scorecardresearch
 

FB फुल पेज ऐड: कभी ऐपल की आलोचना तो कभी अपनी प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर सफाई

इस ऐड में WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव को बताया गया है. ऐड में कंपनी ने बताया है कि वॉट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट दोस्त या रिश्तेदारों से किए गए चैट को किसी तरह से प्रभावित नहीं करेगा.

Photo for representation Photo for representation
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखबारों में विज्ञापन दे कर कंपनी लोगों को पॉलिसी के बारे में बता रही है.
  • विज्ञापन में ये नहीं बताया गया है कि कौन सा डेटा कंपनी रखेगी.

Facebook ने हाल ही में अमेरिकी अखबारों में फुल पेज ऐड दे कर ऐपल को निशाना बनाया था. अब भारत में WhatsApp के लिए कंपनी फुल पेज ऐड दे रही है. लेकिन यहां विज्ञापन देने का मकसद कंपनी की ही प्राइवेसी पॉलिसी है. 


ऐपल की सख्त प्राइवेसी पॉलिसी से नाराज फेसबुक ने कहा था कि इससे छोटे बिजनेस को नुकसान होगा. हाल ही में फेसबुक की कंपनी वॉट्सऐप ने प्राइवेसी पॉलिसी में कुछ बदलाव किए हैं. इसके बाद से कंपनी को ये सफाई देनी पड़ रही है कि कंपनी यूजर्स की चैट नहीं पढ़ती है. लेकिन चैटिंग ऐप सिर्फ चैट्स से कहीं ज्यादा हैं. 

WhatsApp की नई पॉलिसी के बाद लगातार हंगामा मचा हुआ है. इसकी नई प्राइवेसी पॉलिसी से गुस्साए लोग वॉट्सऐप छोड़ कर दूसरे मैसेजिंग ऐप की ओर बढ़ रहे है.

अब WhatsApp इसको लेकर लगातार सफाई दे रहा है. WhatsApp ने न्यूजपेपर में पूरे पेज का ऐड देकर नई प्राइवेसी पॉलिसी पर सफाई दी है. कंपनी ने कहा है कि यूजर्स की प्राइवेसी का सम्मान करना उनके डीएनए में है.

 
इस ऐड में WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव को बताया गया है. ऐड में कंपनी ने बताया है कि वॉट्सऐप प्राइवेसी पॉलिसी अपडेट दोस्त या रिश्तेदारों से किए गए चैट को किसी तरह से प्रभावित नहीं करेगा. ये नई पॉलिसी बिजनेस WhatsApp से चैट करने के लिए है. वो भी ऑप्शनल है. ये यूजर को इस बात की पूरी जानकारी देता है कि कंपनी किस तरह डेटा को कलेक्ट और यूज करता है.

कल WhatsApp के दिए गए क्लैरिफिकेशन को ही कंपनी ने न्यूजपेपर के फ्रंट पेज पर ऐड के तौर पर पब्लिश किया है. कंपनी ने ऐड में कहा है कि WhatsApp या फेसबक यूजर्स के प्राइवेट मैसेज या कॉल को ऐक्सेस नहीं कर सकता है. सभी मैसेज, ग्रुप चैट, कॉल, वॉयस मैसेज end-to-end encrypted होते है. इसे सिर्फ सेंडर और रिसीवर ही देख-सुन सकते है.


WhatsApp या फेसबुक यूजर्स के शेयर्ड लोकेशन को भी नहीं देख सकते है. ग्रुप प्राइवेसी पर बात करते हुए वॉट्सऐप ने कहा है कि वॉट्सऐप ग्रुप्स प्राइवेट ही रहेंगे. वॉट्सऐप ग्रुप मेंबरशिप का उपयोग स्पैम रोकने और मैसेज डिलीवर करने के लिए करते है. कंपनी इस डेटा को फेसबुक के साथ ऐड के लिए नहीं शेयर करती है. सभी प्राइवेट चैट end-to-end encrypted होते है. कंपनी इसे नहीं देख सकती है. कंपनी ने इस बात पर जोर दिया है कि WhatsApp फेसबुक या किसी अन्य ऐप को कॉन्टेक्टस शेयर नहीं करता है. 


WhatsApp के न्यूजपेपर ऐड पर सोशल मीडिया पर यूजर्स ने इसका मजाक उड़ाया है. यूजर्स ने वॉट्सऐप का मजाक बनाते हुए कहा है कि डिजिटल ऐप को प्रिंट मीडियम में ऐड देकर अपनी सफाई देनी पड़ रही है.

ये तीसरी बार है जब कंपनी को नई प्राइवेसी पॉलिसी पर सफाई देनी पड़ रही है. कंपनी ने पिछले सप्ताह यूजर्स को एक पॉप-अप नॉटिफिकेशन भेजा था. जिसमें नई प्राइवेसी पॉलिसी के बारे में बताया गया था. जिसके बाद से कंपनी यूजर्स के निशाने पर आ गई है. लोग WhatsApp छोड़ Signal और Telegram की ओर जाने लगे. जिसके बाद WhatsApp लगातार इसके नए प्राइवेसी पॉलिसी पर सफाई दे रहा है.


WhatsApp के इस ऐड पर PayTm के फाउंडर विजय शेखर शर्मा ने भी चुटकी ली है. विजय शर्मा ने दो फोटो शेयर करते हुए कहा है कि ये  WhatsApp का डबल स्टैण्डर्ड है. WhatsApp के ऐड वाली प्राइवेसी पॉलिसी और एक्चुअल पॉलिसी अलग-अलग है.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें