया है और कैश कैरी करने की जरूरत समाप्त हो गई है. दूसरी ओर एटीएम के कारण एक झटके में कंगाल हो जाने का रिस्क भी बढ़ गया है. थोड़ी सी गलती हुई और आपका पूरा अकाउंट खाली हो सकता है. इससे बचने के लिए कुछ आसान आदतें अपना लेने की जरूरत है.

किसी अनजान से न लें मदद

फ्रॉड करने वाले जालसाज अपनकी मेहनत की कमाई को चूना लगाने के लिए तरह-तरह के तिकड़म अपनाते हैं. कई बार जालसाज मददगार बनकर आते हैं. इस बात की गांठ बांध लें कि एटीएम के अंदर कभी भी किसी अनजबी की मदद नहीं लें. कोई परेशानी आ रही हो या कुछ समझ में नहीं आ रहा हो तो बैंक के गार्ड से पूछ लें. अनजान आदमी कोई ठग हो सकता है और वह आपकी मदद के नाम पर अकाउंट से पैसे उड़ा सकता है.

सुनसान जगह वाले एटीएम से बचें

आजकल ऐसे भी मामले सामने आ रहे हैं, जिनमें जालसाज कार्ड का क्लोन तैयार कर लेते हैं. इसके लिए एटीएम के कार्ड वाले स्लॉट में स्कीमर नाम की डिवाइस लगा देते हैं. इस डिवाइस में आपके कार्ड का सारा डेटा स्टोर हो जाता है. जालसाज इस डेटा से आपके कार्ड का क्लोन तैयार करते हैं और आपको चपत लगा देते हैं. इसके अलावा कई बार ठग कीबोर्ड का भी इस्तेमाल करते हैं. इससे बचने के लिए ऐसे एटीएम का इस्तेमाल करें जिसमें कैमरा लगा हो और भीड़भाड़ वाली जगहों पर हो. ठगी के ऐसे मामलों में ज्यादातर ऐसे एटीएम इस्तेमाल किए गए हैं, जो सुनसान जगहों पर थे या जहां लोगों का आना-जाना कम होता था.

कभी न दें ये जानकारी

कई बार अनजान कॉलर बैंक का अधिकारी बनकर ग्राहकों को फोन करता है और जानकारी चुराने का प्रयास करता है. ध्यान रखें कि बैंक कभी भी आपसे ओटीपी, सीवीवी या कार्ड से जुड़ी कोई अन्य जानकारी फोन पर नहीं मांगता है. ओटीपी, सीवीवी या कोर्ड की कोई जानकारी फोन पर साझा करना खतरनाक हो सकता है.

अपडेट करते रहें पिन और कार्ड

अपने डेबिट कार्ड का पिन समय-समय पर बदलते रहना जरूरी प्रैक्टिस है. सभी बैंक ग्राहकों को इस बारे में जागरुक करते रहते हैं. बैंक लगातार एटीएम कार्ड को ज्यादा सिक्योर बनाने का प्रयास करते रहते हैं. चिप वाले कार्ड इसी बात को ध्यान में रखकर शुरू किए गए हैं. अगर आपका बैंक आपको कार्ड अपग्रेड करने के लिए कहता है तो अपने ब्रांच जाकर यह काम जरूर करा लें. बेहतर सिक्योरिटी फीचर्स वाले कार्ड से ठगी कर पाना मुश्किल होता है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें