scorecardresearch
 

Farmer's Success Story: परंपरागत खेती छोड़ ऐसे सालाना 7 लाख का मुनाफा कमा रहा किसान, जानें तरीका

Success Story of farmer: पारंपरिक फसलों के इतर बागवानी की फसलों की भी खेती कर किसान बढ़िया मुनाफा हासिल कर सकते हैं. सरकार भी अपने स्तर पर लगातार किसानों को फलदार वृक्षों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करती रहती है.

X
Haryana Farmer earning 7 lakh annualy by guava and peach orchard Haryana Farmer earning 7 lakh annualy by guava and peach orchard
स्टोरी हाइलाइट्स
  • परंपरागत खेती में हो रहा था नुकसान
  • 7 एकड़ में फैला है फलों का बगीचा

Farmer's Success Story: परंपरागत खेती-बाड़ी में लगातार कम होते हुए मुनाफे को देखने के बाद किसानों ने नए विकल्पों को तलाशना शुरू कर दिया है. इसी के तहत कई किसानों ने बागवानी की फसलों की तरफ रुख करना शुरू किया है. बागवानी की फसलों की बुवाई कर किसान कम लागत में ज्यादा मुनाफा हासिल कर सकते हैं. कुछ ऐसा ही उदाहरण पेश किया है हरियाणा के भुना के रहने वाले शुभम ने.

शुभम को गेहूं और धान की खेती में लगातार नुकसान हो रहा था, ऐसे में उन्होंने फलों का बगीचा लगाने की बात सोची. शुरुआत में उन्होंने दो एकड़ में आडू और अमरूद के पौधे लगाए, उन्हें बेहद कम वक्त में ही इसका अच्छा परिणाम दिखना शुरु हो गया. इसके बाद उन्होंने अपनी बगीचे के रकबे को बढ़ाकर 5 एकड़ और फिर 7 एकड़ कर इसकी खेती करनी शुरू कर दी.

शुभम कहते हैं कि गेहूं और धान की लगातार खेती से उनके भूजल का स्तर कम होता जा रहा था. इससे फसलों पर असर पड़ ही रहा है और खेती-किसानी में लागत भी बढ़ती जा रही थी, जिसकी वजह से वह लगातार घाटे में जा रहे थे. वह आगे कहते हैं कि फिलहाल वह 7 एकड़ में आडू और अमरूद की खेती कर रहे हैं और तकरीबन 7 लाख का शुद्ध मुनाफा हासिल कर रहे हैं.

शुभम बताते हैं कि अमरूद में वह सफेदा प्रजाति की खेती करती हैं. इसकी खास बात ये है कि इसके पौधे महज 10 महीने में ही फल देना शुरू कर देते हैं. इसके अलावा इसमें कीड़ा भी नहीं पड़ता है. डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर और फार्मर वेलफेयर हरियाणा के ट्वीट के मुताबिक आडू की खेती से 4 लाख और अमरूद से ढाई लाख तक का मुनाफा हासिल होता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें