scorecardresearch
 

Elon Musk ने विजया गाड्डे को Twitter से निकाला तो देने होंगे इतने करोड़ रुपये, रिपोर्ट में दावा

Who Is Vijaya Gadde: विजया गाड्डे का नाम पिछले कुछ दिनों से चर्चा में है. खासकर एलॉन मस्क ने जबसे उन्हें टारगेट किया है. क्या ट्विटर एग्जीक्यूटिव टीम की सबसे ताकतवर महिला विजया गाड्डे को कंपनी से निकाल सकते हैं एलॉन मस्क? यह इतना आसान भी नहीं होगा. आइए जानते हैं क्या है पूरी कहानी.

X
vijaya gadde vijaya gadde
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विजया गाड्डे ट्विटर की चीफ लीगल ऑफिसर हैं
  • उन्हें कंपनी की सबसे ताकतवर महिला कहा जाता है
  • एलॉन मस्क उन्हें सेंसरशिप को लेकर खरी खोटी सुना चुके हैं

Elon Musk ने ट्विटर को खरीदने के लिए डील कर ली है. इस डील के तहत 44 अरब डॉलर में एलॉन मस्क ट्विटर का अधिग्रहण करेंगे. ट्विटर में एलॉन मस्क की एंट्री की चर्चाओं के साथ ही कई लोगों के बाहर होने की भी अटकलें लगाई जा रही हैं.

इस लिस्ट में Twitter के मौजूदा सीईओ पराग अग्रवाल और कंपनी की पॉलिसी हेड विजया गाड्डे का नाम शामिल है. हाल में आई रिपोर्ट्स की मानें तो एलॉन मस्क की एंट्री के बाद हुई एक टीम मीटिंग में विजया गाड्डे इमोशनल हो गईं.

लीगल और पॉलिसी टीम के साथ हो रही मीटिंग में Vijaya Gadde रोने लगीं. मीडिया रिपोर्ट्स में इस जानकारी की पुष्टि भी की गई है. एलॉन मस्क, जो कंपनी ने नए मालिक बनने वाले हैं, उन्होंने पिछले फैसलों को लेकर विजया को टार्गेट किया है. 

मीटिंग में रोने लगीं थी विजया गाड्डे

दरअसल, विजया गाड्डे को ट्विटर में होने वाली सेंसरशिप के लिए जिम्मेदार माना जाता है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के बेटे हंटर बाइडेन के लैपटॉप पर हुई एक्सक्लूसिव रिपोर्ट के लिए न्यूयॉर्क पोस्ट के ट्विटर अकआउंट को सस्पेंड कर दिया गया था.

इस फैसले के पीछे विजया गाड्डे को माना जाता है और इसकी वजह से ही मस्क ने उन्हें टार्गेट किया है. मस्क ने ट्विटर पर भी उनके इस फैसले की आलोचना की है और इस पर अपनी बात रखी है. 

कंपनी से निकालने पर देने होंगे इतने पैसे

IBtimes की रिपोर्ट के मुताबिक, अगर कंपनी उन्हें निकालने का फैसला करती है, तो Twitter को अच्छी खासी रकम उन्हें देनी होगी. इस वक्त वह ट्विटर की चीफ लीगल ऑफिसर हैं और उन्हें निकालने पर कंपनी को 1.24 करोड़ डॉलर (लगभग 94.89 करोड़ रुपये) देने होंगे. इसी तरह से कंपनी के सीईओ Parag Agrawal को निकालने पर कंपनी को 3.9 करोड़ डॉलर देने होंगे. 

विजया गाड्डे कौन हैं? 

Vijaya Gadde ट्विटर की चीफ लीगल ऑफिसर हैं, जो कंपनी के सेफ्टी, लीगल और सेंसिटिव मामलों को हैंडल करती हैं. उन्होंने साल 2011 में ट्विटर में अपनी जिम्मेदारी संभाली थी और लगातार मजबूत स्थिति में रही हैं.

उन्हें ट्विटर की एग्जीक्यूटिव टीम की सबसे ताकतवर महिला कहा जाता है. पिछले साल की शुरुआत में डोनाल्ड ट्रंप के अकाउंट को बैन करने का फैसला भी उन्होंने ही लिया था. यहां तक की साल 2020 में जैक डोर्सी को अमेरिकी चुनाव में पॉलिटिकल ऐड्स न लेने के लिए भी उन्होंने मनाया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें