scorecardresearch
 

कस्टमर सर्विस से हुआ परेशान तो गधे से बांध कर निकाली ओला स्कूटर की परेड

इस पूरे प्रकरण का वीडियो एक स्थानीय न्यूज चैनल ने इंस्टाग्राम पर डाल दिया. वीडियो कुछ ही देर में वायरल हो गया. वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि गिट्टे ओला स्कूटर को गधे से बांध कर शहर में घुमा रहे हैं. खबरों की मानें तो गिट्टे ने महज छह दिन पहले ही ओला का नया स्कूटर लिया था.

X
गदहे से बांध शहर में घुमाया (Photo: Screengrab) गदहे से बांध शहर में घुमाया (Photo: Screengrab)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 6 दिन में ही खराब हुआ ओला का नया स्कूटर
  • कंपनी ने न तो रिप्लेस किया, न ठीक

हाल ही में इलेक्ट्रिक स्कूटरों (Electric Scooters) के 2 मॉडल लॉन्च करने के बाद ओला इलेक्ट्रिक (Ola Electric) लगातार विवादों में है. पहले स्कूटरों की डिलीवरी में देरी को लेकर विवाद हुआ, जो बाद में खराब क्वालिटी और बिक्री के आंकड़ों तक पहुंच गया. इसके बाद कभी अचानक आग लग जाने की खबर आई तो कभी अन्य तकनीकी खामियों की. ताजा मामला महाराष्ट्र (Maharashtra) का है, जहां एक व्यक्ति ने कस्टमर सर्विस के रिस्पॉन्स से नाराज होकर ओला स्कूटर (Ola Scooter) को गधे से बांध कर परेड निकाला.

दरअसल महाराष्ट्र के बीड जिले के रहने वाले सचिन गिट्टे ने हाल ही में ओला का इलेक्ट्रिक स्कूटर लिया था. कुछ ही दिनों में स्कूटर में खराबियां आने लग गईं और वह बंद हो गया. उसने इस बारे में ओला के कस्टमर सर्विस से संपर्क किया, लेकिन उसे सही से रिस्पॉन्स नहीं मिला. इससे नाराज होकर उसने ओला स्कूटर को गधे से बांधा और शहर भर में घुमाया. इसके साथ ही उसने बैनर लगाकर लोगों से ओला पर भरोसा नहीं करने का अनुरोध किया.

इस पूरे प्रकरण का वीडियो एक स्थानीय न्यूज चैनल ने इंस्टाग्राम पर डाल दिया. वीडियो कुछ ही देर में वायरल हो गया. वायरल वीडियो में देखा जा सकता है कि गिट्टे ओला स्कूटर को गधे से बांध कर शहर में घुमा रहे हैं. खबरों की मानें तो गिट्टे ने महज छह दिन पहले ही ओला का नया स्कूटर लिया था. स्कूटर ने अचानक से काम करना बंद कर दिया. इसके बाद उन्होंने कंपनी से संपर्क किया, जिसके बाद ओला के एक मैकेनिक ने उनके स्कूटर की जांच की.

खबरों के अनुसार, इसके बाद कंपनी की ओर से कोई भी खराब स्कूटर को ठीक करने नहीं आया. गिट्टे के हवाले से बताया गया है कि उन्होंने इसके बाद कई बार कस्टमर केयर को कॉल किया, लेकिन टाल-मटोल के अलावा कुछ भी हाथ नहीं लगा. इससे गिट्टे नाराज हो गए और उन्होंने अनोखे तरीके से विरोध जताने का निर्णय लिया. गिट्टे ने स्कूटर को गधे से बांधा और कंपनी के विरोध का बैनर लगाकर उसे शहर भर में घुमाया. एक बैनर पर लिखा हुआ था, ओला जैसी धोखेबाज कंपनी से सवाधान. वहीं एक अन्य बैनर में लिखा था, ओला कंपनी के टू-व्हीलर्स नहीं खरीदें.

गिट्टे पेशे से ट्रेडर हैं. उन्होंने सितंबर 2021 में ओला स्कूटर की बुकिंग की थी और उन्हें 24 मार्च 2022 को इसकी डिलीवरी मिली थी. समस्या का समाधान नहीं होने पर वह कंज्यूमर फोरम में भी इसकी शिकायत कर चुके हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि ओला कंपनी की ओर से ग्राहकों को कोई फाइनेंशियल प्रोटेक्शन नहीं मिलता है. शिकायत के बाद भी न तो खराब स्कूटर को रिप्लेस किया, न ही उसे ठीक किया गया. गिट्टे ने सरकार से ओला के खिलाफ जांच और उचित कार्रवाई की भी मांग की. इस मामले में अभी कंपनी की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें