scorecardresearch
 

कच्चा तेल सस्ता तो देश में क्यों बेलगाम हो रहे पेट्रोल-डीजल के दाम? समझें

कच्चा तेल सस्ता तो देश में क्यों बेलगाम हो रहे पेट्रोल-डीजल के दाम? समझें

पेट्रोल-डीजल के दाम में लगी आग ने आम आदमी की जेब पर ऐसा डाका डाला है कि इससे उबरने में लोगों को लंबा वक्त लगेगा. पिछले 4 सालों में कच्चे तेल की गिरी हुई कीमत का फायदा सरकार ने आम जनता को नहीं लेने दिया बल्कि हर बार एक्साइज ड्यूटी बढ़ा कर खजाना भरा गया. कोरोना काल की शुरुआत में तो अंतरराष्ट्रीय मार्केट में कच्चे तेल यानी ब्रेंट क्रूड की कीमत 14.25 डॉलर प्रति बैरल गिर गयी लेकिन तब भी किसी तरह का फायदा जनता को नहीं दिया. खजाना भरने के लालच में थोड़ी कमी करने की नीयत हो तो सरकार ड्यूटी कम करके लोगों को पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से कुछ हद तक तो निजात दिला ही सकती है. देखिए ये रिपोर्ट.

Petrol and diesel prices remained unchanged across the four metros for 15 days in a row on Sunday, March 14. Fuel rates have registered a hike since January 2021 due to the rally in global crude oil prices. Meanwhile, on Friday, March 12, the global oil benchmark Brent crude futures fell 0.13 per cent to $69.53 per barrel. In this video, we will discuss that why are the prices of petrol-diesel are hiking this much. watch this report.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें