scorecardresearch
 

शुभ मंगल सावधान: जानिए- पोला त्यौहार का महत्व और पूजन विधि

शुभ मंगल सावधान: जानिए- पोला त्यौहार का महत्व और पूजन विधि

शुभ मंगल सावधान के आज के एपिसोड में भाद्रपद मास की अमावस्या तिथि को मनाए जाने वाले पोला त्यौहार के महत्व और उसके पूजन की विधि बारे में जानिए. यह त्यौहार खरीफ फसल के द्वितीय चरण का कार्य (निंदाई गुड़ाई) पूरा हो जाने मनाते हैं. पोला पर्व की पूर्व रात्रि को गर्भ पूजन किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि इसी दिन अन्न माता गर्भ धारण करती है. अर्थात् धान के पौधों में दुध भरता है. इसी कारण पोला के दिन किसी को भी खेतों में जाने की अनुमति नहीं होती. साथ ही आज का राशिफल जानिए.

In Shubh Mangal Saavdhan, we will tell you about the importance of Pola festival celebrated on the Amavasya of Bhadrapada month and also know the method of its worship. This festival celebrates the completion of the second phase of the Kharif crop. Garbh is worshiped on the previous night of Pola festival. It is believed that on this day the Anna Mata conceives. That is, milk fills in paddy plants. That is why no one is allowed to go to the fields on the day of pola. Also know horoscope of today. Watch the video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें