scorecardresearch
 

आंखों में आंसू और झप्पी.. जब 74 साल बाद मिले देश के बंटवारे में बिछड़े दो भाई

आंखों में आंसू और झप्पी.. जब 74 साल बाद मिले देश के बंटवारे में बिछड़े दो भाई

देश के बंटवारे की पीड़ा भुगतने वाले दो बच्चे 74 साल बाद एक-दूसरे से मिल सके. जब देश का बंटवारा हुआ था तो दोनों मासूम बच्चे रहे होंगे, लेकिन करतारपुर कॉरिडोर ने 74 साल बाद दो बिछड़े भाइयों को मिला दिया. किसी फिल्म की कहानी की तरह लॉस्ट एंड फाउंड की सच्ची तस्वीरें करतारपुर साहिब के आंगन में देखने को मिली, जब मोहम्मद सिद्दिकी अपने बड़े भाई हबीब से मिले, दिल मिले, आंसू छलके और पुरानी यादों ने घेर लिया, ये नजारा बेहद ही इमोशनल था. देखें

Mohammad Siqqique was an infant when India was partitioned in 1947. His family got split. His elder brother Habib alias Shela grew on the Indian side of the Partition line. Now 74 years later, the Kartarpur Corridor that connects Gurdwara Darbar Sahib in Pakistan to India has reunited the brothers.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×