scorecardresearch
 

सिकंदराबाद: नीचे चार्जिंग स्टेशन, ऊपर होटल... इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग के दौरान लगी आग, और चारों ओर मच गया कोहराम

यह घटना है तेलंगाना के सिकंदराबाद की. पासपोर्ट ऑफिस के पास एक चार मंजिला बिल्डिंग में ग्राउंड फ्लोर पर स्थित इलेक्ट्रिक व्हीकल शोरूम इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना का कारण बना. बताया जा रहा है कि शोरूम में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को चार्ज किया जा रहा था. इसी के कारण शॉट सर्किट होने से आग लगी और धीरे-धीरे पूरी बिल्डिंग लपटों और धुओं में डूब गई.

X
8 लोगों की हो गई मौत
8 लोगों की हो गई मौत

एक ओर सरकार देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (Electric Vehicles) को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है. वहीं दूसरी ओर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में आग लगने की घटनाएं (EV Fire Incident) थमने का नाम नहीं ले रही हैं. गर्मियों की आहट मिलते ही देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में आग लगने की घटनाओं का सिलसिला शुरू हुआ, जो बिना थमे जारी है. एक ताजा मामले में तो इलेक्ट्रिक व्हीकल में लगी आग इस कदर जानलेवा साबित हुई कि 08 लोगों की मौत हो गई. इससे पहले भी कई मामलों में इलेक्ट्रिक व्हीकल की आग में लोग जान गंवा चुके हैं, लेकिन एक ही घटना में इतने सारे लोगों की मौत का यह देश में पहला मामला है.

ऊपर की मंजिलों पर होटल-रेस्तरां

यह घटना है तेलंगाना के सिकंदराबाद की. पासपोर्ट ऑफिस के पास एक चार मंजिला बिल्डिंग में ग्राउंड फ्लोर पर स्थित इलेक्ट्रिक व्हीकल शोरूम इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना का कारण बना. बताया जा रहा है कि शोरूम में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को चार्ज किया जा रहा था. इसी के कारण शॉट सर्किट होने से आग लगी और धीरे-धीरे पूरी बिल्डिंग लपटों और धुओं में डूब गई. दरअसल जिस बिल्डिंग में यह हादसा हुआ, उसके ग्राउंड फ्लोर पर इलेक्ट्रिक व्हीकल शोरूम (EV Showroom) है और ऊपरी मंजिलों पर होटल व रेस्तरां है. होटल में ठहरे लोग इस दुर्घटना से काफी प्रभावित हुए. कई लोगों ने तो आग से बचने के लिए तीसरी-चौथी मंजिलों से छलांग लगा दी.

इस कारण आग लगने की आशंका

यह हादसा सोमवार की रात के करीब 10 बजे हुआ. निचले फ्लोर में लगी आग जब ऊपर उठने लगी और धुआं फैलने लगा तो होटल के कर्मचारियों व वहां ठहरे लोगों को इसकी भनक लगी. होटल के कर्मचारियों और ठहरे लोगों ने ही फायर डिपार्टमेंट को इसकी सूचना दी. पुलिस के अनुसार, शुरुआती जांच में पता चला है कि ग्राउंड फ्लोर पर इलेक्ट्रिक स्कूटरों को चार्ज किया जा रहा था. इसी के कारण शॉर्ट सर्किट होने से आग लगने की आशंका है. आग लगने के चलते करीब 24 लोग बिल्डिंग में फंस गए थे, जिनमें से 6 की तत्काल मौत हो गई. बाद में 2 अन्य लोगों की भी एक मौत हो गई. इस तरह मरने वालों की संख्या बढ़कर 8 हो गई, जिनमें एक महिला भी शामिल है. बाकी लोगों को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया. पुलिस का कहना है कि घटना का शिकार हुए ज्यादातर लोग अन्य राज्यों के हैं.

स्थानीय लोगों की मदद से बची कई जानें

हैदराबाद के कमिश्नर सीवी आनंद ने एएनआई को बताया, 'सिकंदराबाद में एक होटल में आग लगने से 6 लोगों की मौत हो गई. ग्राउंड फ्लोर पर इलेक्ट्रिक स्कूटर रिचार्जिंग यूनिट में आग लगी. इससे उठे धुएं ने पहले और दूसरे फ्लोर के लोगों को अपनी चपेट में ले लिया. बचे हुए लोगों ने ऊपर की मंजिलों से छलांग लगा दी और स्थानीय लोगों ने उन्हें सुरक्षित निकाला. घायलों को तुरंत नजदीकी अस्पतालों में भर्ती कराया गया.' वहीं तेलंगाना के होम मिनिस्टर मोहम्मद महमूद अली ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया. उन्होंने कहा कि आग लगने के कारणों की जांच की जा रही है.

प्रधानमंत्री ने किया मुआवजे का ऐलान

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने इस हादसे में शिकार हुए लोगों के लिए मुआवजे का ऐलान किया. प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से किए गए ट्वीट में हादसे पर दुख जाहिर किया गया. पीएमओ ने ट्वीट में प्रधानमंत्री की ओर से कहा, 'तेलंगाना के सिकंदराबाद में आग लगने की घटना में लोगों की मौत होने से दुख हुआ. पीड़ित परिवारों को सांत्वनाएं. घायल लोग जल्दी पूरी तरह से स्वस्थ हों. प्राइम मिनिस्टर नेशनल रिलीफ फंड से मृतकों के परिजनों को 02-02 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. वहीं हादसे में घायल हुए लोगों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें