scorecardresearch
 

पेट्रोल नहीं, जल्द ही इथेनॉल से भी दौड़ेगी Activa! Honda ने बनाया ये प्लान

फ्लैक्स फ्यूल इंजन गाड़ियों में लगने वाले ऐसे इंजन होते हैं जो एक से ज्यादा ईंधन विकल्पों का उपयोग कर सकते हैं. ऐसे इंजन पेट्रोल के साथ-साथ इथेनॉल, सीएनजी, बायो-एलएनजी और इलेक्ट्रिक पॉवर को भी ईंधन की तरह उपयोग कर सकते हैं.

X
जल्द ही इथेनॉल से भी दौड़ेगी Activa (सांकेतिक फोटो) जल्द ही इथेनॉल से भी दौड़ेगी Activa (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • फ्लेक्स-फ्यूल से गाड़ी चलाना सस्ता
  • 10 साल से बेच रही फ्लैक्स-फ्यूल गाड़ी

कुछ वक्त पहले सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने सभी कंपनियों से फ्लैक्स फ्यूल टेक्नोलॉजी पर सीरियस तरीके से काम करने के लिए कहा था. अब Honda Motorcycles and Scooter India (HMSI) ने भी इसके लिए लंबा-चौड़ा प्लान बना लिया है. मतलब साफ है कि आने वाले दिनों में आपको ऐसी Honda Activa या कोई मोटर साइकिल देखने को मिल सकती है, जो पेट्रोल के साथ-साथ इथेनॉल या किसी और ईंधन से भी सड़कों पर दौड़े.

इस देश में 10 साल से हैं ऐसी गाड़ियां
HMSI अभी इस बात का अध्ययन कर रही है कि भारत में पेट्रोल में कितना इथेनॉल मिलाया जा सकता है. ताकि उसकी गाड़ियों की परफॉर्मेंस भी बरकरार रहे और उसके इंजन पर भी असर ना पड़े. कंपनी फ्लैक्स-फ्यूल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल पिछले 10 साल से ब्राजील में कर रही है और इसे वहां काफी सक्सेस मिली है. Honda अब तक फ्लेक्स-फ्यूल वाले 70 लाख से ज्यादा 2-व्हीलर बेच चुकी है.

2024 तक आने की उम्मीद
इंडिया में फ्लेक्स-फ्यूल इंजन वाले 2-व्हीलर्स को कंपनी 2024 तक लॉन्च कर सकती है. इस पर अभी काम चल रहा है. उससे पहले कंपनी इलेक्ट्रिक 2-व्हीलर्स और बैटरी स्वैपिंग नेटवर्क को स्थापित करने पर फोकस कर रही है. 

फ्लेक्स-फ्यूल से गाड़ी चलाना सस्ता
फ्लैक्स फ्यूल इंजन गाड़ियों में लगने वाले ऐसे इंजन होते हैं जो एक से ज्यादा ईंधन विकल्पों का उपयोग कर सकते हैं. ऐसे इंजन पेट्रोल के साथ-साथ इथेनॉल, सीएनजी, बायो-एलएनजी और इलेक्ट्रिक पॉवर को भी ईंधन की तरह उपयोग कर सकते हैं. एक तरह से आप इन्हें हाइब्रिड इंजन की तरह समझ सकते हैं. 

अगर फ्लैक्स फ्यूल इंजन के साथ गाड़ियां आती हैं, तो लोग अपनी गाड़ियां इथेनॉल से भी चला सकेंगे. इथेनॉल की कीमत 65 रुपये प्रति लीटर है, जबकि पेट्रोल इस समय करीब 100 रुपये प्रति लीटर का है. इथेनॉल की दहन क्षमता पेट्रोल के मुकाबले कम होती है. एक लीटर इथेनॉल 800 ग्राम पेट्रोल के बराबर काम करता है. इस तरह अगर गाड़ियों में फ्लैक्स फ्यूल इंजन आते हैं तो लोगों के प्रति लीटर पेट्रोल का खर्च 20 रुपये तक कम हो जाएगा. 

ये भी पढ़ें: 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें